Top

मंत्रिमंडल विस्तार: जाने योगी सरकार में किसको क्या मिला, किसने क्या खोया

योगी सरकार 21 अगस्त बुधवार को मंत्रिपरिषद के विस्तार के बाद राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने मंत्रियों के विभागों का बंटवारा कर दिया है। इस विस्तार के बाद कई पुराने मंत्रियों से बड़े विभाग छिन लिए गए हैं। सीएम योगी ने अपने पास 37 विभाग रखे हैं। दो दिन पहले सीएम योगी ने अपने मंत्रिपरिषद में 18 नए चेहरों को शामिल किया था।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 23 Aug 2019 3:41 AM GMT

मंत्रिमंडल विस्तार: जाने योगी सरकार में किसको क्या मिला, किसने क्या खोया
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: योगी सरकार 21 अगस्त बुधवार को मंत्रिपरिषद के विस्तार के बाद राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने मंत्रियों के विभागों का बंटवारा कर दिया है। इस विस्तार के बाद कई पुराने मंत्रियों से बड़े विभाग छिन लिए गए हैं। सीएम योगी ने अपने पास 37 विभाग रखे हैं। दो दिन पहले सीएम योगी ने अपने मंत्रिपरिषद में 18 नए चेहरों को शामिल किया था। वहीं पांच मंत्रियों को प्रमोशन देकर कैबिनेट या स्वतंत्र प्रभार मंत्री बनाने की शपथ दिलाई गई थी। मंत्रियों को विभागों का बंटवारा गुरुवार की रात 10:30 बजे के करीब हुआ। सीएम योगी के गृह जनपद गोरखपुर में आयोजित कार्यक्रम से देर शाम लौटने के बाद राज्यपाल ने मंत्रियों के विभागों के बंटवारे को मंजूरी दी।

ये भी देखें:UN: मानवाधिकार कार्यकर्ता नावीद वाल्टर बोले, पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के साथ पक्षपात

इन मंत्रियों का पद घटा

सिद्धार्थनाथ सिंह से स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण जैसा विभाग छिन गया है। उन्हें खादी एवं ग्रामोद्योग, रेशम उद्योग, वस्त्र उद्योग, सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम, निर्यात प्रोत्साहन, एनआरआई, निवेश प्रोत्साहन जैसे नए विभाग दिए गए हैं। विभागों की संख्या भले ही ज्यादा है मगर स्वास्थ्य विभाग का महत्व ज्यादा माना जाता है। इसी तरह नंद गोपाल नंदी से भी स्टाम्प तथा न्यायालय शुल्क एवं पंजीयन जैसा अहम विभाग लेकर राजनैतिक पेंशन, अल्पसंख्यक कल्याण, मुस्लिम वक्फ, हज जैसे विभाग दिए गए हैं। उनके पास पहले से मौजूद नागरिक उड्डयन विभाग बरकरार रहेगा। इसी तरह कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना से भी नगर विकास विभाग लेकर राजेश अग्रवाल के इस्तीफा देने से खाली हुए वित्त विभाग को दिया गया है।

ये भी देखें:पीएम मोदी से बोले राष्ट्रपति मैक्रों- तीसरा देश कश्मीर पर न दे दखल

इन मंत्रियों का पद बढ़ा

विभागों के बंटवारे में आशुतोष टंडन काफी लकी रहे। उन्हें नगर विकास, शहरी समग्र विकास, नगरीय रोजगार एवं शहरी उन्मूलन जैसे अहम विभाग मिले हैं। कभी पूर्व की बीजेपी सरकार में उनके पिता लालजी टंडन के पास ये विभाग रहते थे। इसी तरह पहली बार मंत्री बने रामनरेश अग्निहोत्री को आबकारी विभाग मिला है। जय प्रताप सिंह को चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, परिवार कल्याण तथा मातृ एवं शिशु कल्याण जैसा अहम विभाग देकर कद बढ़ाया गया है। केंद्र की तर्ज पर यूपी में नए बनाए गए जलशक्ति विभाग की जिम्मेदारी कैबिनेट मंत्री पद पर प्रमोट होने वाले महेंद्र सिंह को मिला है। कैबिनेट मंत्री श्रीकांत शर्मा के पास अब अतिरिक्त ऊर्जा विभाग भी आ गया है।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story