×

कोरोना के न्यू स्ट्रेन के बीच UK से यूपी लौटे दर्जनों यात्री, 50 में से कई लोगों के फोन बंद

स्वास्थ्य विभाग जल्द एक नोटिस जारी कर रहा है। अगर इस नोटिस का जवाब ब्रिटेन से आये लोग तत्काल नहीं देते हैं तो पुलिस को सूचित करके इनके फोन नंबरों के आधार पर लोकेशन ट्रेस की जाएगी और कॉल हिस्ट्री के आधार पर इनको ढूंढा जाएगा।

Newstrack
Updated on: 24 Dec 2020 1:45 PM GMT
कोरोना के न्यू स्ट्रेन के बीच UK से यूपी लौटे दर्जनों यात्री, 50 में से कई लोगों के फोन बंद
X
यूपी के महानिदेशक स्वास्थ्य डॉ डीएस नेगी ने कहा कि आज की तारीख में हम रोजाना डेढ़ लाख से ज्यादा जांचें कर रहे हैं और हमारी जांच अब तक दो करोड़ से ऊपर पहुंच गई है।
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: कोरोना के नए खतरनाक वैरिएंट को लेकर उत्तर प्रदेश में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग की तरफ से सभी जिलों के सीएमओ को निर्देश जारी किया गया है कि ब्रिटेन से आने वाले लोगों की ट्रेसिंग और ट्रेकिंग का काम तेजी से पूरा कर लिया जाए।

एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया की तरफ से ब्रिटेन से आने वाले लोगों की ट्रेसिंग और ट्रेकिंग के लिए 50 लोगों के नामों की लिस्ट स्वास्थ्य विभाग को सौंपी गई थी।

लेकिन हैरान कर देने वाली बात ये कि स्वास्थ्य विभाग ने जब दिए गए नंबरों पर फोन करना शुरू किया तो उसमें से आधे से ज्यादा नंबर बंद आ रहे हैं।

कोरोना का न्यू स्ट्रेन: अगले साल से भारत में शुरू टीकाकरण अभियान, उठे ये सवाल

CORONA VIRUS कोरोना वायरस (फोटो:सोशल मीडिया)

पुलिस की ली जाएगी मदद

ऐसे में ईमेल आईडी का सहारा लेते हुए तमाम लोगों को स्वास्थ्य विभाग एक नोटिस जारी कर रहा है। अगर इस नोटिस का जवाब ब्रिटेन से आये लोग तत्काल नहीं देते हैं तो पुलिस को सूचित करके इनके फोन नंबरों के आधार पर लोकेशन ट्रेस की जाएगी और कॉल हिस्ट्री के आधार पर इनको ढूंढा जाएगा।

इस बारें में उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ मेजर देवेंद्र सिंह नेगी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश का स्वास्थ्य विभाग कोरोना वायरस के सेकंड वैरिएंट से लड़ने के लिए पूरी तरह से तैयार है।

सरकार का हाई अलर्ट: सावधान कोरोना के नए स्ट्रेन से, इन राज्यों में मिले संक्रमित

corona कोरोना वायरस (फोटो:सोशल मीडिया)

यूपी में रोजाना डेढ़ लाख से ज्यादा जांचें

उन्होंने साफ किया कि कोरोना के पहले वेब में जब हमने हालात को सुधार लिया था तो दूसरे वेव से लड़ने के लिए भी हम पूरी तरह से कटिबद्ध और तैयार हैं। डॉ नेगी ने कहा कि आज की तारीख में हम रोजाना डेढ़ लाख से ज्यादा जांचें कर रहे हैं और हमारी जांच अब तक दो करोड़ से ऊपर पहुंच गई है।

उन्होंने कहा कि "लोगों को करोना से बचाव के थंब रूल का पालन अभी भी करना होगा। हालांकि उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग ने जांच, ट्रेसिंग ,बेड की संख्या और आईसीयू के लिए व्यापक इंतजाम करके रखा है।

दिल्ली में कब, कैसे और कितने लोगों को लगाई जाएगी कोरोना की वैक्सीन, यहां जानें

Newstrack

Newstrack

Next Story