Top

पाकिस्तान की हैवानियत: शिकार हुई 8 साल की बच्ची, तोता बना इसकी वजह

वैसे तो पाकिस्तान से कोई अच्छी खबर तो आने की उम्मीद रहती नहीं है, ऊपर से दिल-दहला देने वाली घटनाओं की कमी भी नहीं रहती है।

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 4 Jun 2020 10:58 AM GMT

पाकिस्तान की हैवानियत: शिकार हुई 8 साल की बच्ची, तोता बना इसकी वजह
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली। वैसे तो पाकिस्तान से कोई अच्छी खबर तो आने की उम्मीद रहती नहीं है, ऊपर से दिल-दहला देने वाली घटनाओं की कमी भी नहीं रहती है। अब मानवता का एक और खौफनाक चेहरा बनाकर ये खबर सामने आई है। यहां एक मासूम 8 साल की बच्ची को हत्या का मामला सामने आया है। ये बच्ची अपने मालिक के घर पर साफ-सफाई का काम करती थी। इस बच्ची का कसूर सिर्फ इतना ही था, कि इसने तोता के पिंजरे की सफाई जो कर दी। वही इस नादान मासूम के लिए मौत का कारण बना गया।

ये भी पढ़ें... पुलिस पर चली गोलियां: आतंकियों ने किया हमला, सेना हुई अलर्ट

इतना मारा इतना मारा

8 साल की इस बच्ची ने मालिक के घर में साफ-सफाई करने के बाद उनके यहां पल रहे तोते का पिंजरा साफ करने लगी। इस दौरान पिंजरे का दरवाजा कुछ ढीला हुआ और तोता अचानक से पिंजरे से निकलकर उड़ गया।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, बस इसी बात पर मालिक को इतना ज्यादा गुस्सा आया कि उसने उस 8 साल की बच्ची को इतना मारा इतना मारा कि उसकी मौत ही हो गई।

ये भी पढ़ें...IAS ने किया बलात्कार: लड़की ने दिये ये सबूत, सामने आई सच्चाई

न्याय की मांग

इसके बाद जब पाकिस्तान के लोगों को इस घटना के बारे में पता चला तो इस पर सभी ने गुस्सा व्यक्त किया और उन सबने अब सोशल मीडिया से इस बच्ची के लिए न्याय की मांग करना शुरू कर दिया हैं।

8 साल की ये मासूम बच्ची रावलपिंडी में एक परिवार के घर में काम करती थी। ये दिल-दहला देने वाली घटना बीते रविवार की है। जिस परिवार में जहरा काम करती थी।

ये भी पढ़ें...हिल जाएगी धरती: आसमान से आएगी तबाही, इसी महीने होगी शुरुआत

यौन दुष्कर्म होने की आशंका

तोते के उड़ जाने पर जहरा को उसके मालिक ने पीटना शुरू कर दिया और उस पर लापरवाही के आरोप लगा दिए। जहरा बुरी तरह से घायल हो गई, उसके बाद उसे बेगम अख्तर रूखसाना मेमोरियल अस्पताल में ले जाया गया, वहां उसकी मौत हो गई। हालांकि पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और आरोपी दंपति को गिरफ्तार कर लिया है।

स्थानीय पुलिस थाने में दर्ज शिकायत के मुताबिक, जहरा बच्ची के चेहरे, हाथों, पसलियों के नीचे और पैरों में चोट के निशान थे। चिकित्सको के मुताबिक, उसकी जांघों पर भी घाव थे, जिससे बच्ची के साथ यौन दुष्कर्म होने की आशंका है।

ये भी पढ़ें...हुआ जोरदार धमाका: कांप उठे सभी लोग, सामने आया आँखों देखा हाल

पढ़ाने-लिखाने का किया था वादा

हालांकि पुलिस ने नमूने फॉरेंसिक टीम को भेज दिए हैं और रिपोर्ट आनी बाकी है। बच्ची के रिश्तेदारों ने बताया कि परिवार ने बच्ची को काम पर रखने से पहले वादा किया था कि वे उसे पढ़ाएंगे लिखाएंगे भी मगर उन्होंने उसकी जान ले ली।

ऐसे क्रुर इंसानों को कानून को कड़ी से कड़ी सजा का प्रावधान होना चाहिए। कोई जुर्म नहीं कोई साजिश नहीं बस ले ली मासूम सी बच्ची की जान। इन इंसानों से अच्छी इंसानियत तो जानवरों में होती है।

ये भी पढ़ें...तेल कुएं से तबाही: हजारों परिवारों की जान पर आई बात, मरी सैंकड़ों मछलियां-डॉल्फिन

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Desk Editor

Next Story