कभी भी बन सकती महाराष्ट्र में सरकार, इस बड़े नेता का बयान

विधानसभा चुनाव परिणाम के बाद से महाराष्ट्र में सरकार को लेकर अभी तक तालमेल नहीं बन पाया है। नई सरकार बनने को लेकर अभी भी संशय बरकरार है। नेताओं का दिल्ली-मुंबई आना-जाना लगा है।

Published by suman Published: November 6, 2019 | 12:00 pm
Modified: November 6, 2019 | 8:41 pm

मुंबई: विधानसभा चुनाव परिणाम के बाद से महाराष्ट्र में सरकार को लेकर अभी तक तालमेल नहीं बन पाया है। नई सरकार बनने को लेकर अभी भी संशय बरकरार है। नेताओं का दिल्ली-मुंबई आना-जाना लगा हुआ है। लेकिन अभी तक स्थिति स्पष्ट नहीं हो पाई है कि सरकार कब तक बनेगी।

Update…

 कभी भी बना सकते हैं सरकार: सुधीर मनगुंटीवार 

बीजेपी नेता सुधीर मनगुंटीवार ने इंडिया टुडे से खास बातचीत में कहा कि कल हम सरकार बनाने को लेकर गवर्नर से मिलेंगे। जहां भी समस्या होती है, वहां समाधान भी होता है। हर ताले की चाबी होती है. हमें यकीन है कि महायुति सरकार बनाएगा। हमारे पास 182 विधायकों का समर्थन है। हर विकल्प मीडिया के सामने बताया नहीं जा सकता। महाराष्ट्र को स्थायी सरकार की जरूरत है। कल हम गवर्नर से मिलकर सरकार बनाने और मौजूदा राजनीतिक माहौल पर चर्चा करेंगे। हम किसी भी दिन सरकार बना सकते हैं।

रामदास आठवले से मिले शिवसेना नेता संजय राउत

शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि हमने महाराष्ट्र के राज्यपाल से मुलाकात की। आरपीआई के रामदास आठवले भी उनसे मिले। अगर बीजेपी नेता गुरुवार को राज्यपाल से सरकार बनाने को लेकर मुलाकात करते हैं तो उन्हें सरकार बनानी चाहिए क्योंकि वही सबसे बड़ी पार्टी है। हम भी यही कह रहे हैं।

देवेंद्र फडणवीस से मिले शिवसेना के नेता

बुधवार को शिवसेना के वरिष्ठ नेताओं ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से मुलाकात की। इसी बीच महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेता सुधीर मुनगंटीवार ने कहा है कि जल्द ही अच्छी खबर आने की उम्मीद है। बता दें कि चुनाव नतीजे आने के बाद दोनों पार्टियों के बीच सीएम पद को लेकर पैदा हुई तल्खी के बाद बड़े नेताओं की यह पहली मुलाकात है।

मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की अध्यक्षता में बुलाई गई इस मीटिंग में शिवसेना के विधायक दल के नेता एकनाथ शिंदे और वरिष्ठ नेता रामदास कदम समेत शिवसेना के कुल छह मंत्री मौजूद रहे।

ये भी पढ़ें—करतारपुर कॉरिडोर: पाकिस्तान पहुंचे 2200 श्रद्धालु, पाक ने जारी किया वीडियो सॉन्ग

इस बैठक के बाद रामदास कदम ने कहा, ‘यह बैठक किसानों के मुद्दे को लेकर थी। कल को यह मुद्दा नहीं बनना चाहिए कि शिवसेना किसानों की समस्याओं के लिए नहीं आई, इसलिए हमने बैठक में हिस्सा लिया। हमने मांग की है कि किसानों को प्रति एकड़ 25,000 रुपये की सहायता राशि तत्काल प्रभाव से दी जाए।’

