Top

दबंगों की करतूत: डीआईओएस के आवास पर दी धमकी, कानून का कोई डर नहीं

शुक्रवार देर रात दबंगों ने फील्ड हॉस्टल में रह रहे डीआईओएस के घर पर धावा बोल दिया। कार से पहुंचे दबंग डीआइओएस का नाम लेकर गाली गलौज करने लगे। जान से मारने की धमकी दी।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 7 Nov 2020 11:00 AM GMT

दबंगों की करतूत: डीआईओएस के आवास पर दी धमकी, कानून का कोई डर नहीं
X
दबंगों की करतूत: डीआईओएस के आवास पर दी धमकी, कानून का कोई डर नहीं
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रायबरेली: उत्तरप्रदेश सरकार लगातार कानून व्यवस्था को चुस्तदुरुस्त करने के लगातार दावे कर रही है वहीं विपक्ष लगातार कानून व्यवस्था पर सरकार को घेरे हुए है। विपक्ष द्वारा कानून व्यवस्था के उठाये गए सवाल कही न कही सच साबित हो रहे हैं। क्योंकि दबंग अब आमजन के साथ साथ अधिकारियों पर भी हमला करने से नही बाज आ रहे है।

दबंगों ने फील्ड हॉस्टल में रह रहे डीआईओएस के घर पर धावा बोला

ऐसा ही मामला आज डिप्टी सीएम के प्रभार वाले जिले रायबरेली में सामने आया जहाँ शुक्रवार देर रात दबंगों ने फील्ड हॉस्टल में रह रहे डीआईओएस के घर पर धावा बोल दिया। कार से पहुंचे दबंग डीआइओएस का नाम लेकर गाली गलौज करने लगे। जान से मारने की धमकी दी। शोर सुनकर आसपास के कमरों में सो रहे अफसर भी जाग गए। पुलिस के पहुंचने से पहले आरोपित फरार हो गए। इस दौरान अफरा-तफरी का माहौल रहा। कोतवाली पुलिस मामले की पड़ताल कर रही है।

शहर कोतवाली क्षेत्र सिविल लाइन पुलिस बूथ से चंद कदम दूर स्थित पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस से सटे फील्ड हॉस्टल में जिले के कई विभागों के अफसर रहते हैं। इसी फील्ड हॉस्टल के द्वितीय तल पर जिला विद्यालय निरीक्षक डॉ. चंद्रशेखर मालवीय का आवासीय कक्ष है। बीती रात करीब दस बजे कुछ लोग काली कार से उनके घर पर आ धमके और डीआइओएस का नाम लेते हुए गालियां देनी शुरू कर दीं और कमरे का दरवाजा खटखटाने लगे। फील्ड हॉस्टल में दबंगों की गुंडई देखकर परिसर में रहने वाले अफसरों ने इसकी सूचना कोतवाली पुलिस को दी।

ये भी देखें: 17 नवंबर से आर-पार की लड़ाई, अरब सागर में इन देशों की सेनाएं होंगी आमने-सामने

गुंडों का पता नहीं चला

पुलिस के पहुंचने से पहले ही अराजकतत्व फरार हो गए। शहर कोतवाली के वीआईपी और सबसे अधिक सुरक्षित इलाके में इस घटना होने से पुलिस महकमा भी एक्शन में आ गया। काफी देर तक आसपास कार सवारों की तलाश की गई, लेकिन गुंडों का पता नहीं चला। देर रात तक पुलिस का पहरा लगा रहा। हालांकि अभी तक डीआइओएस की ओर से कोई तहरीर पुलिस को नहीं मिली है लेकिन डीआईओएस ने एसपी से मिलकर मामले की जानकारी दी और अपने लिए सुरक्षा गार्ड की मांग की। एसपी से मिलने के बाद डीआइओएस ने बताया कि कुछ लोगों द्वारा दरवाजा खटखटाने, गाली गलौज और जान से मारने की धमकी देकर फरार हो गए।

ये भी देखें: खत्म चीन-पाक का खेल: अतंरिक्ष से नजर रखेगा भारत, लांच किया ये खास सैटेलाइट

डीआईओएस ने प्रार्थना पत्र दिया है

महज चंद कदम पर पुलिस का पहरा वैसे तो फील्ड हॉस्टल और पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस को सुरक्षित माना जाता है, लेकिन रात की वारदात ने एक बार फिर पुलिस की सक्रियता पर सवाल उठाया है। महज चंद कदम की दूरी पर ही सिविल लाइंस चौराहा है। यहां पर सीसी कैमरा भी लगा है। पुलिस कर्मियों का पहरा भी रहता है। इसके बावजूद घटना में शामिल लोग भाग निकले। डीआईओएस के घर पर हमले के मामले पर अपर पुलिस अधीक्षक का कहना है कि डीआईओएस ने प्रार्थना पत्र दिया है कि उनके घर पर कुछ लोगों ने हमला बोल दिया और गालियां दी। इस मामले की जांच सीओ सिटी को सौंपी गई है इसके साथ ही उनकी माँग पर सुरक्षा बढ़ा दी गयी है।

रिपोर्ट: नरेन्द्र सिंह, रायबरेली

दो देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें

Newstrack

Newstrack

Next Story