×

वाराणसी में भी लौटा कोरोना वायरस, बढ़ते आंकड़ों ने उड़ाई प्रशासन की नींद

पिछले कुछ दिनों से लगभग शून्य पर पहुंच चुके कोरोना के आंकड़े अब दहाई को छूने लगे हैं। कोरोना के यू टर्न से जिला प्रशासन भी दहशत में हैं।

Newstrack
Updated on: 15 March 2021 4:43 PM GMT
वाराणसी में भी लौटा कोरोना वायरस, बढ़ते आंकड़ों ने उड़ाई प्रशासन की नींद
X
जिला प्रशासन ने गुरुग्राम नगर निगम के संयुक्त आयुक्त-2 जीतेंद्र कुमार को कंटेनमेंट जोन का क्लस्टर इंचार्ज नियुक्त किया है।
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

वाराणसी: ठीक एक साल बाद कोरोना के आंकड़ें लोगों को डराने लगे हैं। कोरोना की वैक्सीन भले ही आम लोगों के लिए सुलभ हो गई है, लेकिन खतरा अभी टला नहीं है। कम से कम पिछले एक हफ्ते के कोरोना के आंकड़ों से तो यही जाहिर हो रहा है। पिछले कुछ दिनों से लगभग शून्य पर पहुंच चुके कोरोना के आंकड़े अब दहाई को छूने लगे हैं। कोरोना के यू टर्न से जिला प्रशासन भी दहशत में हैं।

आंकड़ों में आए उछाल से परेशान जिला प्रशासन

कोरोना के नए स्टेन से पूरी दुनिया खौफजदा है। भारत के कई हिस्सों में कोरोना के मामले फिर से बढ़ने लगे हैं। महाराष्ट्र के कई जिलों में तो लॉकडाउन करना पड़ा है। कोरोना का असर उत्तर भारत में भी पड़ा है। अगर बनारस की बात करें तो पिछले एक हफ्ते में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ने लगी है। आलम ये है कि पिछले दो दिनों से ये संख्या 10-15 तक पहुंच चुकी है। त्यौहारों के सीजन में कोरोना के बढ़ते मामलों ने जिला प्रशासन को परेशानी में डाल दिया है।

ये भी पढ़ें: CM योगी का विपक्ष पर हमला, एनकाउंटर पर सवाल उठाने वाले लोगों को बरगला रहे

स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया अलर्ट

कोरोना का संक्रमण अब धीरे-धीरे बढ़ने लगा है। इसको लेकर स्थानीय स्तर पर स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो गया है। अस्पतालों, स्वास्थ्य केंद्रों पर ओपीडी के साथ ही टीकाकरण में लगे स्वास्थ्यकर्मियों को भी कोरोना प्रोटोकॉल का पालन कड़ाई से करने को कहा गया है। साथ ही जांच की प्रक्रिया भी तेज से करने का निर्णय लिया गया है। बाबतपुर एयरपोर्ट पर दूसरे राज्यों से आने वालों की थर्मल स्क्रीनिंग, कोरोना जांच कराने के साथ ही जिला महिला अस्पताल, मंडलीय अस्पताल, बीएचयू आदि जगहों पर हर दिन स्टेटिक बूथ लगाकर जांच कराई जा रही है।

ये भी पढ़ें: UP: एक अप्रैल से 15 जून तक होगी गेहूं खरीद, ऑनलाइन टोकन की व्यवस्था

औसतन 2000 से 2500 जांच एक दिन में हो रहा है और इतनी ही रिपोर्ट मिल रही है। पिछले महीने तक एक्टिव मरीजों की संख्या भी कम होकर 30 से 40 तक पहुंच गई थी, लेकिन अब मरीजों की संख्या बढ़ने की वजह से यह 70 तक पहुंच गई है। सीएमओ डॉ. वीबी सिंह ने बताया कि बीएल डब्ल्यू, कंदवा, बेनीपुरकला, महावीर हाइटस लहरतारा, रथयात्रा, अर्दली बाजार, जगतगंज, महमूरगंज, हबीबपुरा, शाकुंतलम अपार्टमेंट शिवपुर में मरीज मिले हैं। इसके अलावा दो संक्रमित मरीजों का कोई रिकार्ड नहीं मिला है, जिसको लेकर स्वास्थ्य विभाग परेशान है।

रिपोर्ट: आशुतोष सिंह

Newstrack

Newstrack

Next Story