अयोध्या में कड़ाके की ठंड: रामलला ने ओढ़ी रजाई, पहली बार हुआ ऐसा

ठंड के चलते श्री राम जन्मभूमि पर विराजमान रामलला ने रजाई ओढ़ ली है। मौसम के बदलते मिजाज और तेजी से बढ़ती ठंड से बचाने के लिए बाल स्वरूप रामलला के लिए ब्लोअर लगाया गया है। इससे बाल स्वरूप के भगवान श्री रामलला पर ठंड का कोई असर नहीं पड़ेगा।

Published by Ashiki Patel Published: December 12, 2020 | 7:58 pm
ramlala

अयोध्या में कड़ाके की ठंड: रामलला ने ओढ़ी रजाई

अयोध्या: ठंड के चलते श्री राम जन्मभूमि पर विराजमान रामलला ने रजाई ओढ़ ली है। मौसम के बदलते मिजाज और तेजी से बढ़ती ठंड से बचाने के लिए बाल स्वरूप रामलला के लिए ब्लोअर लगाया गया है। इससे बाल स्वरूप के भगवान श्री रामलला पर ठंड का कोई असर नहीं पड़ेगा।

टेंट से निकलकर अस्थाई मंदिर में विराजमान

इस बार राम जन्मभूमि में विराजमान बाल स्वरूप के भगवान श्री रामलला पर ठंड कोई असर नहीं पड़ेगा, क्योंकि रामलला अब टेंट से निकलकर अस्थाई मंदिर में विराजमान हो चुके हैं। जहां उन्हें ठंड से बचाए जाने की सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं। टेंट में होने के कारण सुरक्षा कारणों से किसी भी प्रकार के यंत्र के प्रयोग पर रोक थी।

ये भी पढ़ें: औरैया के किसान बोले- हमें आंदोलन से नहीं मेहनत से ही रोटी मिलेगी

28 वर्षों से टेंट में विराजमान थे रामलला

राम जन्मभूमि परिसर में विराजमान भगवान श्री रामलला 28 वर्षों से टेंट में विराजमान थे। इस दौरान रामलला को सिर्फ गर्म वस्त्र ही मिल रहे थे। टेंट में सुरक्षा कारणों से किसी भी प्रकार के यंत्र व अंगीठी के प्रयोग पर रोक थी, लेकिन 9 नवंबर 2019 को सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद 25 मार्च को भगवान श्री रामलला टेंट से निकलकर आधुनिक सुविधाओं से संपन्न अस्थाई मंदिर में विराजमान है। ठंड से बचाने के लिए लगाया गया ब्लोअर साथ ही ठंड को देखते हुए रामलला के लिए 3 जोड़ी रजाई गद्दा व गर्म कपड़े बनाए गए हैं।

श्रीराम जन्मभूमि के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने बताया कि 27 वर्षों तक भगवान श्री रामलला विवाद होने के कारण टेंट में विराजमान थे, जहां उन्हें सिर्फ एक रजाई दो प्रकार के वस्त्र ही मिल पा रहे थे। श्रीराम जन्मभूमि के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने बताया कि टेंट में होने के कारण किसी भी प्रकार का यंत्र व अंगूठी का प्रयोग नहीं किया जा सकता था, लेकिन अब भगवान श्री रामलला पहली बार आधुनिक सुख सुविधा से युक्त मंदिर में विराजमान है। ठंड को लेकर गर्म हवा देने वाले ब्लोअर मशीन, गद्दा, रजाई व वस्त्र के साथ सभी सुविधाएं उपलब्ध हैं।

ये भी पढ़ें:  वैक्सीनेशन पर CM योगी का आदेश, 15 दिसंबर तक तैयारियां पूरी कर लें जिलाधिकारी

नाथ बख्श सिंह

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App