Top

कमलेश मर्डर पर CM योगी का बड़ा बयान, पढ़ें पूरी खबर

सीएम योगी आदित्यनाथ कमलेश तिवारी हत्याकांड पर बोले - जो हुआ वो नहीं होना चाहिए था। आगे उन्होंने कहा कि सुनियोजित ढंग से वारदात को अंजाम दिया गया है। हत्या से जुड़े किसी भी दोषी को नहीं छोड़ा जाएगा।

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 19 Oct 2019 8:19 AM GMT

कमलेश मर्डर पर CM योगी का बड़ा बयान, पढ़ें पूरी खबर
X
कमलेश मर्डर पर CM योगी का बड़ा बयान, पढ़ें पूरी खबर
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: शुक्रवार को राजधानी लखनऊ में हुए हिन्दू नेता कमलेश तिवारी की हत्या के बाद से प्रदेश सरकार पर लगातार विपक्षीदल हमला बोल रहे है। वहीं इसी मामले पर आज डीजीपी ओ पी सिंह ने लखनऊ में प्रेस कॉंन्फ्रेंस कर हत्या से जुड़ी पूरी वारदात को मीडिया से साझा किया। इसके कुछ समय बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी इसी मामले पर बड़ा बयान दिया है।

सीएम योगी ने कही ये बात

सीएम योगी आदित्यनाथ कमलेश तिवारी हत्याकांड पर बोले - जो हुआ वो नहीं होना चाहिए था। आगे उन्होंने कहा कि सुनियोजित ढंग से वारदात को अंजाम दिया गया है। हत्या से जुड़े किसी भी दोषी को नहीं छोड़ा जाएगा। इसके साथ ही सीएम योगी आज कमलेश तिवारी के परिवार वालों से भी मिलेगें।

सीएम योगी ने सख्त रूप दिखाया है। उन्होंने इस मर्डर केस की जांच एनआईए से कराने की बात कही है। उन्होंने कहा कि एसआईटी (एसआईटी) एनआईए को इसमें मदद करेगी।

सूत्रों से बताया जा रहा है कि सीएम योगी शनिवार शाम को महाराष्ट्र में चुनावी जनसभा करने के बाद लौटने पर कमलेश तिवारी के परिजनों से मुलाकात करेंगे। कमलेश तिवारी के परिजनों और लखनऊ प्रशासन के बीच समझौता हो गया है।

समझौते के तहत प्रशासन ने कमलेश तिवारी के परिजनों को आर्थिक मदद देने, बड़े बेटे के लिए सरकारी नौकरी की अनुशंसा करने, लखनऊ शहर के अंदर एक उचित मकान की व्यवस्था करने और परिवार की सुरक्षा के लिए 48 घंटे में उचित व्यवस्था करने की बात कही है।

वैसे तो समझौते में बहुत सारी बातें हैं। लेकिन कमलेश तिवारी के शुभचिंतकों और प्रशासन के बीच जिन मांगों पर सहमति बनी है उनमें कुछ खास मांग ये हैं, कमलेश तिवारी के परिजनों को लखनऊ शहर के अंदर एक उचित मकान की व्यवस्था की जाएगी। इतना ही नहीं परिजनों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए 48 घंटे के अंदर सुरक्षा की व्यवस्था की जाएगी।

देखें वीडियो...

प्रेस कांफ्रेंस में ओपी सिंह ने कही ये बातें...

हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की हत्याकांड पर उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओम प्रकाश सिंह ने लखनऊ में प्रेस कांफ्रेंस कर बड़ा खुलासा किया है। डीजीपी ओम प्रकाश सिंह ने बताया है कि आरोपियों की पहचान कर ली गई है और हत्या के तार गुजरात के सूरत से जुड़े हैं। डीजीपी ने कहा कि 24 घंटे के अंदर हत्या के मामले को सुलझाया है।

यह भी देखें... कमलेश तिवारी के घर पहुंचे डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा, समर्थकों ने लगाये मुर्दाबाद के नारे

डीजीपी की प्रेस कांफ्रेस के बाद गुजरात के डीआईजी ने कहा कि हिरासत में लिए गए तीनों आरोपियों ने गुनाह कबूल कर लिया है। इससे पहले डीजीपी ने कहा कि कमलेश की हत्या की साजिश 2015 में ही रची गई थी। कमलेश तिवारी की हत्या उनके 2015 में दिए गए उनके भड़काऊ भाषण की वजह से हुई है।

उन्होंने कहा कि सभी आरोपी कमलेश तिवारी के बयान से नाराज थे। यूपी पुलिस की तरफ से कोई लापरवाही नहीं बरती गई है। डीजीपी ने कमलेश को सुरक्षा देने के मामले में कहा कि उनको गनर मिला हुआ था।

देखें वीडियो...

यह भी देखें... कमलेश हत्याकांड पर शाम 4.30 बजे गुजरात ATS करेगी प्रेस कांफ्रेंस

कमलेश ने विवादित बयान दिया

बता दें कि हिंदूवाती नेता कमलेश तिवारी ने 2015 में पैंगबर मोहम्मद को लेकर विवादित बयान दिया था जिसके बाद काफी हंगामा मचा था।उन्होंने बताया कि तीन आरोपियों को गुजरात के सूरत से हिरासत में लिया गया है। पकड़े गए आरोपियों के नाम हैं, रशीद अहमद पठान, मौलाना मोहसिन शेख और फैजान।

डीजीपी ने कहा कि रशीद अहमद पठान 21 साल का है और उसको कम्प्यूटर का एक्सपर्ट है, लेकिन वह दर्जी का काम करता है। तो वहीं दूसरे आरोपी का नाम मौलाना मोहसिन शेख है जिसकी उम्र 24 साल है और यह साड़ी की दुकान पर काम करता है।

हिरासत में लिए गए तीसरे आरोपी का नाम फैजान है और उसकी उम्र 21 साल है। यह भी सूरत में ही रहता है और जूते की दुकान में काम करता है। साजिश रचने के आरोप में मुफ्ती नईम काजमी और मौलाना अनवारुल हक को भी हिरासत में लिया गया है।

डीजीपी ओपी सिंह ने कहा-

डीजीपी ओपी सिंह ने खुलासा करते हुए कहा कि पुलिस ने इस हत्या मामले में दो और लोगों को हिरासत में लिया था, लेकिन पूछताछ के बाद उन्हें छोड़ दिया गया है। पुलिस ने कहा कि इन पर अफसरों की नजरें हैं और जरूरत पड़ने पर इनसे फिर से पूछताछ की जाएगी।डीजीपी ने कहा कि इस हत्याकांड के मामले का मास्टरमाइंड राशिद पठान है। पुलिस ने रशीद पठान के साथ दो और लोगों को हिरासत में लिया है। डीजीपी ने कहा कि इस मामले की जांच हर पहलू से कर रहे हैं।

यह भी देखें... कमलेश की इसलिए हुई हत्या! DGP का बड़ा खुलासा, आरोपियों ने गुनाह कबूला

उन्होंने कहा कि एक मौलाना गिरफ्तार किया गया है, एक हिरासत में लिया गया है। जांच के बाद पाया कि मौके पर एक मिठाई का डब्बा मिला और उससे जो हिंट मिले उससे हमने गुजरात एटीएस से संपर्क किया। उन्होंने बताया कि पुलिस को शुरू में ही शक हो गया था कि इस हत्याकांड के तार गुजरात से जुड़े हैं।

तीन अपराधियों को हिरासत में लिया गया। अपराधी खास कपड़े पहनकर आए थे। मौलाना मोहसिन और फैजान हिरासत में लिए गए हैं। राशिद भी हिरासत में लिया गया है।

यह भी देखें... कमलेश तिवारी मर्डर केस: सूरत में सिलवाया गया था भगवा कुर्ता

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story