एथलीट सुधा सिंह के घर जश्न, पद्मश्री मिलने के बाद बधाई देने वालों का लगा तांता

बता दें कि सुधा सिंह एक साधारण परिवार से आती हैं। इनका परिवार मूलतः ग्राम पोस्ट भिमी अमेठी का रहने वाला है। पिता 20 वर्षों से रायबरेली जिले के आईटीआई में नौकरी करते हैं

Published by Roshni Khan Published: January 27, 2021 | 1:41 pm
raebareli-matter

एथलीट सुधा सिंह के घर जश्न, पद्मश्री मिलने के बाद बधाई देने वालों का लगा तांता (PC: social media)

रायबरेली: उत्तर प्रदेश के रायबरेली जिले की बहू इंटरनेशनल एथलीट सुधा सिंह को पद्म श्री अवार्ड मिलने पर आज भी उनके आवास पर जश्न का माहौल है। परिवार वालों को बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है। सुधा के पिता कहते हैं कि बिटिया ने देश, प्रदेश और जिले में जो अपना नाम किया है उसके लिए पूरा रायबरेली और प्रदेश गौरांवित है। उन्होंने कहा इस तरह नकल कर के जिले की और प्रतिभाएं निकलें हम यही कहना चाहते हैं।

ये भी पढ़ें:अमर सिंह जन्मदिन: इस कारण हुआ था बिगबी से विवाद, निधन से पहले उठाया ये कदम

कल से ही हम जश्न मना रहे हैं, रायबरेली से लोग आ भी रहे हैं

वहीं सुधा की छोटी भाभी अर्चना सिंह से बात करने पर कहा कि कल से ही हम जश्न मना रहे हैं, रायबरेली से लोग आ भी रहे हैं। हम यही चाहते हैं रायबरेली से सारी लड़कियां जो इस क्षेत्र में हैं वो आगे बढ़ती रहें और दीदी से प्रेणना लेती रहें।

raebareli-matter
raebareli-matter (PC: social media)

बता दें कि सुधा सिंह एक साधारण परिवार से आती हैं। इनका परिवार मूलतः ग्राम पोस्ट भिमी अमेठी का रहने वाला है। पिता 20 वर्षों से रायबरेली जिले के आईटीआई में नौकरी करते हैं तो पूरा परिवार शिवाजी नगर के रहने वाले शिव हर्ष सिंह का कहना है कि बिटिया रानी ने देश का नाम रोशन किया है हमें गर्व है कि बिटिया ने रायबरेली का नाम इतिहास के पन्नों में दर्ज कराया है बिटिया रानी को बहुत-बहुत शुभकामनाएं।

रायबरेली के शिवजी नगर कालोनी में रह रहा है

रायबरेली के शिवजी नगर कालोनी में रह रहा है। सुधा अपने पिता हरिनारायण सिंह, माता शिवकुमारी सिंह व अपने दो भाइओ धीरेन्द्र सिंह व प्रवेश नारायण सिंह के साथ रहती है। सुधा ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा राजकीय बालिका इंटर कालेज में पूरी की। सुधा का मन बचपन से ही खेल कूद में लगता था, जिसके चलते स्कूल में होने वाली खेल प्रतियोगिता में हमेशा हिस्सा लेकर प्रथम, द्वितीय स्थान प्राप्त करती थी। जब सुधा एक अच्छी एथेलेटिक्स के रूप में निकल आई तो इनका दाखिला परिवार के लोगो ने लखनऊ खेल हास्टल में करा दिया।

raebareli-matter
raebareli-matter (PC: social media)

ये भी पढ़ें:वाराणसी की गलियों में घूमते नजर आए सोनू निगम, दर्शन पूजन के साथ देखी आरती

जहां पर सुधा के कोच ने एक अच्छे कोच की तरह कोचिंग दी और कोचिंग के दौरान सुधा ने प्रदेश स्तरीय होने वाली एथलेटिक्स स्टीपल चेज में हिस्सा लिया और अपनी मेहनत और सफलता को प्राप्त करती गई। सुधा सिंह ने हाई स्कूल की परीक्षा 2005 व इंटर की परीक्षा 2007 में अच्छे अंको से पास की। एक ओर पढ़ाई में अच्छे नंबर तो दूसरी तरफ अपने खेल में ऊंचाई तक ले गई। सुधा सिंह को आखिरकार बाम्बे बीटी स्टेशन पर रेलवे विभाग में टीआई की नौकरी 2008 में मिल गई।

रिपोर्ट- नरेन्द्र सिंह

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App