Top

इमैनुएल मैक्रों बोले- कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाना भारत का अंदरूनी मसला

फ्रांस दौरे के बाद कल यानि शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बहरीन जाएंगे। बहरीन में किसी भी भारतीय प्रधानमंत्री की ये पहली यात्रा होने वाली है। कयास लगाए जा रहे हैं कि पीएम मोदी के इस दौरे की वजह से दोनों देशों के व्यापार को गति मिलने की उम्मीद है।

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 23 Aug 2019 3:00 AM GMT

इमैनुएल मैक्रों बोले- कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाना भारत का अंदरूनी मसला
X
पीएम मोदी से बोले राष्ट्रपति मैक्रों- तीसरा देश कश्मीर पर न दे दखल
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों से मुलाक़ात की। इस दौरान दोनों नेताओं के बीच द्विपक्षीय बातचीत भी हुई। पीएम मोदी से मुलाक़ात कर राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने कश्मीर मुद्दे पर अपने विचार भी व्यक्त किए। मैक्रों ने कहा कि इस मामले में किसी भी तीसरे देश को हस्तक्षेप करने का कोई अधिकार नहीं है। ऐसे में किसी भी तीसरे को इसमें नहीं आना चाहिए।

यह भी पढ़ें: योगी मंत्रिमंडल के विस्तार के बाद मंत्रियों को विभाग आवंटित, जानें किसे क्या मिला

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने इस दौरान ये भी कहा कि अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर फ्रांस और भारत की साझेदारी बड़ी भूमिका निभाती है। दोनों देशों के बीच काफी भरोसा है। ये भरोसा आसानी से नहीं मिलता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों से कश्मीर मुद्दे पर खुलकर बातचीत की, जिसपर मैक्रों ने कहा कि भारत और पाकिस्तान को मिलकर इस पर नतीजा निकालना होगा।

कश्मीर मुद्दे पर हुई विस्तार से बात

राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने कश्मीर मुद्दे पर पीएम मोदी से विस्तार से बात की। मैक्रों ने कहा कि, ‘हम चाहेंगे कि कोई भी तीसरा आदमी इसमें हस्तक्षेप नहीं करे और न ही हिंसा भड़काने का काम करे। ये भी जरूरी है कि कश्मीर में स्थिरता बनी रहे। कुछ दिनों बाद मैं पाकिस्तान के प्रधानमंत्री से भी बातचीत करूंगा। हम चाहते हैं कि कहीं कोई आतंकवाद की घटना नहीं हो।’

यह भी पढ़ें: घोटाले ही घोटाले: चिदंबरम के बाप हैं कांग्रेस के ये दिग्गज नेता

कश्मीर मुद्दे के अलावा दोनों नेताओं ने व्यापार पर भी बातचीत की। मैक्रों ने कहा कि वह हमेशा से चाहते थे कि भारत जी-7 में भागीदार बने। मैक्रों ने बताया कि जी-7 के कुछ तरीकों में बदलाव भी किए गए हैं। दरअसल, फ्रांस के राष्ट्रपति चाहते थे कि जी-7 में कई अहम मुद्दों पर चर्चा की जाए। इसमें क्लाइमेट चेंज पर भी चर्चा करने का फैसला लिया गया था।

पीएम नरेंद्र मोदी और इमैनुएल मैक्रों ने की कई मुद्दों पर बात

इमैनुएल मैक्रों ने ये भी कहा कि, ‘अभी हमने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ अन्य मुद्दों पर भी बात की। इसमें डिजिटल तकनीक और साइबर सिक्योरिटी भी शामिल है। हमने देखा है कि काफी मुद्दों पर तो हम बहुत आगे बढ़ चुके हैं। हम जानते हैं कि भारत अपना चंद्रयान भेज चुका है। पुलवामा में जो हमला हुआ था उसके लिए हमने अपनी सहानुभूति जताई है। हम आतंकवाद पर भी एक दूसरे के साथ मिलकर काम करते रहेंगे।’

यह भी पढ़ें: फ्रांस के राष्ट्रपति ने PM मोदी से की मुलाकात, आतंकवाद समेत इन मुद्दों पर बात

बहरीन जाएंगे पीएम मोदी

बता दें, फ्रांस दौरे के बाद कल यानि शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बहरीन जाएंगे। बहरीन में किसी भी भारतीय प्रधानमंत्री की ये पहली यात्रा होने वाली है। कयास लगाए जा रहे हैं कि पीएम मोदी के इस दौरे की वजह से दोनों देशों के व्यापार को गति मिलने की उम्मीद है। साथ ही, यह भी कहा जा रहा है कि इस्स दौरे से दोनों देशों को कई बड़े निवेश मिलने वाले हैं।

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story