अप्पू हाथी ने माँगा इंसाफ, केरल की हथनी को लेकर हुआ दुखी

केरल के मल्लपुरम में हथनी को अननास में बारूद भर के खिलने की घटना को लेकर बलिया के अप्पू हाथी ने केरल सरकार से साथी हथनी के मौत के जिम्मेदारो को गिरफ्तार करने की मांग की है ।

बलिया । केरल के मल्लपुरम में हथनी को अननास में बारूद भर के खिलने की घटना को लेकर बलिया के अप्पू हाथी ने केरल सरकार से साथी हथनी के मौत के जिम्मेदारो को गिरफ्तार करने की मांग की है । मठ के महंथ और महावत ने भी हाथियों के साथ देश में हो रही क्रूरता पर सरकार से हाथियों को सुरक्षा देने की बात कही । जिला मुख्यालय के एक मठ में रहने वाला अप्पू हाथी अपनी साथी हथनी और उसके अजन्मे बच्चे की मौत से दुखी है |

ये भी पढ़ें…लोन देने के नाम पर ऑनलाइन ठगी करने के तीन आरोपियों की जमानत खारिज

हथिनी को मौत देने वाले गुनहगार

यही वजह है कि अप्पू हाथी केरल सरकार से हथिनी को मौत देने वाले गुनहगारो को गिरफ्तार करने कि मांग कर रहा है । अप्पू हाथी के महावत लक्ष्मण का कहना है कि हाथी देखने में बड़ा जरुर होता है पर वो सबका साथी होता है।

ऐसे में हथनी के साथ क्रूरता करने वालो को सजा मिलनी ही चाहिए । मठ के महंत राम उदार दास देश में हाथी दात के लिए पिछले कई दशको से हाथियों के साथ की जा रही क्रूरता पर चिंता प्रकट करते हुए कहते हैं कि क्रूरता की वजह से देश में हाथियों की संख्या में लगातार कमी आ रही है ।

ये भी पढ़ें…पाकिस्तान की हैवानियत: शिकार हुई 8 साल की बच्ची, तोता बना इसकी वजह

परिवार के सदस्य के समान

वह कहते हैं कि हाथी गणेश का रूप है , जिसे हम सभी पूजते है । अप्पू हाथी भी बचपन से मठ में रहता आया है , जो सभी के लिए एक परिवार के सदस्य के समान है । उन्होंने कहा कि केरल में गर्भवती हथनी की मौत से सभी दुखी हैं।

उन्होंने कहा कि देश में हाथियों की सुरक्षा को लेकर नए सिरे से विचार करने की महती आवश्यकता है ।
उल्लेखनीय है कि केरल में एक हथिनी के साथ हैवानियत की एक अजीबोगरीब घटना सामने आई है ।

कुछ लोगों ने उसे पटाखों से भरा अनानास खिला दिया । पटाखे उसके मुंह में फट गए और गर्भवती मादा हाथी की मौत हो गई । यह मामला उस वक्त सामने आया, जब उत्तरी केरल के मलप्पुरम में एक फॉरेस्ट अफसर ने इस घटना को अपने फेसबुक पेज पर शेयर किया।

ये भी पढ़ें…मास्क नहीं पहनने पर दिल्ली पुलिस के एक अधिकारी को किया गया सस्पेंड

रिपोर्ट- अनूप कुमार हेमकर