BJP सासंद का अजीबोगरीब बयान, इस बात के लिए इंदिरा गांधी को बता दिया जिम्मेदार

वीरेंद्र सिंह मस्त ने दावा किया कि देश में पहली बार मोदी सरकार ने यह स्थापित किया है कि कोई सरकार अपने घोषणा पत्र के अनुसार काम कर रही है।

Published by Aradhya Tripathi Published: June 4, 2020 | 8:06 pm
Modified: June 4, 2020 | 8:07 pm

बलिया: भाजपा किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त ने आज देश में नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर अजीबोगरीब दावा किया है। उन्होंने प्रवासी कामगारों की बदतर स्थिति का टीकरा पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी पर फोड़ दिया है।

आत्मनिर्भर भारत का संकल्प देश को शक्तिशाली बनाएगा- वीरेंद्र सिंह मस्त

मोदी सरकार के एक वर्ष पूरा होने के अवसर पर आज जिला मुख्यालय पर आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में भाजपा के बलिया से सांसद श्री वीरेंद्र सिंह मस्त ने मोदी सरकार की उपलब्धियों का उल्लेख करते हुए एक अजीबोगरीब बयान देते हुए कहा है कि मोदी सरकार ने देश की संसद व राज्यों के विधान मण्डलों से नागरिकता संशोधन विधेयक पारित करा दिया है। उन्होंने दावा किया कि देश में पहली बार मोदी सरकार ने यह स्थापित किया है कि कोई सरकार अपने घोषणा पत्र के अनुसार काम कर रही है। उन्होंने धारा 370 व अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को भी मोदी सरकार की अहम उपलब्धि करार दिया है।

ये भी पढ़ें-     एटलस फैक्ट्री बंद होने पर प्रियंका का सरकार से सवाल, नौकरी बचाने योजना बताएं?

श्री सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी का ‘आत्मनिर्भर भारत’ का संकल्प देश को स्वाभिमानी, समृद्ध व शक्तिशाली बनाएगा। केंद्र सरकार की स्वदेशी की भावना को प्रबल बनाने की इच्छाशक्ति से कृषि अर्थव्यवस्था आगे बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र पिता महात्मा गांधी के ग्राम स्वराज के सपने को साकार किया है। बलिया के सांसद श्री मस्त ने कहा कि कोरोना महामारी के समय पीएम ने 20 लाख करोड़ की सहायता गांव, गरीब व किसानों को देकर दुनिया में मिसाल कायम की है।

प्रवासी कामगारों की बदतर स्थिति के लिए इंदिरा गांधी ज़िम्मेदार- सांसद मस्त

इसी बीच श्री मस्त ने एक अजीबोगरीब बयान देते हुए प्रवासी कामगारों की बदतर स्थिति के लिए इंदिरा गांधी सरकार को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि वर्ष 1971 में बैंकों व उद्योगों का राष्ट्रीयकरण करते समय तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा जी ने हमारे प्रसिद्ध नेता दत्तो पंत ठेंगड़ी के द्वारा दिये गये फार्मूला को मान लिया होता और उद्योगों व बैंकों का राष्ट्रीयकरण करने के बजाय उद्योगों का मजदूरीकरण, मजदूर का राष्ट्रीयकरण तथा राष्ट्र का औद्योगिकीकरण कर दिया होता तो मजदूर आज इस स्थिति में नही रहता।

ये भी पढ़ें-     ऑनलाइन ठगी का होते हैं शिकार, तो यहां दर्ज कराएं शिकायत, वापस मिलेगा पैसा

उद्योग पर मजदूर व मालिक की साझेदारी होती। ऐसे में आज देश के सामने प्रवासी कामगारों के पलायन के हालात पैदा ही नही होते। भाजपा सांसद श्री मस्त ने आज जिला मुख्यालय के विकास भवन परिसर में अपने संसदीय कार्यालय का शुभारंभ किया। इस मौके पर खेल व पंचायती राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) उपेन्द्र तिवारी व संसदीय कार्य राज्यमंत्री आनंद स्वरूप शुक्ल तो मौजूद रहे , लेकिन बैरिया के विधायक सुरेंद्र सिंह की नामौजूदगी चर्चा में रही।

रिपोर्ट- अनूप कुमार हेमकर

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App