झांसी के ग्राम मढ़ा में कोरोना की दस्तक से मचा हड़कंप

गरौठा तहसील में ग्राम मढ़ा में कोरोना संक्रमित मरीज मिलने से हड़कंप मच गया। गरौठा से प्रशासनिक अधिकारी एवं कर्मचारी ग्राम मढ़ा पहुंचे।

झांसी: जिले में आज कई बड़ी ख़बरें सामने आईं हैं। एक ओर जहां फीस में बढ़ोत्तरी को लेकर एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष की अगुआई में पूरे बुंदेलखंड में एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने अपने घरों से विरोध जताया और कुलपति से फीस कम करने की मांग की। वहीं बुंदेलखंड अभियांत्रिकी एवं प्रौद्योगिकी संस्थान, झांसी में कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग एवं इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी विभाग द्वारा विषय “क्लाउड कंप्यूटिंग एंड इट्स एप्लीकेशन” पर एक वेबीनार का आयोजन किया गया। तो वहीं झांसी जिले के गरौठा तहसील के एक गांव में कोरोना संक्रमित मरीज मिलने से पूरे गांव में दहशत फ़ैल गई।

एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने दी आंदोलन की धमकी

एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष नफीस मकरानी के नेतृत्व में पूरे बुंदेलखंड में एनएसयूआई के कार्यकर्ता लगातार अपने-अपने घरों से ही कुलपति से फीस वृद्धि को वापस लेने की मांग कर रहे हैं। इसी के चलते कल नफीस मकरानी के नेतृत्व में और जिलाध्यक्ष अज़हर खान की अध्यक्षता में एनएसयूआई प्रदेश कार्यालय पर कार्यकर्ता एक दिन के अनशन पर बैठे और कुलपति से एक आखरी बार विनम्रता पूर्वक फीस वृद्धि को वापस लेने की मांग की।

ये भी पढ़ें-     चीन फड़फड़ायाः मंडराए फाइटर, सेना हर स्थिति के लिए तैयार

जिलाध्यक्ष अज़हर खान का कहना है कि यदि कुलपति द्वारा फीस वृद्धि पर विचार विमर्श कर यह फरमान वापस नही लिया गया और यदि इस बीच किसी भी छात्र छात्रा ने दवाब में आकर कोई भी गलत कदम उठाया तो उसके ज़िम्मेदार सिर्फ कुलपति होंगे और बुंदेलखंड एनएसयूआई आगामी दिनों में उग्र आंदोलन को बाध्य होगी।

कोरोना संक्रमित मिलने से गांव में हड़कंप

गरौठा तहसील में जलालपुरा द्वारकापुरी के बाद अब ग्राम मढ़ा में कोरोना संक्रमित मरीज मिलने से हड़कंप मच गया। गरौठा से प्रशासनिक अधिकारी एवं कर्मचारी ग्राम मढ़ा पहुंचे। ग्राम मढ़ा निवासी लाल सिंह पुत्र देशराज उम्र 42 वर्ष काफी लंबे समय से बीमार चल रहा है उसका पहले ग्वालियर में इलाज चल रहा था। इसके बाद वह इलाज कराने के लिए झांसी गया था। वहां कोरोना की जांच के लिए उसका सैंपल लिया गया जांच में वह कोरोना से संक्रमित पाया गया। संक्रमित मरीज मिलने की वजह से ग्राम मढ़ा को हॉटस्पॉट घोषित कर सील कर दिया गया है। मुख्य मार्ग पर बेरियल इसके अलावा आने जाने वाले सभी रास्तों पर बैरिकेटिंग लगाकर सभी रास्ते बंद कर दिए गए है।

