उपचुनाव: राहुल, प्रियंका समेत 30 स्टार प्रचारक, मुस्लिम कट्टरता पर जोर

कांग्रेस ने अल्पसंख्यक मतों का जुगाड़ करने के लिए पार्टी में कट्टर मुस्लिम छवि वाले नेताओं को आगे किया है। अमरोहा की नौगवां सादात और शाहजहां सदर सीट पर मुस्लिम मतदाताओं की निर्णायक भूमिका है।

congress party-rahul gandhi

कांग्रेस नेता राहुल और प्रियंका गांधी की फोटो(सोशल मीडिया)

लखनऊ। कांग्रेस ने सात सीटों पर हो रहे उपचुनाव के लिए 30 स्टार प्रचारकों की भारी भरकम टीम का ऐलान किया है। राहुल गांधी और प्रियंका के साथ कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू के अलावा कट्टर छवि वाले मुस्लिम नेताओं को भी स्टार प्रचारक बनाया गया है।

राहुल और प्रियंका दोनों ही प्रचार करेंगे

उत्तर प्रदेश विधानसभा के लिए 2022 में होने वाले चुनाव का सेमीफाइनल माने जा रहे उपचुनाव में कांग्रेस ने पूरी ताकत झोंक दी है। उपचुनाव में हालांकि पार्टी के राष्ट्रीय नेता अब तक चुनाव अभियान से दूर रहते रहे हैं। 1971 में गोरखपुर की मानीराम सीट से तत्कालीन मुख्यमंत्री त्रिभुवन नारायण सिंह मैदान में थे और उनके खिलाफ कांग्रेस ने अपना युवा प्रत्याशी रामकृष्ण द्विवेदी को उतारा था। इस चुनाव में प्रचार के लिए इंदिरागांधी मानीराम पहुंची और मुख्यमंत्री को हार का सामना करना पड़ा था। तब से आज तक कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व ने कभी उपचुनाव में प्रचार करने की जरूरत नहीं समझी लेकिन सात सीटों के चुनाव में राहुल और प्रियंका दोनों ही प्रचार करेंगे।

कांग्रेस ने तीस स्टार प्रचारकों की जो सूची जारी

कांग्रेस ने तीस स्टार प्रचारकों की जो सूची जारी की है उसमें कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, विधानमंडल दल नेता आराधना मिश्रा मोना, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सलमान खुर्शीद,पीएल पूनिया, प्रमोद तिवारी, राजबब्बर, राजीव शुक्ला, आरपीएन सिंह, जतिन प्रसाद,प्रदीप जैन आदित्य, विवेक बंसल, दीपक सिंह, राजाराम पाल, राकेश सचान, बृजलाल खाबरी, हरेंद्र मलिक, आरके चौधरी, अजय राय , सोहेल अंसारी, नदीम जावेद, राशिद अलवी, चौधरी बिजेंद्र सिंह, बालकु मार पटेल, नसीमुद्दीन सिद्दीकी, गजराज सिंह, इमरान मसूद, प्रमोद कृष्णम और इमरान प्रतापगढ़ी को शामिल किया गया है।

ये भी देखें:  वाह अकांक्षा वाह: बनी NEET सेकेंड टॉपर, घर में आई दोहरी ख़ुशी

मुस्लिम बहुल सीटों के लिए कट्टर चेहरों को उतारा

कांग्रेस ने अल्पसंख्यक मतों का जुगाड़ करने के लिए पार्टी में कट्टर मुस्लिम छवि वाले नेताओं को आगे किया है। अमरोहा की नौगवां सादात और शाहजहां सदर सीट पर मुस्लिम मतदाताओं की निर्णायक भूमिका है। इन सीटों को हथियाने के लिए पार्टी ने इमरान मसूद और इमरान प्रतापगढ़ी जैसे नेताओं को स्टार प्रचारक का दर्जा दिया है।

ये भी देखें:  खतरनाक ये बीमारी: ऐसे पहचाने इसके लक्षण, तुरंत ही अपनाएं ये उपाय

मरान प्रतापगढ़ी तीखे बोलों के लिए पहचाने जाते हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में तालिबानी अंदाज में भाषण करने से मशहूर हुए इमरान मसूद की पश्चिम के मुसलमानों में अच्छी पकड़ बताई जाती है। इमरान प्रतापगढ़ी भी अपनी शायरी और तीखे बोलों के लिए कट्टर मुसलमान के तौर पर पहचाने जाते हैं। कांग्रेस को उम्मीद है कि इससे उसका बिछड़ा मुस्लिम वोट बैंक वापस मिल सकता है। नौगवां सादात में शिया मुस्लिमों के बीच संपर्क के लिए राशिद अलवी को खास तौर पर आगे किया गया है।
अखिलेश तिवारी

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App