हो जाइये सावधान! कहीं आपका आधार कार्ड फर्जी तो नहीं, हुई बड़ी गिरफ्तारी

फर्जी आधार कार्ड तैयार करने वाले गिरोह के सक्रिय होने की सूचना पर पुलिस इनकी तलाश में छापेमारी कर रही थी। शनिवार को पुलिस ने परतापुर के रिझानी क्षेत्र में छापेमारी कर गिरोह के दो सदस्यों परतापुर निवासी प्रवीण और खरखौदा निवासी पंकज को गिरफ्तार कर जब उनसे पूछताछ की। 

मेरठ:  उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले की पुलिस ने फर्जी आधार कार्ड तैयार करने वाले गिरोह का खुलासा करने का दावा किया है। इस गिरोह के दो सदस्यों को परतापुर थानाक्षेत्र के रिझानी गांव से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस के अनुसार यह गैंग अब तक तकरीबन पांच सौ से छह सौ फर्जी आधार कार्ड खपा चुका था।

ये भी देखें : बॉलीवुड की इन एक्ट्रेस की एक गलती बनी पूरी जिंदगी का सबब 

एसपी सिटी डॉ अखिलेश नारायण सिंह ने आज प्रेस कांफ्रेंस में गिरोह का खुलासा करते हुए बताया कि फर्जी आधार कार्ड तैयार करने वाले गिरोह के सक्रिय होने की सूचना पर पुलिस इनकी तलाश में छापेमारी कर रही थी। शनिवार को पुलिस ने परतापुर के रिझानी क्षेत्र में छापेमारी कर गिरोह के दो सदस्यों परतापुर निवासी प्रवीण और खरखौदा निवासी पंकज को गिरफ्तार कर जब उनसे पूछताछ की।

अपराधियों ने अपना अपराध स्वीकार करते हुए बताया कि उनका गिरोह अभी तक 500-600 फर्जी आधार कार्ड तैयार कर चुका है। एक आधार कार्ड की कीमत 300 रखी गई थी। इसके अलावा जो लोग नया आधार कार्ड बनवाने या फिर पुराने में संशोधन कराने के लिए काम लाते थे, उन्हें अतिरिक्त पैसा दिया जाता था।

ये भी देखें : RSS नेता के 3 आतंकी कातिल, आखिरकार हो गए गिरफ्तार

एसपी सिटी के अनुसार इनमें एक आरोपी पंकज पूर्व में आधार कार्ड सेंटर चलाता था। आरोपियों के पास से थंब इंप्रेशन मशीन,यूपीएस, प्रिन्टर,लैपटॉप और अन्य मशीनों सहित भारी मात्रा में बने हुए आधीर कार्ड भी बरामद हुए हैं।