बलिया: प्राथमिक स्कूल में छुआछूत के मामले में मायावती ने की कार्रवाई की मांग

बताते चले कि बलिया के एक प्राथमिक स्कूल में सवर्ण बच्चों के अपने घर से बर्तन लाने और दलित छात्रों से अलग बैठ कर मिड डे मील खाने की खबर सामने आयी है।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में बलिया के रामपुर इलाके में एक प्राथमिक विद्यालय में मिड डे मील के लिए अलग से बर्तन लाने और एसी-एसटी बच्चों से अलग बैठ कर खाना खाने का मामला अब राजनीतिक रंग लेने लगा है। बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमों मायावती ने इस घटना को दुखद व शर्मनाक बताते हुये प्रदेश की योगी सरकार से दोषियों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई करने की मांग की है।

यह भी पढ़ें: भारत में और पैसा डालेंगी चीनी स्मार्टफोन कंपनियां, पढ़ें पूरी रिपोर्ट

मायावती ने गुरुवार को ट्वीट किया है कि यूपी के बलिया जिले के सरकारी स्कूल में दलित छात्रों को अलग बैठाकर भोजन कराने की खबर अति-दुखद व अति-निन्दनीय है। उन्होंने, बसपा की ओर से मांग की है कि ऐसे घिनौने जातिवादी भेदभाव के दोषियों के खिलाफ राज्य सरकार तुरन्त सख्त कानूनी कार्रवाई करे ताकि दूसरों को इससे सबक मिले व इसकी पुनरावृति न हो।

यह भी पढ़ें: लखनऊ: गणेश उत्सव को लेकर झूलेलाल पार्क में पंडाल हुआ तैयार

बताते चले कि बलिया के एक प्राथमिक स्कूल में सवर्ण बच्चों के अपने घर से बर्तन लाने और दलित छात्रों से अलग बैठ कर मिड डे मील खाने की खबर सामने आयी है। जानकारी के मुताबिक विद्यालय के प्रधानाचार्य ने बच्चों को समझाया लेकिन इसके बावजूद बच्चे मान नहीं रहे हैं। जबकि विद्यालय के बच्चों का कहना है कि स्कूल की थालियों में कोई भी खाना खां लेता है इसलिए हम अपने घर से थाली लेकर आते है।