×

तेल के दामों में वृद्धि के खिलाफ कांग्रेस का प्रदर्शन, इस पार्टी ने भी दिया साथ

वेस्‍ट यूपी के मेरठ समेत कई स्‍थानों पर पेट्रोल और डीजल के दामों में बढ़ोत्‍तरी के विरोध का सिलसिला थमता नजर नहीं आ रहा है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 1 July 2020 1:19 PM GMT

तेल के दामों में वृद्धि के खिलाफ कांग्रेस का प्रदर्शन, इस पार्टी ने भी दिया साथ
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

मेरठ: वेस्‍ट यूपी के मेरठ समेत कई स्‍थानों पर पेट्रोल और डीजल के दामों में बढ़ोत्‍तरी के विरोध का सिलसिला थमता नजर नहीं आ रहा है। बुधवार को भी डीजल के मूल्‍य में की गई वृद्धि के विरोध में मेरठ में कांग्रेस और राष्ट्रीय लोकदल(रालोद) कार्यकर्ताओं सड़कों पर प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों द्वारा सरकार से तत्‍काल इस वृद्धि को वापस लिए जाने की मांग की गई है। कांग्रेस और राष्‍ट्रीय लोकदल कार्यकर्ता हाथों में तख्तियां लिए हुए थे, जिन पर पेट्रोलियम पदार्थों के मूल्यों में हो रही वृद्धि के विरोध में स्लोगन लिखे हुए थे।

ये भी पढ़ें:सुशांत पर खुलासा: मौत की किसी को पहले से थी खबर, सामने आई ये जानकारी

रालोद के मेरठ जिला अध्यक्ष राहुल देव की अगुवाई में राष्ट्रीय लोकदल कार्यकर्ताओं ने पैट्रोलियम पदार्थों की बढ़ती क़ीमतों के विरोध में महामहिम राष्ट्रपति महोदय को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी को दिया और कीमतें वापिस करने की मांग की। ज्ञापन में कहा गया है कि डीजल के रेट बढ़ने से किसान व आम आदमी की महंगाई ने इस कोरोना काल मे कमर तोड़ दी है डीजल के रेट बढ़ने का सबसे ज्यादा बुरा असर किसान पर खेती कार्य करने के लिए पड़ता है। डीजल के रेट बढ़ने के कारण आम जरूरत की वस्तुओ के दाम माल-भाड़ा बढ़ने के कारण बढ़ जाएंगे।

प्रधानमंत्री जी का 80 हजार करोड लोगो को 5 माह का 5 किलो चावल व गेंहू देने का वादा मात्र एक दिखावा है। 2013 में तत्कालीन सरकार ने 3 रुपये किलो चावल व 2 रुपये किलो गेंहू के रेट पर गरीब परिवारों को देने का कानून बनाया था। इस हिसाब से प्रधानमंत्री जी ने 5 माह में 125 रुपये की एक परिवार की अतिरिक्त मदद की है जो कि गरीब जनता के साथ एक भद्दा मजाक है।

प्रदर्शनकारियों में पूर्वसिंचाई मंत्री डॉ मेराजुद्दीन, मुकेश जैन, सुनील रोहटा, राजकुमार सांगवान, विनय मल्लाहपुर, राममेहर गुर्जर, नरेंद्र खजूरी, सी०पी सिंह, कमलजीत गुर्जर, सोराब ग्यास, अंकुर देओल आदि मुख्य रुप से शामिल थे।

उधर, जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अवनीश काजला के नेतृत्व में जनपद मेरठ की सरधना और मवाना तहसीलो पर बड़ी पेट्रोल-डीजल की दरों को लेकर जबरदस्त प्रदर्शन किया गया। सरधना तहसील पर जिला कांग्रेस कमेटी के कार्यकर्ताओं ने नगर में रिक्शा लेकर धक्का लगाते हुए सभी कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया, उसके बाद तहसील में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए धरना दिया गया। रिक्शा चलाते हुए जिला कांग्रेस कमेटी के कार्यकर्ताओं को पुलिस ने रोकने का प्रयास किया तो कार्यक्रत्तो की सरधना पुलिस से भी तीखी नोकझोंक हुई।

ये भी पढ़ें:पतंजलि पर बड़ा ऐलान: रामदेव की दवा पर आया ये फैसला, अब शुरू काम

धरने को सम्बोधित करते हुऐ जिलाध्यक्ष अवनीश काजला ने कहा की मोदी राज में आम आदमी की महंगाई से कमर टूट गई है, लोगों के पास रोजगार नहीं है, और सरकार ने तेल पर लूट मचा रखी है, उसके चलते आम आदमी और किसान पर महंगाई की डबल मार पड़ रही है। सरकार को तत्काल आम जनता को राहत देनी चाहिए, कार्यकर्ताओं ने सरकार विरोधी नारे लगाते हुए सरधना तहसील में एसडीएम सरधना को ज्ञापन सौंपा।

सुशील कुमार, मेरठ

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story