×

फंसे मास्टर जी: छोटे सवालों के नहीं दे पाएं जवाब, डीएम ने दे दिए निर्देश

जिले के नौरंगा ग्राम में एक उच्च प्राथमिक विद्यालय के विज्ञान के शिक्षक द्वारा जिलाधिकारी एच पी शाही के भिन्न से सम्बंधित एक सवाल का जबाब नही दे पाने के मामले को जिला प्रशासन ने गम्भीरता से लिया है ।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 10 Sep 2020 10:20 AM GMT

फंसे मास्टर जी: छोटे सवालों के नहीं दे पाएं जवाब, डीएम ने दे दिए निर्देश
X
फंसे मास्टर जी: छोटे सवालों के नहीं दे पाएं जवाब, डीएम ने दे दिए निर्देश (social media)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

बलिया: जिले के नौरंगा ग्राम में एक उच्च प्राथमिक विद्यालय के विज्ञान के शिक्षक द्वारा जिलाधिकारी एच पी शाही के भिन्न से सम्बंधित एक सवाल का जबाब नही दे पाने के मामले को जिला प्रशासन ने गम्भीरता से लिया है । जिलाधिकारी द्वारा कार्रवाई के निर्देश के बाद शिक्षक पर कार्रवाई की तलवार लटक गई है ।

योगी सरकार शिक्षा की गुणवत्ता पर विशेष जोर दे रही है तथा इसको लेकर तमाम कवायद किये जा रहे हैं , लेकिन जिलाधिकारी एच पी शाही ने कल जिले में बेसिक शिक्षा की स्थिति को अपनी आंखों से देखा । विकास कार्यों का सत्यापन करने गंगा पार स्थित बैरिया तहसील क्षेत्र के ग्राम नौरंगा पहुंचे थे ।

ये भी पढ़ें:जमानत के लिए गिड़गिड़ाई रिया, बोली- मैं बिल्कुल निर्दोष, जेल में मेरी जान को खतरा

डीएम ने प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालय में पठन-पाठन की जानकारी ली

जिलाधिकारी श्री शाही ने चौपाल कार्यक्रम के दौरान प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालय में पठन-पाठन की जानकारी ली । इस दौरान वह एक शिक्षक के ज्ञान को परख कर भौंचक रह गए । हुआ यूं कि चौपाल में आये ग्रामीणों ने विद्यालय में शिक्षक के न आने की शिकायत की।

ग्रामीणों ने यह भी कहा कि एक शिक्षक जब से उच्च प्राथमिक विद्यालय में तैनात हुए हैं, तब से विद्यालय की स्थिति निरन्तर बदतर होती जा रही है। चौपाल में मौजूद उच्च प्राथमिक विद्यालय, भुवाल छपरा के सहायक अध्यापक गिरजा शंकर पांडेय ने शिकायत को निराधार करार दिया तथा वह जिलाधिकारी के समक्ष पहुंच गए । जिलाधिकारी ने अध्यापक से पूछा कि किस विषय के अध्यापक हो, जबाब मिला विज्ञान। योग्यता एम एस सी ।

ballia school ballia school (social media)

जिलाधिकारी ने शिक्षक से पूछा गणित जानते हो

जिलाधिकारी ने शिक्षक से पूछा गणित जानते हो। इसके बाद उन्होंने पूछा कि 1/2 , 2/3 , 3/4 व 4/5 में कौन सबसे बड़ा है व कौन सबसे छोटा । अध्यापक ने जबाब दिया 1/2 । अध्यापक ने 4 / 5 को सबसे छोटा बताया । जिलाधिकारी ने गलत उत्तर मिलने के बाद भी अध्यापक को शाबासी देते हुए पूछा कि क्यों 1/2 सबसे बड़ा है व 4/5 सबसे छोटा । अध्यापक इसका सही जवाब नहीं दे सके। अध्यापक ने जवाब दिया कि 1/2 आधा होता है , इसलिए यह सबसे बड़ा है । वह 4/5 के छोटा होने को लेकर कोई संतोषप्रद जवाब नहीं दे सका।

अध्यापक से न्यूटन के गति का सिद्धांत व आर्किमिडीज का सिद्धांत पूछा

जिलाधिकारी ने इसके बाद अध्यापक से न्यूटन के गति का सिद्धांत व आर्किमिडीज का सिद्धांत पूछा, अध्यापक निरुत्तर रहा। शिक्षक के ज्ञान को परखने के बाद जिलाधिकारी शाही ने शिक्षक से कहा कि अच्छा हुआ कि आपने बच्चों को नहीं पढ़ाया। यदि पढ़ाये होते तो ये बच्चे भी बड़ा-छोटा का अंतर नहीं समझ पाते।

डीएम ने कहा इसी योग्यता पर सरकार आपको 60 हजार रुपया मासिक वेतन दे रही है

उन्होंने क्षोभ भरे लहजे में शिक्षक को आत्मावलोकन की नसीहत दी तथा कहा कि इसी योग्यता पर सरकार आपको 60 हजार रुपया मासिक वेतन दे रही है। जिलाधिकारी शाही ने शिक्षक से सवाल पूछने के पहले चौपाल में ही वही सवाल कक्षा छह में पढ़ने वाले एक छात्र अर्जुन को बुलाकर पूछा था । सवाल का जवाब अर्जुन ने महज 10 सेकंड में ही दे दिया था । छात्र के प्रतिभा पर जिलाधिकारी ताज्जुब कर गए थे और छात्र की पीठ थपथपाते हुए उसे प्रोत्साहन स्वरूप मिठाई खिलाई थी ।

ballia school ballia school (social media)

ये भी पढ़ें:ऑक्सीजन का हाहाकार: तड़प रहे कोरोना मरीज, महाराष्ट्र ने सप्लाई रोकी

जिलाधिकारी शाही ने आज बताया कि उन्होंने बेसिक शिक्षा अधिकारी को सम्बंधित अध्यापक के विरुद्ध जांच कर कार्रवाई करने का निर्देश दिया है । शैक्षिक योग्यता की विस्तृत जांच की जाएगी। जिलाधिकारी के इस निर्देश के बाद गणित के सामान्य ज्ञान से भी अनभिज्ञ विज्ञान शिक्षक के विरुद्ध कार्रवाई की तलवार लटक गई है ।

अनूप कुमार हेमकर

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story