उद्धव ठाकरे ने बुलाई विधाय​कों की बैठक 

वहीं अब खबर है कि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे कल यानि 7 नवंबर को दोपहर 11:30 बजे विधाय​कों की बैठक बुलाई है। बताया जा रहा है कि इस बैठक में शिवसेना के आगे की रणनीति पर चर्चा की जायेगी।

मल्लिकार्जुन खड़गे शाम तक मुंबई पहुंचेंगे

कांग्रेस विधायकों के इस फॉर्मूले के बीच महाराष्ट्र के चुनाव प्रभारी मल्लिकार्जुन खड़गे शाम तक मुंबई पहुंचेंगे। खड़गे यहां कांग्रेस विधायकों से बात करेंगे।

संजय राउत ने शरद पवार से की मुलाकात

इस बीच  संजय राउत ने उद्धव ठाकरे से मुलाकात की है। दोनों के बीच बातचीत भी हुई है। इससे पूर्व संजय राउत पवार से मिले थे। शरद पवार से मुलाकात से पहले संजय राउत ने मुख्यमंत्री पद के लिए अपनी पार्टी की मांग को दोहराया और कहा कि भाजपा के साथ अब किसी नए विकल्प पर चर्चा नहीं होगी।

मुलाकात के बाद संजय राउत ने कहा, ‘पवार साहब से मेरी आज मुलाकात हुई। पवार साहब देश के महाराष्ट्र के बड़े नेता हैं, मार्गदर्शक हैं सबके। उन्हें भी चिंता है कि राज्य में सरकार क्यूं नहीं बन रही। अभी राज्य में अस्थिरता है, उन्होंने भी बातचीत में चिंता जताई। हमने थोड़ी बहुत बातचीत की। आगे की बात आगे सोचेंगे।’

शरद पवार ने कही ये बात

शिवसेना नेता संजय राउत से मुलाकात के बाद एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा कि हम विपक्ष में बैठेंगे। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार बनाने को लेकर शिवसेना से हमें कोई प्रस्ताव नहीं मिला है। शरद पवार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा, ‘हमें सरकार बनाने का कोई प्रस्ताव नहीं मिला है। मैं मुख्यमंत्री नहीं बनने जा रहा हूं। शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने की बात कहां से आती है? बीजेपी और शिवसेना का 25 साल से गठबंधन है और उन्हें ही सरकार बनानी चाहिए। महाराष्ट्र की जनता ने हमें जो आदेश दिया है उसके आधार पर कांग्रेस, एनसीपी विपक्ष में बैठेगी। सरकार बनाने पर जो भी गतिरोध है उसे दूर करना चाहिए और सेना और बीजेपी को सरकार बनानी चाहिए।’

आरएसएस प्रमुख से मिले फड़णवीस

ये भी पढ़ें— भारत को मिलेगा S-400 : इस मिसाइल से थरथर कांपते हैं चीन और पाकिस्तान

उधर इससे पूर्व देवेंद्र फड़णवीस ने मंगलवार देर रात नागपुर में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात की थी। दोनों के बीच काफी देर बातचीत भी हुई थी। बताया जा रहा है कि ये बातचीत नई सरकार के गठन के संबंध में थी। एक घंटे तक चली इस बैठक के  बाद कोई रिजल्ट नहीं आया है। इस बारे में फडणवीस ने मीडिया से कोई बात नहीं की। इस तरह से अभी तक बीजेपी शिवसेना के बीच नई सरकार बनाने का फॉर्मूला तय नहीं हो पाया है।

ये भी पढ़ें—कांग्रेस का समर्थन: महाराष्ट्र में शिवसेना-NCP मिलकर बना सकती हैं सरकार

बीजेपी  के सीनियर लीडर शिवसेना की शर्त को मानने के लिए अहसमत है। और मुख्यमंत्री पद को बांटन के लिए तैयार नही हैं।ऐसे में शिवसेना भी अपने अड़ियल रवैया पर कायम है। इधर राजनीति उठापटक के बीच एनसीपी और कांग्रेस के नेताओं ने भी राज्यपाल से मुलाकात की।