×

किसानों का बड़ा नुकसान: CM योगी के निर्देश पर आकलन में जुटा कृषि विभाग

भारी बारिश के कारण सफेद मटर भी 50 फीसदी तक बर्बाद हो गई है। आलू की फसल नुकसान का सीधा असर बाजारों में देखने को मिला। बारिश के चलते आलू की खोदाई न होने से बाजार में आलू प्रति किलो 25 रुपये तक बिक रहा है।

SK Gautam

SK GautamBy SK Gautam

Published on 18 Jan 2020 11:04 AM GMT

किसानों का बड़ा नुकसान: CM योगी के निर्देश पर आकलन में जुटा कृषि विभाग
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

बाराबंकी: जिले में बीते दिनों लगातार हुई बारिश से आलू के साथ ही तिलहन में सरसों और दलहन में चना, मटर, मसूर समेत कई फसलों को नुकसान पहुंचा है। आलू के खेतों में पानी भरने से उसके सड़ने की आशंका से किसान परेशान हैं। वहीं फुलियाती सरसों खेतों में गिरकर बर्बादी की कगार पर पहुंच गई है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आकलन का दिया निर्देश

भारी बारिश के कारण सफेद मटर भी 50 फीसदी तक बर्बाद हो गई है। आलू की फसल नुकसान का सीधा असर बाजारों में देखने को मिला। बारिश के चलते आलू की खोदाई न होने से बाजार में आलू प्रति किलो 25 रुपये तक बिक रहा है। वहीं दूसरी तरफ प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने फसलों को हुए नुकसान का आकलन करने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं।

दो दिनों के लगातार बारिश के कारण किसानों का भारी नुकसान

जिले के किसानों की मानें तो आलू, सरसों की फसल में बारिश के चलते बड़ा नुकसान हो गया है। उनकी सारी फसल पानी में डूब गई है। फसल से पानी निकल नहीं पा रहा और जिससे फसल पूरी सड़ जाएगी। जिससे आलू और सरसों नें रोग लग जाएंगे। वहीं कुछ किसानों का कहना है कि उनके खेत में गेहूं की फसल लगी हुई है। इस बारिश से उनकी फसल को काफी फायदा होगा। किसानों का कहना है कि बारिश से फसल बर्बाद होने के बाद उनकी उम्मीद सरकार से है कि वही कुछ मदद करे।

ये भी देखें : जियो का धमाकेदार प्लान: अब सिर्फ 98 रूपये में अनलिमिटेड वॉयस कॉलिंग

किसानों के लिए टोल फ्री नंबर जारी किया

वहीं जिला कृषि अधिकारी संजीव कुमार ने बताया कि जनपद में गेहूं, सरसों और आलू की फसलें फसल बीमा के अंतर्गत आच्छादित हैं। जिन किसानों ने अपनी फसलों का बीमा करा रखा है उनके लिये हमने टोल फ्री नंबर जारी किया है।

किसान जिला कृषि अधिकारी के कार्यालय में आकर, कार्यालय उपनिदेशक में आकर या जिस बैंक से बीमा लिया है, वहां जाकर एप्लीकेशन दे सकते हैं। उन मामलों का हम सर्वे करा लेंगे। संजीव कुमार ने बताया कि फिलहाल जिले में बारिश से ज्यादा नुकसान नहीं दिख रहा है। लेकिन फिर भी जिनका नुकसान हुआ है उनकी मदद की जाएगी।

SK Gautam

SK Gautam

Next Story