सुलतानपुर: घर पर सो रहे दंपत्ति की इलेक्ट्रिक तार गिरने से हुई मौत, डीएम ने दिए जांच के आदेश

बिजली विभाग की लापरवाही को लेकर ग्रामीण हॉस्पिटल में उग्र हो गए और नारे बाजी करने लगे। अंत में पुलिस ने समझा-बुझाकर मामला शांत किया। डीएम सी इंदुमति ने मामले का स्वयं संज्ञान लेते हुए घटना की उच्चस्तरीय जांच कराकर दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।  

सुलतानपुर: कोतवाली देहात थाना क्षेत्र के भुलकी गांव में उस समय कोहराम मच गया, जब घर पर सो रहे दंपत्ति पर इलेक्ट्रिक सप्लाई का एक तार उन पर गिर पड़ा। तार गिरने से पति-पत्नी तरह झुलस गए। आनन-फानन में लोग उन्हें लेकर हॉस्पिटल पहुंचे जहां डॉक्टर ने दोनो को मृत घोषित कर दिया।

यह भी पढ़ें: गाइडलाइन का पालन नहीं किया तो नहीं कर पाएंगे हज यात्रा

ऐसे में बिजली विभाग की लापरवाही को लेकर ग्रामीण हॉस्पिटल में उग्र हो गए और नारे बाजी करने लगे। अंत में पुलिस ने समझा-बुझाकर मामला शांत किया। डीएम सी इंदुमति ने मामले का स्वयं संज्ञान लेते हुए घटना की उच्चस्तरीय जांच कराकर दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़ें: मोदी ही नंबर वन नहीं, योगी भी हैं नंबर वन सीएम, जानिए कैसे

जानकारी के अनुसार, कोतवाली देहात थाना क्षेत्र के भुलकी गांव निवासी अशोक कुमार और उनकी पत्नी राजकुमारी घर पर थे। अचानक उनके ऊपर बिजली का तार गिर पड़ा, जिसे वे दोनों गंभीर रूप से झुलस गए। गांववासियों ने आनन-फानन में उन्हें जिला अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टर ने चिकित्सीय परीक्षण के बाद दोनों को मृत घोषित कर दिया।

यह भी पढ़ें: नेशनल डॉक्टर्स-डे स्पीच लैंग्वेज पैथोलोजिस्ट

दोनों की मौत की सूचना पर जिला अस्पताल में कोहराम मच गया। ग्रामीण प्रदर्शन पर आमादा हो गए, मुर्दाबाद के नारे लगने लगे। ग्रामीण मांग करने लगे की जूनियर इंजीनियर समेत आला अफसरों को निलंबित किया जाए। घटना की गंभीरता को देखते हुए नगर कोतवाली पुलिस मौके पर मुस्तैद हो गई है।

यह भी पढ़ें: सर्वशिक्षा अभियान का सच: पहले ही दिन स्कूल में बच्चों से करवाई गई मजदूरी

इमरजेंसी कक्ष में तैनात चिकित्सक मनीष यादव ने बताया कि दोनों को जिला अस्पताल लाया गया। जहां परीक्षण के दौरान उन्हें मृत पाया गया। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है। उधर पुलिस अधिकारी घटना के बारे में कोई जवाब देने से इनकार कर रहे हैं । बिजली विभाग के अफसर मामले से दूरी बना लिए हैं।

यह भी पढ़ें: यूपी: अब हर गांव में होंगे ट्री गार्जियन, जानिए क्या हैं इनके कार्य

ग्रामीणों की मानें तो उन्होंने अपना सीयूजी फोन भी बंद कर लिया है। वही रात ही में जिले की तेज तर्रार डीएम सी इंदुमति ने मामले को संज्ञान में लेते हुए मृतक के आश्रितों को तत्काल अनुमन्य सहायता हेतु उप जिलाधिकारी सदर रामजी लाल को दुर्घटना के कारण विद्युत विभाग से मिलने वाली अनुमन्य सहायता तत्काल उपलब्घ कराने के लिए निर्देशित किया।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App