भाजपा नेता सुरेन्द्र सिंह हत्याकांड मामले में कांग्रेस नेता समेत तीन गिरफ़्तार

अमेठी जनपद के जामो थानाक्षेत्र अंतर्गत बरौलिया गांव में भाजपा नेता सुरेन्द्र सिंह हत्याकांड मामले में बीती रात पुलिस ने तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया है। इनमें एक कांग्रेस नेता भी शामिल है। जिनसे वारदात के बाबत पूछताछ की जा रही है।

बीजेपी नेता सुरेन्द्र सिंह की फ़ाइल फोटो

बीजेपी नेता सुरेन्द्र सिंह की फ़ाइल फोटो

लखनऊ: अमेठी जनपद के जामो थानाक्षेत्र अंतर्गत बरौलिया गांव में भाजपा नेता सुरेन्द्र सिंह हत्याकांड मामले में बीती रात पुलिस ने तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया है। इनमें एक कांग्रेस नेता भी शामिल है। जिनसे वारदात के बाबत पूछताछ की जा रही है।

पुलिस महानिदेशक ओ.पी.सिंह ने भी सख्त कार्रवाई का संकेत दिया था। रविवार की रात पुलिस ने बीडीसी सदस्य रामचन्द्र, नसीम व धर्मनाथ गुप्ता को उठा लिया। जबकि वसीम व गोली की तलाश में कई जगह छापेमारी जारी है। अमेठी पुलिस का कहना है कि शीघ्र ही सभी हत्यारोपी गिरफ्त में होंगे।

ये भी पढ़ें…अमेठी में स्मृति ईरानी की जीत के बाद करीबी पर हमला, गोली मारकर की हत्या

उल्लेखनीय है कि अमेठी से नवनिर्वाचित सांसद स्मृति ईरानी के करीबी माने जाने वाले बरौलिया गांव के पूर्व प्रधान की शनिवार रात करीब 11.30 बजे अज्ञात बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। अपर पुलिस अधीक्षक दयाराम ने रविवार को बताया कि बरौलिया गांव के पूर्व प्रधान स्थानीय भाजपा नेता सुरेंद्र सिंह को शनिवार रात करीब 11.30 बजे अज्ञात बदमाशों ने गोली मार दी।

उन्हें गंभीर हालत में इलाज के लिए लखनऊ भेजा गया, जहां उनकी मौत हो गई। उन्होंने बताया कि सुरेन्द्र सिंह की हत्या के मामले में पुलिस ने रविवार को पांच लोगों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज की।

इस मामले में पुलिस अधीक्षक दयाराम ने बताया कि वसीम, नसीम, गोलू, धर्मनाथ और बीडीसी सदस्य (ब्लाक डेवलपमेंट कमेटी क्षेत्र विकास समिति) रामचंद्र के खिलाफ सुरेन्द्र सिंह की हत्या के मामले में धारा 302 (हत्या) और 120-बी (आपराधिक साजिश) के तहत मुकदमा दर्ज किया था।

ये भी पढ़ें…अमेठी में स्मृति इरानी के करीबी हत्या पर ऐक्शन, पुलिस हिरासत में 7 संदिग्ध

इस घटना की खबर पर रविवार को नवनिर्वाचित सांसद स्मृति ईरानी दोपहर बाद बरौलिया गांव पहुंचीं थीं और सुरेन्द्र सिंह की अंतिम यात्रा में शामिल हुईं। स्मृति ने सिंह के पार्थिव शरीर पर पुष्प चढ़ायीं और पार्थिव शरीर को कंधा भी दिया।

स्मृति ने उनके अंतिम संस्कार में शामिल होने के बाद कहा कि अमेठी को आतंकित करने की नीयत से सुरेंद्र सिंह की हत्या की गई है। अमेठी टूटे, अमेठी झुके, इस घटना के पीछे यही छिपा है। स्मृति ने कहा था कि सुरेंद्र सिंह का हत्यारा पाताल में भी होगा तो उसे खोज निकाला जाएगा।

लोकसभा चुनाव के दौरान जूता वितरण प्रकरण में सुरेंद्र सिंह काफी चर्चा में रहे थे। उन्हें स्मृति ईरानी का करीबी माना जाता था। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने स्मृति ईरानी पर बरौलिया गांव के लोगों को जूते बांटने का आरोप लगाते हुए इसे अमेठी के लोगों का अपमान बताया था।

ये भी पढ़ें…राहुल गांधी ने मानी हार, कहा- स्मृति बहुत प्यार से अमेठी की देखभाल करें