×

कांग्रेस ने की रायबरेली में सड़क दुर्घटना की सीबीआई जांच की मांग

उन्नाव में हुए बलात्कार की पीड़िता की गाड़ी और ट्रक में रायबरेली में हुई टक्कर के मामले में प्रदेश कांग्रेस कमेटी का एक प्रतिनिधिमंडल कांग्रेस विधानमंडल दल की उपनेता आराधना मिश्रा मोना’ के नेतृत्व में ट्रामा सेन्टर पहुंचा।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 29 July 2019 2:31 PM GMT

कांग्रेस ने की रायबरेली में सड़क दुर्घटना की सीबीआई जांच की मांग
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: उन्नाव में हुए बलात्कार की पीड़िता की गाड़ी और ट्रक में रायबरेली में हुई टक्कर के मामले में प्रदेश कांग्रेस कमेटी का एक प्रतिनिधिमंडल कांग्रेस विधानमंडल दल की उपनेता आराधना मिश्रा मोना’ के नेतृत्व में ट्रामा सेन्टर पहुंचा।

लेकिन हालत गंभीर होने की वजह से मुलाकात नहीं हो सकी। उसके बाद पीड़िता के परिजनों से भेंट की एवं चिकित्सकों से स्वास्थ्य एवं चिकित्सा के बारे में जानकारी ली।

ये भी पढ़ें...सेहत के लिए फायदेमंद या कुछ और कारण, जानिए क्यों जाते हैं मंदिर

कांग्रेस ने दिया मदद का आश्वासन

इस अवसर पर कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने पीड़ित परिजनों से न्याय की इस लड़ाई में उनके साथ मजबूती से खड़े होने की वचनबद्धता दोहराई और हर संभव मदद करने का आश्वासन दिया।

इस मौके पर कांग्रेस की विधायक आराधना मिश्रा ने इस सड़क दुर्घटना की जांच सीबीआई से करायी जाये क्योंकि सीबीआई मुख्य केस की विवेचना पहले से कर रही है।

इसकी भी जांच करायी जाये कि रेप पीड़िता के सामने एक सरकार और सत्तारूढ़ पार्टी का विधायक अभियुक्त है ऐसे में उसे पर्याप्त सुरक्षा मुहैया क्यों नहीं करायी गयी?

पीड़िता को मुहैया कराई जाये सुरक्षा

यह इस दुर्घटना में संदेह पैदा करता है। पीड़िता को और उसके परिजनों को जिनकी इस दुर्घटना में दर्दनाक मौत हुई है उनको आर्थिक रूप से समुचित मुआवजा व पर्याप्त सुरक्षा प्रदान किया जाये, जिससे भविष्य में इस प्रकार की घटना की पुनरावृत्ति को रोका जा सके। रायबरेली में सड़क दुर्घटना संदेह से भरपूर है। यहां संदेह ना किया जाये, इसकी कोई वजह नहीं है।

कांग्रेस विधायक ने कहा कि एक वाहन जिसमें पीड़ित युवती सवार है, उसको एक ट्रक टक्कर मारती है। ट्रक का नम्बर भी काला किया हुआ है। यह बताता है कि यह एक बड़ी साजिश है, जिससे पीड़ित युवती की हत्या करायी जानी तय थी। जब वह बच गई है।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था को भाजपा के ही लोग तार तार कर रहें है। कुलदीप सिंह सेंगर जैसे लोग जेल में बैठकर कानून व्यवस्था को हिलाये पड़े है। इस मामले की न्यायिक जांच होगी, तभी पीड़ित युवती को सच्चा न्याय मिलेगा। नहीं तो खानापूर्ति मात्र हो जाएगी।

ये भी पढ़ें...जंगल-जंगल बात चली है, पता चला है, अब यहां पीएम का भौकाल बढ़ा है

कांग्रेस ने उठाये ये सवाल

आराधना मिश्रा‘मोना’ ने कुछ सवाल सरकार और भारतीय जनता पार्टी पर उठाये हैं कि उक्त घटना में भाजपा विधायक के जेल जाने के बाद भी भाजपा ने रेप के आरोपी विधायक को पार्टी की सदस्यता से निष्कासित क्यों नहीं किया है?

लोकसभा चुनाव के बाद भारतीय जनता पार्टी के सांसद साक्षी महराज जेल में निरूद्ध एवं रेप के आरोपी विधायक कुलदीप सेंगर से किसलिए मिलने एवं आभार व्यक्त करने जेल गये थे?

यह दोनों बातें इस ओर संकेत करती हैं कि मौजूदा योगी सरकार और भाजपा दोनों रेप के अभियुक्त की हर स्तर पर मदद कर रहे हैं जिससे भाजपा विधायक को बचाया जा सके।

प्रतिनिधिमंडल में प्रमुख रूप से कांग्रेस विधानमंडल दल की उप नेता आराधना मिश्रा‘मोना’, विधायक अदिति सिंह, पूर्व विधायक श्यामकिशोर शुक्ल, पूर्व एमएलसी सिराज मेंहदी, प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री द्विजेन्द्र त्रिपाठी, वीरेन्द्र मदान, शिव पाण्डेय, महिला कांग्रेस की मध्य जोन की अध्यक्ष ममता चौधरी पार्षद, पश्चिमी जोन की अध्यक्ष प्रतिभा अटल पाल, अनीस अंसारी, लखनऊ के शहर अध्यक्ष बोधलाल शुक्ला एवं जिलाध्यक्ष गौरव चौधरी, प्रवक्ता डा. मंजू दीक्षित, प्रियंका गुप्ता एवं सचिन रावत, मो. नासिर आदि शामिल रहे।

ये भी पढ़ें...एसिड अटैक पीड़ित बहनों के आरोपियों को बरी करने के खिलाफ दाखिल अपील मंजूर

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story