×

बजट से पहले मोदी सरकार के लिए खुशखबरी, आर्थिक मोर्चे पर आई ये बड़ी खबर

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण शनिवार को संसद में आम बजट पेश करेंगी। इससे एक दिन पहले आर्थिक मोर्चे पर सरकार के लिए अच्‍छी खबर आई है। दरअसल दिसंबर 2019 की कोर इंडस्‍ट्री के आंकड़े जारी किए गए हैं।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 31 Jan 2020 4:29 PM GMT

बजट से पहले मोदी सरकार के लिए खुशखबरी, आर्थिक मोर्चे पर आई ये बड़ी खबर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण शनिवार को संसद में आम बजट पेश करेंगी। इससे एक दिन पहले आर्थिक मोर्चे पर सरकार के लिए अच्‍छी खबर आई है। दरअसल दिसंबर 2019 की कोर इंडस्‍ट्री के आंकड़े जारी किए गए हैं।

इन आंकड़ों से पता चलता है कि लगातार चार महीने की गिरावट पर ब्रेक लग गया है, तो वहीं चालू वित्त वर्ष में अप्रैल-दिसंबर के दौरान कोर इंडस्‍ट्री की ग्रोथ रेट 0.2 प्रतिशत रही जो एक साल पहले इसी अवधि में 4.8 प्रतिशत थी। बता दें कि कोर सेक्‍टर के 8 प्रमुख उद्योग होते हैं।

2019 में 1.3 प्रतिशत रही वृद्धि

कोर इंडस्‍ट्री यानी आठ बुनियादी उद्योग की वृद्धि दर दिसंबर 2019 में सुधर कर 1.3 प्रतिशत रही। हालांकि यह दिसंबर 2018 की 2.1 प्रतिशत वृद्धि के मुकाबले कम है।

यह भी पढ़ें...युवाओं के लिए बहुत बड़ी खुशखबरी, 4 करोड़ लोगों को मिलेगी नौकरी

दिसंबर महीने में कोयला, पेट्रोलियम रिफाइनरी उत्पाद और उर्वरक उद्योग का उत्पादन बढ़ा, लेकिन कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस और बिजली के उत्पादन में गिरावट दर्ज हुई थी। वहीं दिसंबर 2019 में इस्पात और सीमेंट क्षेत्रों के उत्पादन में वृद्धि दर नरम होकर क्रमश: 1.9 प्रतिशत और 5.5 प्रतिशत रही।

यह भी पढ़ें...बजट सत्र 2020: मोदी सरकार 2.0 का इकोनॉमिक सर्वे पेश

बजट से पहले शुक्रवार को आर्थिक सर्वे पेश हुआ। इस सर्वे रिपोर्ट में देश की अर्थव्‍यवस्‍था पर कई अहम आंकड़े पेश किए गए हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि वित्त वर्ष 2020-21 में GDP ग्रोथ रेट 6-6.5 प्रतिशत के बीच रहेगी।

यह भी पढ़ें...तारीख पर तारीख आखिर कब तक! निर्भया के दोषियों की फांसी टली

सर्वे रिपोर्ट में कहा गया है कि वित्त वर्ष 2020-2025 के बीच सरकार इंफ्रा सेक्‍टर में 102 लाख करोड़ का निवेश करेगी। सर्वे रिपोर्ट में सलाह दी गई है कि अगले तीन साल में इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर पर 1.4 ट्रिलियन डॉलर यानी 100 लाख करोड़ के निवेश की जरुरत है ताकि इकोनॉमी की ग्रोथ में यह बाधा न बने।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story