15 जून तक हर हाल में भरे सभी तालाब-पोखर वर्ना होगी कठोर कार्यवाही: सिंचाई मंत्री

उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि सरयू व अर्जुन सहायक, मध्य गंगा परियोजना को हर दशा में इस वर्ष 31 दिसम्बर और कनहर परियोजना को अगामी वर्ष की 31 दिसम्बर तक पूरा कर लिया जायें।

लखनऊ: भीषण गर्मी से तप रहे प्रदेश की जनता को राहत देने के लिए यूपी के सिंचाई मंत्री धर्मपाल सिंह ने सूखे तालाबों-पोखरों को हर हाल में 15 जून, तक भरने के निर्देश देते हुये कहा है कि निर्धारित तिथि तक तालाबों व पोखरों को न भरने वाले अधिकारियों और अभियन्ताओं को चिन्हित कर उनके विरूद्ध कठोरत्म कार्यवाही की जायें।

ये भी पढ़ें— नीट परीक्षा जारी रखने पर पुनर्विचार करे केंद्र सरकार: मायावती

सिंचाई विभाग की समीक्षा बैठक में शुक्रवार को सिंचाई मंत्री धर्म पाल सिंह ने कहा कि इससे पूर्व भी उन्होने अधिकारियों को निर्देशित किया था लेकिन आज प्रगति की समीक्षा के दौरान यह तथ्य प्रकाश में आया है कि मात्र 60 प्रतिशत तालाब ही भरे गये है। सिंचाई मंत्री ने अधिकारियों को सचेत करते हुए कहा कि निर्धारित समय सीमा के अन्तर्गत यह तालाबों को न भरने वालो को चिन्हित कर सख्त कार्यवाही की जायेगी।

सिंचाई मंत्री ने कहा कि गंगा दशहरा पर्व के उपलक्ष्य में 12 जून को श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए गंगा, रामगंगा पवित्र नदियों में प्राथमिकता पर पर्याप्त मात्रा में जल उपलब्ध कराना हैं। इसके लिए भीम गोड़ा व काला गढ़ डेम से पर्याप्त मात्रा में रामगंगा में पानी छोडा जा चुका हैं। सिंचाई मंत्री ने अधिकारियों को हिदायत दी कि ऐसे ठेकेदारों को सूची बद्ध कर ब्लैक लिस्ट करने की कार्यवाही की जाये जिन्होने निर्धारित समय सीमा के अन्तर्गत गुणवत्ता व मानको के अनुरूप कार्य नही किया हैं।

ये भी पढ़ें— पॉलीटेक्निक युवाओं के रोजगार के लिए यहां बनाया जायेगा प्लेसमेंट सेल

उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि सरयू व अर्जुन सहायक, मध्य गंगा परियोजना को हर दशा में इस वर्ष 31 दिसम्बर और कनहर परियोजना को अगामी वर्ष की 31 दिसम्बर तक पूरा कर लिया जायें।