ध्वजारोहण के बाद आहूत बैठक में किया गया कार्य नहीं करने का फैसला

हाईकोर्ट बार के महासचिव जेबी सिंह के अनुसार अध्यक्ष राकेश पांडे बबुआ की अध्यक्षता में हुई बैठक में राज्य शिक्षा सेवा अधिकरण के गठन पर तस्वीर स्पष्ट नहीं होने और अवध बार एसोसिएशन के न्यायिक कार्य से विरत रहने के फैसले के मद्देनजर शुक्रवार को भी न्यायिक कार्य से विरत रहने का प्रस्ताव पारित किया गया।

प्रयागराज : राज्य शिक्षा सेवा अधिकरण के मुद्दे को लेकर आंदोलित हाईकोर्ट के वकील शुक्रवार को भी न्यायिक कार्य से विरत रहेंगे। यह निर्णय पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के मुताबिक गुरुवार को ध्वजारोहण के बाद आहूत बैठक में लिया गया।

ये भी देखें : SP के संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने समाजवादी पार्टी कार्यालय पर किया झंडारोहण

हाईकोर्ट बार के महासचिव जेबी सिंह के अनुसार अध्यक्ष राकेश पांडे बबुआ की अध्यक्षता में हुई बैठक में राज्य शिक्षा सेवा अधिकरण के गठन पर तस्वीर स्पष्ट नहीं होने और अवध बार एसोसिएशन के न्यायिक कार्य से विरत रहने के फैसले के मद्देनजर शुक्रवार को भी न्यायिक कार्य से विरत रहने का प्रस्ताव पारित किया गया।

शुक्रवार को बार एसोसिएशन ने वकीलों की फिर से सभा बुलाई है जिसमें आगे की रणनीति पर विचार किया जाएगा । इधर कांग्रेस के प्रयागराज से कई बार विधायक रहे अनुग्रह नारायण सिंह ने भी लखनऊ मे शिक्षा ट्रिब्यूनल बनाने के प्रदेश सरकार के निर्णय को गलत बताया है तथा इसका पुरजोर विरोध किया हैं ।

ये भी देखें : 72 साल पहले इस शख्स ने तैयार किया था भारतीय तिरंगे का डिजाइन

उनका कहना है कि टी एम ए पाई केस के फैसले के अनुसार बिना हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस की राय लिए शिक्षा ट्रिब्यूनल की स्थापना नहीं हो सकती ।