नागरिकता संशोधन अधिनियम को लेकर भाजपा का जनजागरण अभियान शुरू

पार्टी के समाज के प्रबुद्ध वर्ग जैसे डाक्टर, अधिवक्ता, प्रोेफेसर, अध्यापक व सेवानिवृत अधिकारियों सहित अन्य गणमान्य जनों से संपर्क संवाद कर उन्हें सीएए को लेकर बताया गया कि नागरिकता संशोधन अधिनियम किसी की भी नागरिकता लेने के लिए नहीं बल्कि नागरिकता देने के लिए बनाया गया है।

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी ने नागरिकता संशोधन अधिनियम 2019 को लेकर आज से प्रदेश में संपर्क अभियान शुरू कर दिया है। जन-जागरण अभियान के तहत आज पार्टी पदाधिकारियों, जनप्रतिनिधियों और कार्यकर्ताओं ने घरों पर पहुंचकर उन्हें नागरिकता संशोधन अधिनियम के सच को बताया।

ये भी देखें : DRI के एडीजी समेत दो अन्य गिरफ्तार, CBI ने रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा

पार्टी के समाज के प्रबुद्ध वर्ग जैसे डाक्टर, अधिवक्ता, प्रोेफेसर, अध्यापक व सेवानिवृत अधिकारियों सहित अन्य गणमान्य जनों से संपर्क संवाद कर उन्हें सीएए को लेकर बताया गया कि नागरिकता संशोधन अधिनियम किसी की भी नागरिकता लेने के लिए नहीं बल्कि नागरिकता देने के लिए बनाया गया है।

प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि पार्टी कार्यकर्ता आज से शुरू किये गये जन-जागरण अभियान के माध्यम से करेंगे। उन्होंने कहा कि नागरिकता संशोधन अधिनियम 2019 के तहत पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में धार्मिक उत्पीड़न के कारण वहां से हिन्दू, ईसाई, सिख, पारसी, जैन और बौद्ध धर्म के लोगों को भारत की नागरिकता देने के लिए है न कि किसी की नागरिकता लेने के लिए है।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि लम्बे समय से अन्याय का दंश झेल रहे इन अल्पसंख्यक विसथापितों को जब मा. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व वाली केन्द्र सरकार के पहल पर नागरिकता मिलने का मार्ग प्रशस्त हुआ तो कांग्रेस व सपा जैसे विपक्षी दल महज वोट बैंक की राजनीति के चलते नागरिकता संशोधन अधिनियम 2019 को लेकर झूठ व भ्रम फैलाने लगे। इन दलों ने यह भी नहीं सोचा कि यह विधेयक बहुत सारे लोगों को वर्षो से चली आ रही उनकी यातना व प्रताड़ना से मुक्ति दिलायेगा।

ये भी देखें : एक पिता ऐसा भी! प्रेमी संग मिलकर की बेटी की हत्या, अब दे रहा धमकी

पार्टी के प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल ने कहा कि समाज के प्रत्येक वर्ग में सीएए को लेकर फैलाये जा रहे भ्रम को दूर करते हुए इस कानून के सच को बताने के लिए मोर्चा, प्रकोष्ठों के पदाधिकारी व कार्यकर्ता भी संगठन की योजनानुसार लगातार प्रभावी ढंग से जन-जागरण अभियान अपनी सहभागिता करें।