पेपर मिल में बढ़े कोरोना मरीज, निरीक्षण के बाद जिलाधिकारी ने दिए ये निर्देश

जिलाधिकारी ने कहा सभी के सैंपलिंग पूर्ण होने तक गेट को बंद रखेंगे और कोई भी व्यक्ति तब तक बाहर नहीं जाएगा जब तक सैंपलिंग का कार्य पूर्ण नहीं हो जाता।

अयोध्या: तहसील सदर के ब्लॉक पूरा बाजार के ग्राम पंचायत पाराखान मे स्थित यश पेपर मिल में अबतक 4 कोरोना संक्रमित व्यक्ति, और मिलने से उनकी संख्या नो हो गई है। कल 5 मरीज मिलने के बाद यश पेपर मिल के संपूर्ण परिसर को सील करते हुए मिल द्वारा उत्पादित वस्तुओं के स्टॉक की आपूर्ति पर जिला प्रशासन ने तात्कालिक प्रभाव से रोक लगा दी है।

जिलाधिकारी ने किया पेपर प्लांट का निरीक्षण

 

जिला मजिस्ट्रेट अनुज कुमार झा ने पूरे परिसर के साथ टेबल वेयर यूनिट व पेपर प्लांट का बारीकी से निरीक्षण करते हुए कंपनी के सेक्रेटरी तथा यूटिलिटी हेड को निर्देशित किया कि सभी लोग अपनी-अपनी सुरक्षा का ध्यान रखते हुए सभी संक्रमित व्यक्तियों के संपर्क में आए हुए लोंगों सहित ऑफिस के सभी कर्मियों व सभी मुख्य वर्करों, सफाई कर्मी, चैकीदार, इंजीनियर, मैनेजिंग स्टॉफ आदि का आज ही अनिवार्य रूप से प्रथम चरण में कोविड-19 के टेस्ट हेतु सैंपुलिग कराएं। सैंपलिंग के दौरान हर वर्कर ध्व्यक्ति मास्क पहने रहेगा तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करेगा। उन्होंने कहा सभी के सैंपलिंग पूर्ण होने तक गेट को बंद रखेंगे और कोई भी व्यक्ति तब तक बाहर नहीं जाएगा जब तक सैंपलिंग का कार्य पूर्ण नहीं हो जाता।

ये भी पढ़ें-    कानपुर कांड: अब चौबेपुर थाने पर गिरी गाज, सभी पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई

उन्होंने कहा सैंपलिंग के पश्चात जब तक उसकी रिपोर्ट नहीं आ जाती तब तक सभी व्यक्ति अपने-अपने घरों में होम क्वारंटीन रहेंगे और होम क्वारंटीन के सभी नियमों का पूर्णता पालन करेंगे। तथा 14 दिनों तक अलग कमरे रहेंगे और यथासंभव अलग वाशरूम का प्रयोग करेंगे। उन्होंने आगे बताया की जिन स्टाफ, इंजीनियर, सफाई कर्मी, चैकीदार ,की सैंपलिंग हुई है। उनके परिवार के सभी सदस्यों को भी सावधानी बरतने की सलाह दी जाए तथा आवश्यकता अनुसार उनके भी सैंपल लेकर जांच कराई जाए। जिला मजिस्ट्रेट ने तहसीलदार सदर तथा क्षेत्राधिकारी पुलिस को निर्देशित किया कि कोई भी वर्कर स्टाफ, सफाई कर्मी, इंजीनियर, छूटना नहीं चाहिए। जिला मजिस्ट्रेट ने आगे कहा कि जो वर्कर या कर्मी बाहर से आते हैं। उनका भी सर्वे कर लिया जाए और उनके विवरण मोबाइल नंबर सहित एक रजिस्टर में दर्ज कर अलग से रख लिया जाए।

जिलाधिकारी ने दिए आवश्यक निर्देश

जिला मजिस्ट्रेट ने क्षेत्राधिकारी को निर्देशित किया कि गेट पर सुरक्षा हेतु पुलिसकर्मियों को तैनात करें। रिपोर्ट आने तक कोई भी व्यक्ति बाहर नहीं जाएगा। उन्होंने तहसीलदार तथा क्षेत्र अधिकारी को निर्देशित किया कि दूध, सब्जी, राशन, दवा आदि की डिलीवरी मिल गेट तक कराई जाए। ताकि अंदर रह रहे लोगों को कोई भी, किसी प्रकार की परेशानी न हो। टेबल वेयर यूनिट पेपर प्लांट तथा संपूर्ण परिसर को भी विसंक्रमित कराने के साथ-साथ वॉशरूम व फर्शों को भी को माविंग भी कराएं। जिला मजिस्ट्रेट को निरीक्षण के दौरान परिसर के गड्ढों में पानी व उसमें मच्छर का लारवा भी दिखा।

ये भी पढ़ें-    दहशत में टीचर्स: स्कूल खुलने पर सता रहा संक्रमण का डर, उठाया ये कदम

उन्होंने कहा यह खतरनाक है। पानी से भरे हुए सभी गड्ढों में लारवा साइड का छिड़काव कराएं। ताकि मच्छर जनित रोगों का फैलाव न होने पाए। उन्होंने परिसर में उपस्थित सभी वर्कर, इंजीनियर स्टाफ ,ऑफिशियल स्टाफ ,सफाई कर्मी, को आश्वासन दिया की घबराने की आवश्यकता नहीं है ।जिला प्रशासन आपके साथ हैं। हर व्यक्ति का उचित इलाज होगा ।उनके परिवार में भी यदि कोई व्यक्ति संक्रमित हुआ है, तो उसका भी जिला प्रशासन पूर्ण इलाज कराएगा।

रिपोर्ट- नाथ बख्श सिंह

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App