बीजेपी-आरएसएस पर जमकर बरसे अखिलेश यादव, लगाए गंभीर आरोप

किसानों को लेकर भी अखिलेश ने योगी सरकार पर जमकर निशाना साधा और कहा कि सरकार किसानों को भी निराश कर रही है। अखिलेश ने आगे कहा कि पिछले 3 सालों में किसानों को उनकी लागत मूल्य भी नहीं मिल पायी है।

बीजेपी-आरएसएस पर जमकर बरसे अखिलेश यादव, लगाए गंभीर आरोप

बीजेपी-आरएसएस पर जमकर बरसे अखिलेश यादव, लगाए गंभीर आरोप

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आज सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती पर बीजेपी और आरएसएस जमकर निशाना साधा। अखिलेश ने सपा के प्रदेश कार्यालय में एक समारोह के दौरान सरदार वल्लभभाई पटेल और आचार्य नरेंद्र देव की जयंती पर उनको नमन भी किया।

यह भी पढ़ें: ‘विवादित’ है EU का कश्मीर दौरा! जानिए भारत ने इसे क्यों रखा अनौपचारिक

आचार्य नरेंद्र देव को श्रद्धांजलि देते हुए अखिलेश यादव ने उन्हें राष्ट्र का निर्माता बताया। अखिलेश ने कहा कि देश को एकता के सूत्र में बांधने का काम सरदार पटेल ने किया। उन्होंने आगे कहा कि देश में सरदार पटेल ने आरएसएस को बैन किया था। देश को एक और सरदार की आज जरूरत है। एक ऐसे सरदार की जरूरत है, जो कि साम्प्रदायिक ताकतों को काबू करने में सक्षम हो।

भड़काऊ विचारधारा पर लगे रोक

सपा प्रमुख ने ये भी कहा कि देश में भड़काऊ विचारधारा रोक लगाने वाला सरदार देश को चाहिए। अखिलेश यादव ने कहा कि देश को एकजुट करने और एक सूत्र में बांधने में सरदार पटेल ने अहम भूमिका निभाई। सरदार पटेल के योगदान को पूरा देश याद करता है और उन्हें नमन करता है।

यह भी पढ़ें: व्हाट्सएप ने दिया झटका! ऐप के जरिये सुनी जा रही थीं प्राइवेट बातें

योगी सरकार को कानून व्यवस्था के मुद्दे पर अखिलेश यादव ने जमकर घेरा और कहा कि जिस तरह के हालात राज्य में बने हुए हैं, उसकी वजह से अपने नेताओं की बीजेपी सुरक्षा करने में असमर्थ है। बेरोजगारी के मुद्दे पर भी अखिलेश ने योगी और मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। अखिलेश ने कहा कि बेरोजगारी तमाम सरकारी दावों के बावजूद भी बढ़ रही है।

यह भी पढ़ें: सइयां बाडेन जेल में त कइसे मनी राबड़ी के छठ पूजा हो

किसानों को लेकर भी अखिलेश ने योगी सरकार पर जमकर निशाना साधा और कहा कि सरकार किसानों को भी निराश कर रही है। अखिलेश ने आगे कहा कि पिछले 3 सालों में किसानों को उनकी लागत मूल्य भी नहीं मिल पायी है। सरकार सिर्फ विज्ञापनों और अपने दावों में कहती है कि किसानों को अधिक मूल्य दिया जा रहा है। इस दौरान योगी सरकार से अखिलेश ने सपा सरकार की तुलना भी की।