×

घड़ियाल बैठा था घात लगाए, तभी ग्रामीणों ने कर दिया उसका ये हाल

यमुना किनारे पहले से घात लगाए घड़ियाल ने पानी आए मवेशियों पर हमला कर दिया । मवेशियों की झटपटाहट से की अवाज सुनकर वहां मौजूद ग्रामीण मौके पर पहुंच गए। किसी तरह से घड़ियाल के चुंगल से मवेशी को छुड़ा लिया । इसके बाद घड़ियाल पर रस्सी के फंदे फेककर उसको दबोच लिया गया। ग्रामीणों की सूचना पहुंची पुलिस और वन विभाग टीम ने घड़ियाल को अपने कब्जे में ले लिया ।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 19 July 2019 5:07 AM GMT

घड़ियाल बैठा था घात लगाए, तभी ग्रामीणों ने कर दिया उसका ये हाल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

कानपुर: यमुना किनारे पहले से घात लगाए घड़ियाल ने पानी आए मवेशियों पर हमला कर दिया । मवेशियों की झटपटाहट से की अवाज सुनकर वहां मौजूद ग्रामीण मौके पर पहुंच गए। किसी तरह से घड़ियाल के चुंगल से मवेशी को छुड़ा लिया । इसके बाद घड़ियाल पर रस्सी के फंदे फेककर उसको दबोच लिया गया। ग्रामीणों की सूचना पहुंची पुलिस और वन विभाग टीम ने घड़ियाल को अपने कब्जे में ले लिया ।

ये भी देखें:यूपी में नहीं थम रहा अपराध, अब युवक की गोलियों से भूनकर की हत्या

सजेती थाना क्षेत्र स्थित महुवापुरवा गांव यमुना नदी के किनारे बसा है । गांव के ग्रामीण पूरी तरह से यमुना के पानी पर ही अश्रित है । गुरूवार की शाम गांव के छोटे निषाद मवेशियों को पानी पिलाने के लिए गए थे । वहीं शाम के वक्त अन्य ग्रामीण भी नदी के किनारे मौजूद थे ।

छोटे निषाद ने बताया कि झाड़ियो मे एक घड़ियाल पहले से घात लगाकर बैठा था । जैसे ही मवेशी पानी पीने के लिए आगे बढ़े घड़ियाल ने हमला कर दिया । घड़ियाल मवेशियों को पानी के अंदर खीच कर ले जाना चाहता था । जब मैने और वहां मौजूद लोगो ने शोर सुना तो देखा कि घड़ियाल ने हमला किया है ।

लाठी डंडो की मदद से हम लोगों ने घड़ियाल को पानी के अंदर नहीं जाने दिया । यदि वो पानी के अंदर चला जाता तो उसकी ताकत दोगुनी हो जाती और भाग जाता । घड़ियाल पर हमने रस्सी के फंदे फेंके और उसको रस्सियों से जकड़ लिया ।

ये भी देखें:एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा ने दिया इस्तीफा, शुरू कर सकते हैं ये नई पारी

गांव के प्रधान बैजनाथ सचान ने इसकी घड़ियाल पकड़े जाने की सूचना पुलिस और वन विभाग को दी । वनरक्षक धीरज तिवारी के मुताबिक शुक्रवार को घड़ियाल को वन विभाग के कार्यालय ले जाया जाएगा । इसके बाद इसे कानपुर प्राणी उद्यान में छोड़ दिया जाएगा । इस घड़ियाल की लंबाई लगभग ढाई मीटर के आसपास है ।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story