×

जिलों में आज से जाएंगे योगी सरकार के नोडल अफसर, धान खरीद का जानेंगे हाल

बिचौलियों को आधे दाम पर धान बेचने के लिए मजबूर हो रहे किसानों की सुध लेने के लिए योगी सरकार तैयार है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर प्रदेश सरकार के वरिष्ठ अधिकारी रविवार से जिलों के दौरे करेंगे इस दौरान वह जानने की कोशिश करेंगे कि किसानों को धान की फसल बेचने में क्या परेशानी हो रही है।

Monika
Updated on: 27 Dec 2020 4:07 AM GMT
जिलों में आज से जाएंगे योगी सरकार के नोडल अफसर, धान खरीद का जानेंगे हाल
X
आज से जिलों में जाएंगे योगी सरकार के नोडल अफसर, धान खरीद का जानेंगे हाल
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

लखनऊ : बिचौलियों को आधे दाम पर धान बेचने के लिए मजबूर हो रहे किसानों की सुध लेने के लिए योगी सरकार तैयार है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर प्रदेश सरकार के वरिष्ठ अधिकारी रविवार से जिलों के दौरे करेंगे इस दौरान वह जानने की कोशिश करेंगे कि किसानों को धान की फसल बेचने में क्या परेशानी हो रही है। योगी सरकार के नोडल अफसरों की रिपोर्ट पर किसानों के समस्या का समाधान हो सकेगा।

वरिष्ठ अधिकारी धान खरीद का जानेंगे हाल

सरकारी क्रय केंद्रों पर धान बेचने में नाकाम किसानों की ओर से कई जिलों में विरोध प्रदर्शन हो चुका है लेकिन सरकार अभी तक यह मानने को तैयार नहीं है कि किसानों को आधे दाम पर अपनी फसल बेचने पड़ रही है अब योगी सरकार ने अपने वरिष्ठ अधिकारियों को नोडल अफसर बनाकर जिलों में भेजने का फैसला किया है रविवार से 3 दिन के दौरे पर नोडल अधिकारी जिलों में जाकर धान क्रय केंद्रों की हकीकत जानने की कोशिश करेंगे। प्रदेश सरकार के अनुसार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नामित वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों को प्रत्येक जिले के किसान नेताओं से वार्ता एवं धान क्रय केन्द्रों के निरीक्षण के निर्देश दिए।

ये भी पढ़ें : बलिया लिंक एक्सप्रेस-वे के निर्माण को हरी झंडी, CM योगी ने दिए ये निर्देश

क्या करेंगे नोडल अधिकारी

सभी नोडल अधिकारी दिनांक 27, 28 एवं 29 दिसम्बर को अपने आवंटित जनपद के भ्रमण पर रहेंगे। धान क्रय केन्द्रों का निरीक्षण चेक लिस्ट के अनुसार करेंगे और अपनी रिपोर्ट मुख्यमंत्री सचिवालय को सौंपेंगे।नोडल अधिकारी जिला स्तरीय अधिकारियों को किसानों की समस्याओं के समाधान के तरीके भी बताएंगे, ताकि धान क्रय की कार्यवाही सुचारु रूप से सुनिश्चित हो।

सभी नोडल अधिकारी गन्ना क्रय केन्द्रों, निराश्रित गोशाला, कोविड-19 एवं उसके वैक्सीन की व्यवस्था, जनसमस्याओं विशेषकर किसानों की समस्याओं यथा सिंचाई, नहरों में पानी की उपलब्धता, विद्युत की उपलब्धता, वरासत तथा पुलिस से सम्बन्धित शिकायतों की भी समीक्षा करेंगे।

अखिलेश तिवारी

ये भी पढ़ें…रायबरेली में डिप्टी CM: सोनिया गांधी पर बोला हमला, कई परियोजनाओं की शुरुआत

Monika

Monika

Next Story