CAA प्रदर्शन पर CM योगी का तीखा हमला, कहा- रजाई में सो रहे पुरुष, चौराहे पर महिलाएं

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ देश के कई राज्यों में विरोध प्रदर्शन चल रहा है। देश की राजधानी दिल्‍ली के शाहीन बाग और यूपी की राजधानी लखनऊ के घंटाघर पर नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ महिलाएं विरोध प्रदर्शन कर रही हैं।

नई दिल्ली: नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ देश के कई राज्यों में विरोध प्रदर्शन चल रहा है। देश की राजधानी दिल्‍ली के शाहीन बाग और यूपी की राजधानी लखनऊ के घंटाघर पर नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ महिलाएं विरोध प्रदर्शन कर रही हैं। इस प्रदर्शन पर यूपी के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने तीखा हमला बोला है।

उन्‍होंने कहा कि कुछ लोगों में इतनी हिम्मत नहीं कि वे स्वयं आंदोलन करें, इसलिए घर की महिलाओं और बच्चों को चौराहों पर बैठा दिया है। सीएम योगी ने कहा कि पुरुष घर में रजाई में सो रहे हैं और महिलाएं चौराहे पर हैं।

कानपुर में सीएए के समर्थन में आयोजित एक रैली में भारी भीड़ को संबोधित करते हुए सीएम योगी ने कहा कि प्रदर्शन के नाम पर हिंसा को बर्दाश्‍त नहीं करेंगे। उन्‍होंने कहा कि विपक्ष देश के दुश्मनों की भाषा बोल रहा है। हिंसा करने वालों के साथ वसूली की जाएगी। विपक्ष के रवैये से देश के दुश्‍मनों के हौसले बुलंद हो गए हैं। भारत को बदनाम करने का अभियान चल रहा है।

यह भी पढ़ें…मोदी कैबिनेट का बड़ा फैसला, ये सरकारी कंपनी होगी बंद, यहां भी लागू होगा GST

मुख्‍यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस, लेफ्ट और एनजीओ लोगों को भड़का रहे हैं। हमें मौन नहीं रहना है। कांग्रेस नेता कह चुके हैं कि जब तक आईएसआई के एजेंटों की भारत में एंट्री नहीं करा लेते तब तक नहीं मानेंगे।

यह भी पढ़ें…सुप्रीम कोर्ट में CAA : केंद्र सरकार को राहत, चार हफ्ते के बाद होगी सुनवाई

यूपी के मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ लोगों में इतनी हिम्मत नहीं कि स्वयं आंदोलन करें, इसलिए घर की महिलाओं और बच्चों को चौराहों पर बैठा दिया है। सीएम योगी ने कहा कि पुरुष घर में रजाई में सो रहे हैं और महिलाएं चौराहे पर हैं। यह शर्मनाक है। विरोध करने वाली महिलाओं को नहीं पता कि सीएए क्या है, उनके मर्द अक्षम हैं। उन्‍होंने कहा कि कश्मीर की आजादी के नारे देशद्रोह की श्रेणी में हैं। कांग्रेस, सपा, बसपा के ऐसे लोगों को शर्म आनी चाहिए।

यह भी पढ़ें…मफलर ही नही! और भी बहुत कुछ है केजरीवाल के पास

गौरतलब है कि सीएए के खिलाफ पिछले कई दिनों से दिल्‍ली के शाहीन बाग और लखनऊ के घंटाघर पर प्रदर्शन हो रहा है। लखनऊ के घंटाघर इलाके में महिलाएं और बच्चे हाथों में तिरंगा थामे नागरिकता संशोधन ऐक्ट के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं।