गोलीकांड से दहला UP: बीडीएस सदस्य की हत्या, आक्रोशित ग्रामीणों ने की आगजनी

आजमगढ़ में सरेआम हत्या का मामला सामने आया है। बीडीएस की गोली मारकर हत्यारे बेखौफी से फरार हो गए। गुस्साए ग्रामीणों ने अपराधियों की बाइक में आग लगा दी।

varanasi

वाराणसी

आजमगढ़: उत्तर प्रदेश में सरेआम हत्या का मामला सामने आया है। बीडीएस की गोली मार कर हत्यारे बेखौफी से फरार हो गए। वहीं बीडीएस की हत्या से गुस्साए ग्रामीणों ने अपराधियों की बाइक में आग लगा दी। पूरे गाँव में कोहराम मच गया। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और आरोपितों की तलाश शुरू कर दी।

आजमगढ़ में बीडीएस की गोली मार कर हत्या

मामला आजमगढ़ जिले का है, यहां निजामाबाद थाना के तहत नेवादा गांव में सोमवार देर रात एक बीडीसी सदस्य की गोली मारकर हत्या कर दी गई। बताया जा रहा है कि बदमाश बीडीएस सुरेंद्र यादव के लिए घात लगाए बैठे थे। वहीँ देर रात जब वह घर लौट रहा था, तो रास्ते में नेवादा चौक पर उसे गोली मार दी गयी।

आक्रोशित ग्रामीणों ने जलाई अपराधियों की मोटरसाइकिल

गोली लगने से सुरेंद्र की मौके पर ही मौत हो गयी। वहीं गोली की आवाज सुन वहां मौजूद लोगों ने अफरातफरी मच गयी। परिवार वाले आनन फानन में उसे अस्पताल ले जाने के प्रयास में थे लेकिन जब उसे देखा तो वह मर चुका था। अपराधी मौके से फरार हो गए। अपनी मोटरसाइकिल मौके पर छोड़ गए। जिसे देख ग्रामीणों का आक्रोश बढ़ गया और उन्होंने अपराधियों की तीन मोटरसाइकिलों में आग लगा दी।

ये भी पढ़ेंः बलिया पत्रकार हत्या केस: 6 आरोपी गिरफ्तार, DIG ने बताया- इसलिए हुआ मर्डर

जमीनी विवाद और पुरानी रंजिश के चलते हत्या

मौके पर पुलिस पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। अपराधियों की भी तलाश शुरु कर दी। शुरुआती जांच में पता चला कि जमीनी विवाद और पुरानी रंजिश के चलते बीडीएस की हत्या की गयी है। हत्यारे भी नेवादा गाँव के ही रहने वाले हैं।

गाँव में पुलिस बल और पीएसी के जवान तैनात

घटना के बाद से इलाके में तनाव बना हुआ है। हालात की गंभीरता को देखते हुए गाँव में पुलिस बल और पीएसी के जवान तैनात किए गए हैं। घटना स्थल पर आजमगढ़ के डीआईजी सुभाष चंद दुबे ने पहुचं कर बताया कि हत्या के आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की कई टीमें गठित की गई हैं। बहुत जल्द ही हत्यारे पुलिस की गिरफ्त में होंगे।

ये भी पढ़ेंः पेट्रोल की कीमत में लगी आग: फिर बढ़े दाम, फटाफट चेक करें अपने शहर का रेट

आजमगढ़ के डीआईजी सुभाष चंद दुबे ने जल्द गिरफ्तारी का दिया आश्वासन

डीआईजी ने बताया, ‘हत्या का कारण प्रधानी का चुनाव है। गांव के दुर्गेश तिवारी भी प्रधानी का चुनाव लड़ने जा रहा था। उसका भी हाथ हो सकता है। पहले इन लोगों ने कहा था कि हम नाटे को गोली मार देंगे यह बात आज ही पता चली।’

वहीं मृतक के परिजनों ने बताया कि आरोपियों ने धमकी दी थी कि वे सुरेंद्र को गोली मार देंगे। लेकिन जब तक हम लोग सतर्क होते चौक पर घेर कर उसकी हत्या कर दी गयी। परिजनों ने हत्यारों पर कड़ी कार्रवाई की मांग की।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App