Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

दशक के पहले बजट में 10 वर्षों की ठोस नींव बनाने की कोशिश: गिरीश चंद्र त्रिपाठी

यूपी उच्च शिक्षा परिषद के अध्यक्ष और पूर्व कुलपति, बीएचयू प्रोफेसर गिरीश चंद्र त्रिपाठी ने बजट की तारीफ की। उन्होंने कहा कि बजट में हेल्थ और इंफ्रास्ट्रक्चर पर बड़ा फोकस किया गया है। कोविड-19 के मुश्किल हालातों के बावजूद आम आदमी पर टैक्स की मार नहीं पड़ी है।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 1 Feb 2021 4:20 PM GMT

दशक के पहले बजट में 10 वर्षों की ठोस नींव बनाने की कोशिश: गिरीश चंद्र त्रिपाठी
X
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को संसद में आम बजट पेश किया। बजट पर आम आदमी से राजनेताओं तक के बयान सामने आए हैं।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को संसद में आम बजट पेश किया। बजट पर आम आदमी से लेकर राजनेताओं तक के बयान सामने आए हैं। इस बजट की किसी ने तारीफ की, तो किसी ने निराशा जताई।

यूपी उच्च शिक्षा परिषद के अध्यक्ष और पूर्व कुलपति, बीएचयू प्रोफेसर गिरीश चंद्र त्रिपाठी ने बजट की तारीफ की। उन्होंने कहा कि बजट में हेल्थ और इंफ्रास्ट्रक्चर पर बड़ा फोकस किया गया है। कोविड-19 के मुश्किल हालातों के बावजूद आम आदमी पर टैक्स की मार नहीं पड़ी है।

उन्होंने आगे कहा कि वैक्सिनेशन के लिए वित्त मंत्री ने 35 हज़ार करोड़ दिए हैं, लेकिन स्वास्थ्य का बजट करीब दो गुने से अधिक बढ़ा है। हमनें एक साल में जो नए अनुभव सीखे, बजट में उसकी छाप दिखती है। आधार स्तम्भ मौजूद बनाए जाएं इसपर फोकस है। कह सकता हूं कि इस दशक के पहले बजट में 10 वर्षों की ठोस नींव बनाने की कोशिश हुई है।

ये भी पढ़ें...श्रीराम जन्मभूमि की मिट्टी से हिमाचल प्रदेश में बनेगी भगवान राम की प्रतिमा

दोस्तों देश दुनिया की और को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story