अवध एक्सप्रेस में बदमाशों ने यात्रियों से की लूटपाट, विरोध करने पर बेहरमी से पीटा

ट्रेन टूंडला स्टेशन पहुंचती उससे पूर्व ही बदमाश चलती ट्रेन से उतरकर भाग गए। ट्रेन रात्रि 10.30 बजे टूंडला स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर पांच पर आकर रुकी।

लखनऊ: यूपी में रेल यात्रा करना अब सुरक्षित नहीं रह गया है।

यात्रा के दौरान आपको अपने जानमाल की सुरक्षा स्वत: करनी होगी।

ऐसा हम नहीं कह रहे बल्कि खुद रेल यात्री ये बात कह रहे है।

मामला अवध एक्सप्रेस के जनरल कोच में चाक़ू के बल पर यात्रियों से लूट करने से जुड़ा हुआ है।

बदमाशों ने ट्रेन के अंदर जमकर कहर बरपाया। यात्रियों को चाकू दिखाते हुए लूटपाट की।

विरोध करने वाले यात्रियों को जमकर पीटा। यात्रियों के मुताविक बदमाश पेठा बेचने के बहाने कोच में चढ़े थे।

रेलयात्रियों के मुताबिक बांद्रा से चलकर गोरखपुर जाने वाली अवध एक्सप्रेस शनिवार रात्रि आगरा फोर्ट स्टेशन से चली तभी ट्रेन के जनरल कोच में कुछ लोग पेठा बेचने के बहाने चढ़ गये।

रात्रि 10.45 बजे करीब ट्रेन छलेसर रेलवे स्टेशन से निकली तभी पेठा बेच रहे युवक अपने असली रंग में आ गये।

बदमाशों की संख्या छह से अधिक थी।

बदमाश रेलयात्री जलालुद्दीन निवासी असरजगंज से करीब दो हजार रुपए, आशुतोष सिंह निवासी जोगबनी बिहार से 25 सौ रुपये व कांति देवी निवासी गोपालगंज से 29 सौ रुपये, नन्हेमल निवासी छपरा बिहार से दो हजार रुपये, सलीम बेग निवासी अररिया बिहार से 15 सौ रुपये, सलमा बेगम निवासी आरा बिहार से कानों के कुंडल लूट ले गए।

ये भी पढ़ें…जानिए शाह ने क्यों कहा समाज सुधारकों में लिखा जाएगा पीएम मोदी का नाम?

विरोध करने पर बेरहमी से पीटा

विरोध करने पर विवेक नारायण निवासी लखनऊ सहित कई यात्रियों को मारपीट कर उन्हें घायल कर दिया।

ट्रेन टूंडला स्टेशन पहुंचती उससे पूर्व ही बदमाश चलती ट्रेन से उतरकर भाग गए। ट्रेन रात्रि 10.30 बजे टूंडला स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर पांच पर आकर रुकी।

यात्रियों ने स्टेशन पर मौजूद जीआरपी सिपाहियों को घटना की जानकारी दी।

पुलिस ने यात्रियों की बात सुनते हुए उन्हे समझाते हुए टरका दिया।

जीआपी प्रभारी विजय कुमार ने बताया कि लूट के शिकार यात्रियों ने उन्हें कोई जानकारी नहीं दी है।

अगर ट्रेन में वारदात हुई है तो इसकी जांच करायी जाएगी।

ये भी पढ़ें…मानवता हुई शर्मसार: नशेड़ी चाचा ने ही की थी भतीजी की हत्या, गिरफ्तार