Top

भाजपा सांसद विधायक में छिड़ी जंगः मामला पहुंचा प्रदेश दफ्तर, अड़ गए विधायक

भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह ने बृहस्पतिवार को भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से दूरभाष पर बातचीत की है।

Aradhya Tripathi

Aradhya TripathiBy Aradhya Tripathi

Published on 5 Jun 2020 12:33 PM GMT

भाजपा सांसद विधायक में छिड़ी जंगः मामला पहुंचा प्रदेश दफ्तर, अड़ गए विधायक
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बलिया: जिले के बैरिया क्षेत्र के इब्राहिमाबाद में लगने वाले सुदिष्ट बाबा पशु मेला की जमीन को लेकर भाजपा किसान मोर्चा के अध्यक्ष व सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त और विधायक सुरेंद्र सिंह के मध्य शुरू हुआ विवाद भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जय प्रकाश नड्डा के यहां पहुंच गया है। विधायक सुरेंद्र सिंह ने राष्ट्रीय अध्यक्ष नड्डा के हस्तक्षेप पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह व संगठन महासचिव सुनील बंसल से मिलकर समस्त मामले की जानकारी दी है। मामले की एस आई टी जांच पर अड़े विधायक ने पशु मेला की भूमि पर भूख हड़ताल करने की धमकी दी है।

बीजेपी विधायक ने मामले पर प्रदेश अध्यक्ष से की बात

भाजपा किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व बलिया के सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त व भाजपा के बैरिया क्षेत्र के विधायक सुरेंद्र सिंह के मध्य इब्राहिमाबाद में लगने वाले सुदिष्ट बाबा पशु मेला की जमीन को लेकर शुरू हुआ विवाद निरन्तर बढ़ता ही जा रहा है। भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह ने बृहस्पतिवार को भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से दूरभाष पर बातचीत की है। राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री नड्डा से बातचीत के बाद भाजपा विधायक श्री सिंह बृहस्पतिवार को राज्य मुख्यालय पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह व संगठन महासचिव सुनील बंसल से मिले। भाजपा विधायक श्री सिंह ने आज दूरभाष पर बातचीत में इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि उन्होंने सुदिष्ट बाबा पशु मेला की जमीन को लेकर किये गये समस्त फर्जीवाड़े की जानकारी साक्ष्य सहित दे दी है।

उन्होंने दावा किया है कि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री नड्डा के साथ ही दल के प्रदेश अध्यक्ष व संगठन महासचिव ने उनके पक्ष व मेला भूमि से सम्बंधित अभिलेख को देखा तथा उनके द्वारा शुरू की गई लड़ाई को सही ठहराया। मुलाकात के बाद भाजपा विधायक श्री सिंह ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से पूरे मामले की एस आई टी जांच की मांग की है। उन्होंने चेतावनी दी है कि वह आवश्यकता पड़ने पर सुदिष्ट बाबा की भूमि पर ही अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल करेंगे। वह मेले की जमीन की रक्षा के लिए अपने प्राण का उत्सर्ग कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें- दहेज नहीं मिला तो पति ने की पत्नी के साथ ये घिनौनी हरकत, जानकर हो जाएंगे दंग

भाजपा विधायक श्री सिंह ने दावा किया है कि जमीन रजिस्ट्री की सारी कार्रवाई फर्जीवाड़े पर आधारित है। पशु मेला की लगभग 200 एकड़ जमीन पर अवैध कब्जे का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जमीन क्रय करने के लिए लगाया गया पावर ऑफ अटॉर्नी भी विधिक दृष्टि से सही नही है। वह इसके साथ ही कहते हैं कि नेता को ऐसा कृत्य नही करना चाहिए। मुख्यमंत्री को प्रेषित पत्र में भाजपा विधायक ने फर्जीवाड़े का विस्तार से उल्लेख किया है।

बीजेपी सांसद की ओर से आरोपों को किया गया ख़ारिज

बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह ने पत्र में बताया है कि इब्राहिमाबाद ऊपरवार में भू माफियाओं द्वारा फर्जी तरीके से तहसील के भ्रष्ट अधिकारियों एवं कर्मचारियों के सहयोग से 200 एकड़ जमीन पर अपना नाम अंकित करा लिया गया था। बाद में जनता के प्रतिकार पर 1996 में पुनः वह जमीन ग्रामसभा के नाम से अंकित हो गई। इसके बाद उच्च न्यायालय के आदेश के अनुपालन में भ्रष्ट तरीके से की गई चकबंदी की कार्रवाई भी निरस्त कर दी गई। लेकिन पुनः भू माफियाओं ने साजिश रचकर भ्रष्ट अधिकारियों के सहयोग से अपना नाम अंकित करा लिया। उन्होंने जानकारी दी है कि खसरा नंबर 702 एवं 795 में सुदिष्ट बाबा का ऐतिहासिक पशु मेला सैकड़ो वर्षों से लगता चला रहा है। इसका वर्तमान समय में संचालन जिला पंचायत बलिया द्वारा होता है।

ये भी पढ़ें- प्रवासी मजदूर अपराधीः कहने के बाद मुकर गई बिहार पुलिस

उन्होंने उल्लेख किया है कि खसरा संख्या 241, 1136, 1737, 1811 ग्राम सभा की जमीन है। इस खसरे में भी भू माफियाओं द्वारा फर्जी तरीके से अपना नाम चढ़वा लिया गया है। बैरिया विधायक सुरेंद्र सिंह ने सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त के भांजे विनय सिंह द्वारा खसरा नंबर 702 व 795 की भूमि भू माफियाओं से रजिस्ट्री कराए जाने की शिकायत की है। धर इस मामले में भाजपा सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त के भांजे विनय सिंह ने कहा कि उन्हें भाजपा विधायक के पार्टी के शीर्ष नेताओं से मुलाकात व शिकायत करने की कोई जानकारी नही है। उन्होंने कहा कि उन्होंने विधिक प्रक्रिया का पालन करते हुए खसरा में दर्ज काश्तकारों से ही जमीन क्रय किया है। विधायक जी होते कौन हैं उनकी जमीन की रजिस्ट्री मामले में बोलने वाले। यदि कुछ गलत हुआ है तो संबंधित विभाग व कोर्ट है । उन्होंने कहा कि कोई जांच हो मुझे इसमें कोई आपत्ति नहीं है।

रिपोर्ट- अनूप कुमार हेमकर

Aradhya Tripathi

Aradhya Tripathi

Next Story