Top

लव जिहाद मामले पर हाईकोर्ट का बड़ा फैसला, युवती के नाम FD कराने का आदेश

हाईकोर्ट ने केस की सुनवाई के दौरान अमह टिप्पणी की। कोर्ट ने कहा कि धर्म परिवर्तन के कारण समाज में अलग थलग पड़ चुकी युवती को आर्थिक सुरक्षा मिलना बेहद ज़रूरी है। किसी भी विपरीत हालात में यह रकम उसके जीवन यापन में मददगार साबित हो सकती है।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 8 Jan 2021 4:48 PM GMT

लव जिहाद मामले पर हाईकोर्ट का बड़ा फैसला, युवती के नाम FD कराने का आदेश
X
हाईकोर्ट ने मुस्लिम युवक से शादी करने के लिए धर्म परिवर्तन करने वाली बिजनौर की युवती की सुरक्षा से जुड़े मामले में बड़ा फैसला सुनाया है।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

प्रयागराज: इलाहाबाद हाईकोर्ट ने मुस्लिम युवक से शादी करने के लिए धर्म परिवर्तन करने वाली बिजनौर की युवती की सुरक्षा से जुड़े मामले में बड़ा फैसला सुनाया है। युवती को उसके परिवार से मिल रही धमकी और जान के खतरे को लेकर हाईकोर्ट ने पुलिस को ज़रूरी कदम उठाने के आदेश दिए हैं। इसके साथ ही कोर्ट ने उसके पति को तीन लाख रूपये की आर्थिक सुरक्षा देने का भी निर्देश दिया है।

हाईकोर्ट ने केस की सुनवाई के दौरान अमह टिप्पणी की। कोर्ट ने कहा कि धर्म परिवर्तन के कारण समाज में अलग थलग पड़ चुकी युवती को आर्थिक सुरक्षा मिलना बेहद ज़रूरी है। किसी भी विपरीत हालात में यह रकम उसके जीवन यापन में मददगार साबित हो सकती है।

कोर्ट ने युवती के पति को उसके नाम तीन लाख रूपये का फिक्स डिपॉजिट करने को कहा है। इसके साथ उसकी ओरिजनल कॉपी कोर्ट में पेश करने का निर्देश दिया है। कोर्ट ने इसके लिए पति शादाब अहमद को एक महीने का समय दिया है। कोर्ट ने साफ शब्दों में कहा कि परिवार व किसी भी व्यक्ति को बालिग लोगों की शादीशुदा जिंदगी में दखल देने का कोई अधिकार नहीं है।

ये भी पढ़ें...जौनपुर: DM बोले, ग्राम पंचायतों के कार्यों में शासन तथा वित्तीय नियमों का पालन हो

अदालत ने कहा कि अगर परिवार को बेटे या बेटी द्वारा दूसरे धर्म या जाति में किया गया रिश्ता पसंद नहीं है तो वह उनसे सामाजिक रिश्ता तोड़ सकते हैं। उनसे अपने संबंध ख़त्म कर सकते हैं, लेकिन उन्हें हिंसा की धमकी देकर डरा नहीं सकते और उन्हें कतई परेशान भी नहीं कर सकते।

ये भी पढ़ें...रायबरेली में खिलेगा कमल, स्मृति ईरानी के बयान के बाद कांग्रेस में इस्तीफों की झड़ी

युवती की अर्जी पर कोर्ट ने सुनाया फैसला

जस्टिस सरल श्रीवास्तव की सिंगल बेंच ने बिजनौर के नगीना इलाके की रहने वाली संगीता उर्फ़ शाइस्ता परवीन की अर्जी पर सुनवाई की और यह आदेश दिया। जानकारी के मुताबिक बिजनौर की रहने संगीता एक मुस्लिम युवक शादाब से प्यार करती थी। परिवार वालों के एतराज के संगीता ने अपना धर्म परिवर्तन कर लिया और पसंद के युवक के साथ निकाह कर लिया। इसके बाद वह उसके साथ रहने लगी। निकाह करने के लिए संगीता ने अपना नाम शाइस्ता परवीन रख लिया।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story