ये भी पढ़ें-     हड़कम्पः इस जिले के सीएमएस हुए कोरोना पॉजिटिव, अब क्या होगा

बाहर से आने वाला कोई भी व्यक्ति ग्राम में नहीं जा सकता है और ना ही इस ग्राम का व्यक्ति ग्राम से बाहर जा सकता है। पूरे ग्राम की स्वास्थ्य विभाग की टीमों द्वारा विनोद पटेल सुपरवाइजर के नेतृत्व में घर-घर जाकर सर्वे की जा रही है। इस मौके पर उप जिलाधिकारी गरौठा अशोक कुमार सिंह, क्षेत्राधिकारी मनीष चंद्र सोनकर ,कोतवाली प्रभारी निरीक्षक सभाजीत मिश्रा ,ग्राम विकास अधिकारी सुनील तिवारी, विनीत विश्वकर्मा, महेंद्र कुमार, लेखपाल निरंजीत प्रजापति, जितेंद्र यादव सिपाही डेविड, भोलेन्द्र, आमोद कुमार आदि सहित अन्य विभागों के कई कर्मचारी मौजूद रहे।

क्लाउड कंप्यूटिंग एंड इट्स एप्लीकेशन विषय पर वेबीनार का आयोजन

बुंदेलखंड अभियांत्रिकी एवं प्रौद्योगिकी संस्थान, झांसी में कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग एवं इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी विभाग द्वारा विषय “क्लाउड कंप्यूटिंग एंड इट्स एप्लीकेशन” पर एक वेबीनार का आयोजन किया गया। वेबीनार का शुभारंभ इंजीनियर शशांक गुप्ता ने वेबीनार में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़े सभी संकाय सदस्यों, एक्सपर्ट्स एवं छात्र-छात्राओं का स्वागत किया । इं शशांक गुप्ता ने क्लाउड कंप्यूटिंग का आज के परिवेश में महत्त्व समझाते हुए कहा कि कोरोना महामारी के चलते जहां लोग अपने घरों पर रहने को मजबूर हैं, तो वहीं लोग क्लाउड कंप्यूटिंग के माध्यम से ही अपना कार्य घर में रहकर कर पा रहे हैं।

आज चाहे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कक्षाएं कराई जा रही हों चाहे गोष्ठी आयोजित की जा रही हैं, यह सब क्लाउड कंप्यूटिंग के कारण ही संभव हो सका है। इसी क्रम में विभागाध्यक्ष प्रो ए के सोलंकी ने सभी एक्सपर्ट्स, संकाय सदस्यों एवं विद्यार्थियों को क्लाउड कंप्यूटिंग का आज के परिवेश में महत्व समझाया तथा आश्वासन दिया कि आगामी दिनों में लॉक डाउन के कारण विद्यार्थी संस्थान में आने में समर्थ नहीं है ऐसे में उनका शिक्षण कार्य बाधित नहीं होगा एवं इस प्रकार के अन्य कार्यक्रमों का वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समय-समय पर आयोजन किया जाता रहेगा।

ये भी पढ़ें-     कोरोना से खतरा: इस ब्लड ग्रुप वाले हैं निशाने पर, यहां जानें लक्षण और बचाव के उपाय

जिससे विद्यार्थियों को और भी महत्वपूर्ण विषयों का ज्ञान वर्धन किया जा सके। इसके उपरांत वेबीनार के एक्सपर्ट इं गौरव मानध्यान ने सभी छात्र छात्राओं को क्लाउड कंप्यूटिंग विषय पर संबोधित किया। उन्होंने कई रियल टाइम एग्जांपल देकर क्लाउड कंप्यूटिंग के महत्व को समझाया। उन्होंने भविष्य में विद्यार्थियों को क्लाउड कंप्यूटिंग कैरियर ऑप्शन की तरह चुनने के लिए प्रोत्साहित किया। अंत में विभाग के संकाय सदस्य डॉ शैलेंद्र प्रताप सिंह ने धन्यवाद ज्ञापन प्रस्तुत किया। कार्यशाला में विभाग के डॉ यशपाल सिंह, डॉ संजय गुप्ता, डॉ रघुनाथ वर्मा, इं अनुज यादव, इं शिवम पांडे आदि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़े।

बी के कुशवाहा