हो गया खुलासा, इसलिए योगी सरकार से नाराज हैं अनुराग कश्यप

निर्माता निर्देशक अनुराग कश्यप जेएनयू के छात्रों और अभिनेत्री दीपिका पादुकोण के समर्थन में उतरने के कारण सामने आ गए हैं। दरअसल उनकी नाराजगी यूपी की योगी सरकार से है जिसने उनकी फिल्मों के लिए फंड नहीं दिया।

लखनऊ: निर्माता निर्देशक अनुराग कश्यप जेएनयू के छात्रों और अभिनेत्री दीपिका पादुकोण के समर्थन में उतरने के कारण सामने आ गए हैं। दरअसल उनकी नाराजगी यूपी की योगी सरकार से है जिसने उनकी फिल्मों के लिए फंड नहीं दिया।

अनुराग कश्यप् ने योगी सरकार से फंड की गुहार लगाई थी पर सरकार ने उनकी फिल्मों मशान और सांड की आंख को फंड देने से मना कर दिया। इसलिए अब वह लगातार सीएए और भाजपा का विरोध कर रहे हैं साथ ही जेएनयू छात्रों का भी पक्ष ले रहे हैं।

आज भाजपा सरकार की तरफ इसका खुलासा किया गया। मुख्यमंत्री की मीडिया टीम की तरफ से अनुराग कश्यप के उन लेटर्स को वायरल किया गया जिसमें उन्होंने पिछले साल सितम्बर महीने में राज्य सरकार को एक पत्र लिखकर अपनी फिल्म सांड की आंख के लिए आर्थिक सहयोग करने को कहा था।

लेकिन सरकार की तरफ से कहा गया इसकी औपचारिकताओं को पूरा नहीं किया गया है।इसलिए सरकार आर्थिक सहयोग नहीं कर सकती है। मुख्यमंत्री की मीडिया टीम ने इन लेटर्स को सोशल मीडिया में जारी कर अनुराग कश्यप की नाराजगी को इसका कारण बताया।

ये भी पढ़ें…उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोगों से की ये अपील

योगी सरकार ने पेंशन पर लगाई थी रोक

दरअसल इसके पूर्व अखिलेश सरकार के दौरान अनुराग कश्यप यूपी में अपनी फिल्मों की शूटिंग की थी जिस पर उन्हे सब्सिडी का लाभ दिया गया था क्योंकि अखिलेश सरकार ने एक फिल्मनीति बनाई थी जिसमें यूपी में किसी फिल्म की शूटिंग होने पर निर्माता को 2 करोड़ रूपये तक की सब्सिडी का लाभ मिलता था।

तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अनुराग कश्यप् को यशभारती सम्मान से भी नवाजा था जिसकी पेेशन राशि अनुराग कश्यप को पचास हजार रूपए जीवन पर्यन्त मिलने की व्यवस्था थी लेकिन योगी सरकार ने आते ही इस पर रोक लगा दी थी।

अनुराग कश्यप ही नहीं, कई फिल्मकारों और खेल से जुडे़ ऐसे लोगों को अखिलेश सरकार पेंशन का लाभ दे रही थी। अखिलेश सरकार में क्रिकेटर सुरेश रैना आरपी सिंह और फिल्म निर्माता नवाजुद्दीन सिद्दीकी नसीरुद्दीन शाह और क्रिकेटर आरपी सिंह को भी पेंशन का लाभ ले रहे थें। लेकिेन योगी सरकार आने के बाद यशभारती और पद्मसम्मान पाने वाले इन विभूतियों की पेंशन राशि पर रोक लगा दी गयी।

ये भी पढ़ें…सीएम योगी आदित्यनाथ ने पासपोर्ट ऐप का लोकार्पण किया, देखें तस्वीरें