Top

BJP की कहानी फर्जी: इनका दलित विरोधी चेहरा सामने आया, बोले पी.एल.पुनिया

बाराबंकी में अपने आवास पर आज काँग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय प्रावक्ता डॉक्टर पी.एल.पुनिया सत्ताधारी भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि खुफिया एजेंसियों की रिपोर्ट फर्जी और हास्यास्पद है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 5 Oct 2020 7:43 AM GMT

BJP की कहानी फर्जी: इनका दलित विरोधी चेहरा सामने आया, बोले पी.एल.पुनिया
X
BJP की कहानी फर्जी: इनका दलित विरोधी चेहरा सामने आया, बोले पी.एल.पुनिया
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बाराबंकी: खुफिया एजेंसी ने अपनी जाँच में अमेरिका की तर्ज पर हाथरस काण्ड की एक वैबसाइट बना कर दंगा भड़काने और सरकार को बदनाम करने की साज़िश के दावे के बाद काँग्रेस पार्टी सत्ताधारी दल भाजपा पर हमलावर हो गयी है। काँग्रेस ने कहा कि सारी कहानी फर्जी है और हास्यास्पद है। इससे भाजपा का दलित विरोधी चेहरा सामने आया ।

भाजपा बैकफुट पर पहुँच गयी है तब ऐसी कहानी गढ़ी जा रही है-पी.एल.पुनिया

हाथरस काण्ड में पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने के आन्दोलन में सबसे आगे खड़ी दिखाई दे रही कांग्रेस पार्टी ने आज खुफिया एजेंसियों की बेबसाइट के जरिये दंगा भड़काने की साजिश के दावे के बाद आक्रामक हो गयी। बाराबंकी में अपने आवास पर आज काँग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय प्रावक्ता डॉक्टर पी.एल.पुनिया सत्ताधारी भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि खुफिया एजेंसियों की रिपोर्ट फर्जी और हास्यास्पद है उनके अधिकारी नही मानते कि रेप हुआ इसके लिए मेडिकल जाँच का 12 दिन बाद लिया गया और पीड़ित परिवार पर तरह-तरह के आरोप लगाए गए । अब जब भाजपा बैकफुट पर पहुँच गयी है तब ऐसी कहानी गढ़ी जा रही है । इससे भाजपा का असली दलित विरोधी चेहरा सामने आ गया है।

[playlist type="video" ids="686648"]

ये भी देखें: आसमान से गिरेंगे बम: जमीन पर आर्मी करेगी जंग, चीन को हराने की पूरी तैयारी

"जस्टिस फ़ॉर हाथरस विक्टिम"

दरअसल खुफिया एजेंसियों ने रिपोर्ट दी थी कि हाथरस काण्ड के जरिये दंगा भड़काने , बहुसंख्यक समाज के प्रति वैमनस्यता फैलाने और सरकार को बदनाम करने के लिए अमेरिका की तर्ज पर एक वेबसाइट " जस्टिस फ़ॉर हाथरस विक्टिम " नाम की बनाई गयी और इसमें इस्लामिक देशों के कट्टरपंथी संगठनों से फंडिंग कराई गई ।

ये भी देखें: हाथरस में AAP: पीड़िता के गांव पहुंचा प्रतिनिधिमंडल, परिजनों से करेगा मुलाकात

इस काम में देश विरोधी पीएफआई और एसडीपीआई की महती भूमिका रही । इस वेबसाइट के जरिये आपत्तिजनक चीजें डाली गयी जिससे सरकार को बदनाम , बहुसंख्यक समाज के प्रति वैमनस्यता हो और योगी सरकार को दंगे की आग में झोंक दिया जाए । इसी रिपोर्ट पर आज काँग्रेस भड़क उठी और खुफिया एजेंसियों के इस दावे पर सवाल खड़े कर दिए ।

रिपोर्ट-सर्फराज वारसी, बाराबंकी

Newstrack

Newstrack

Next Story