चिन्मयानंद केस: SIT ने दाखिल की चार्जशीट, चिन्मयानंद और छात्रा कोर्ट में पेश

चिन्मयानंद केस में स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) ने अपनी चार्जशीट दाखिल कर दी है। पूर्व गृहमंत्री चिन्मयानंद पर लगे यौन उत्पीड़न आरोप और उनसे फिरौती मांगने के दोनों मामले में चार्जशीट दाखिल की गई है।

लखनऊ: चिन्मयानंद केस में स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) ने अपनी चार्जशीट दाखिल कर दी है। पूर्व गृहमंत्री चिन्मयानंद पर लगे यौन उत्पीड़न आरोप और उनसे फिरौती मांगने के दोनों मामले में चार्जशीट दाखिल की गई है। यह चार्जशीट 4700 पेज की है।

यौन उत्पीड़न के मामले में चिन्मयानंद को कोर्ट में पेश भी किया गया। इसके साथ ही चिन्मयानंद से 5 करोड़ मांगने के आरोप में छात्रा और उसके तीनों दोस्तो को भी कोर्ट में पेश किया गया।

यह भी पढ़ें…सिद्धू ने पाकिस्तान जाने लिए केंद्र से फिर मांगी इजाजत, अमरिंदर ने दिया बड़ा बयान

गौरतलब है कि चिन्मयानंद मामले में एसआईटी ने करीब दो महीने की जांच के दौरान 47 सौ पन्नों की चार्जशीट तैयार की है। जांच के दौरान 105 लोगों के बयान दर्ज किए गए हैं। एसआईटी ने कुल 79 साक्ष्य संकलित किए हैं, जिनमें 24 महत्वपूर्ण भौतिक और 55 अभिलेखीय हैं।

इस केस में गवाह बने कार चालक अनूप के दिए वीडियो, चिन्यमानंद, सचिन सेंगर, ओम सिंह आदि के मोबाइल फोन की लखनऊ स्थित विधि विज्ञान प्रयोगशाला में फोरेसिंक जांच कराई गई और इसके मिरर इमेज तैयार कराई।

यह भी पढ़ें…उपचुनाव में शिकस्त के बाद मायावती ने बसपा संगठन में किया ये बड़ा फेरबदल

ओम सिंह व चिन्मयानंद के मोबाइल फोन का डिलीट हुआ डाटा भी रिकवर कराया गया। फोन को लखनऊ के अलावा गुजरात की गांधीनगर स्थित डायरेक्टरेट ऑफ फोरेंसिक साइंस लैब भेजा गया। एसआईटी को इलाहाबाद हाईकोर्ट में अंतिम स्टेटस रिपोर्ट शपथ पत्रों के साथ 28 नवंबर को पेश करनी है।

यह भी पढ़ें…महाराष्ट्र: नई सरकार के गठन को लेकर सियासी मुलाकातों का दौर जारी, पढ़ें किसने क्या कहा?

स्वामी चिन्मयानंद से रंगदारी मांगने के मामले में एसआईटी ने बीजेपी नेता और जिला सहकारी बैंक के चेयरमैन डीपीएस राठौड़ का नाम भी चार्जशीट में शामिल किया है। डीपीएस राठौड़ यूपी में राज्यमंत्री का दर्जा प्राप्त और प्रदेश पार्टी उपाध्यक्ष के भाई हैं।

चिन्मयानंद व अन्य के खिलाफ छात्रा के अपहरण व जान से मारने की धमकी देने की रिपोर्ट कोतवाली में दर्ज की गई थी। इससे पहले चिन्मयानंद के वकील ओम सिंह की ओर से चिन्मयानंद से पांच करोड़ रुपए की फिरौती मांगने की रिपोर्ट अज्ञात के खिलाफ कोतवाली में दर्ज कराई गई थी।

एसआईटी ने चिन्मयानंद पर लगे यौन उत्पीड़न आरोप और उनसे फिरौती मांगने के दोनों मामले में चार्जशीट दाखिल की है।

 

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App