×

बदायूं का दरिंदा बाबा: रेप के ये निशान दिल झकझोर दे रहे, हैवानियत की पूरी कहानी

बदायूं में गैंगरेप के बाद हत्या के इस मामले में पुलिस को मंदिर से दरिंदगी के कई पुख्ता सबूत भी मिले हैं। मंदिर के आश्रम में पड़ी चारपाई पर खून के निशान मिले। कुंए के पास महिला की साड़ी भी मिली। ये साड़ी भी खून से पूरी तरह से लथपथ थी।

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 7 Jan 2021 9:56 AM GMT

बदायूं का दरिंदा बाबा: रेप के ये निशान दिल झकझोर दे रहे, हैवानियत की पूरी कहानी
X
ग्रामीणों ने बताया कि सत्यनारायण तंत्रमंत्र भी करता था। कयावली गांव की रहने वाली महिला आंगनबाड़ी सहायिका थी। वह महिला अकसर इस मंदिर में आती थी।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

बदायूं: यूपी के बदायूं में निर्भया कांड जैसे हुए गैंगरेप ने पूरे प्रदेश को हिला के रख दिया है। गैंगरेप के बाद हत्या के इस मामले में पुलिस को मंदिर से दरिंदगी के कई पुख्ता सबूत भी मिले हैं। मंदिर के आश्रम में पड़ी चारपाई पर खून के निशान मिले। कुंए के पास महिला की साड़ी भी मिली। ये साड़ी भी खून से पूरी तरह से लथपथ थी। ऐसे में जांच में सामने आया है कि सत्यनारायण बाबा का चोला पहनकर महंत बन गया था जबकि उसका असली नाम सत्यवीर सिंह है। वहीं 7 साल पहले वह गांव आया और यहां मंदिर में तंत्रमंत्र करने लगा।

ये भी पढ़ें... बदायूं गैंग रेप कांड: बुजुर्ग महिला से हैवानियत करने वाला फरार, हर तरफ दहशत

20 साल पहले उसने साधु का रूप धारण कर

मामले के बारे में पुलिस ने बताया कि सत्यनारायण का असली नाम सत्यवीर सिंह है। वह मूल निवासी आंवला के गांव मदपुर का रहने वाला है। वह अपने चार भाइयों उदयवीर, महावीर और सप्पू में सबसे छोटा था। करीब 20 साल पहले उसने साधु का रूप धारण कर लिया था।

बता दें, गैंगरेप की घटना उघैती थानाक्षेत्र के मेवली गांव की है। यहां के जिस मंदिर में ये घटना हुई वह लगभग 80 साल पुराना है। गांववालों ने बताया कि सत्यनारायण सात साल पहले गांव में आया। यहां लोगों को अपनी बातों में फंसाकर उसने मंदिर में रहकर पूजापाठ करने को कहा। जिसमें गांववाले राजी हो गए। वह मंदिर में रहकर पूजापाठ करने लगा।

बाबा के बारे में ग्रामीणों ने बताया कि सत्यनारायण तंत्रमंत्र भी करता था। कयावली गांव की रहने वाली महिला आंगनबाड़ी सहायिका थी। वह महिला अकसर इस मंदिर में आती थी। साथ ही लोगों ने बताया कि महिला के पति को कुछ मानसिक परेशानी थी। वह पति के लिए मंदिर आती थी। जहां मंदिर में बाबा ने उसे कहा कि वह उसके पति को ठीक कर देगा। कई बार वह पति को लेकर भी मंदिर गई थी।

rape case badun फोटो-सोशल मीडिया

ये भी पढ़ें...गैंगरेप के ये मामलें: हिला दी सरकारों की नींव, माया-अखिलेश झेल चुके अंजाम

मंदिर गई पर देर रात तक घर नहीं पहुंची

लेकिन घटना के दिन वह बाबा के पास मंदिर गई पर देर रात तक घर नहीं पहुंची। फिर बाद में बाबा उसे अपने चेले वेदराम के साथ गाड़ी में लेकर महिला के घर के बाहर फेंककर आया। तब वे लोग महिला के घर बोलेरो से पहुंचे थे, जिसे जसपाल चला रहा था।

इस मामले में बृहस्पतिवार को आरोपी जसपाल के घरवालों ने सीबीआई जांच की मांग की। जसपाल की पत्नी ने कहा कि उसका पति बोलेरो चलाता था। उसका गैंगरेप में कोई हाथ नहीं है। बाबा को जब गाड़ी की जरूरत होती थी तब वह फोन करके जसपाल को बुला लेता था।

इस घटना की रात को जसपाल के पास बाबा का फोन आया। बाबा ने उसे कहा कि एक महिला मंदिर के कुएं में गिर गई है उसे घर छोड़कर आना है। उसने बताया कि वह तब गया और महिला को गाड़ी में लेकर उसके घर छोड़कर आया। उसका गैंगरेप या हत्या से कोई संबंध नहीं है।

ये भी पढ़ें...गैंगरेप के ये मामलें: हिला दी सरकारों की नींव, माया-अखिलेश झेल चुके अंजाम

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story