रक्षामंत्री राजनाथ सिंह बोले- भाईचारे की मिसाल थे कल्बे सादिक

राजधानी लखनऊ के सांसद और रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने जाने माने शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे सादिक के निधन पर दुख प्रकट करते हुए कहा कि वे आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल बोर्ड के उपाध्यक्ष रहे और हमेशा समाज मै भाईचारे को मजबूत करने पर बल दिया।

rajnath singh- maulana sadik

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह बोले- भाईचारे की मिसाल थे कल्बे सादिक

लखनऊ: राजधानी लखनऊ के सांसद और रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने जाने माने शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे सादिक के निधन पर दुख प्रकट करते हुए कहा कि वे आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल बोर्ड के उपाध्यक्ष रहे और हमेशा समाज में भाईचारे को मजबूत करने पर बल दिया। मौलाना कल्बे सादिक एक नेक और अजीम शख्सियत थे। मैं उनके परिवार और चाहने वालो के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं।

इसके साथ ही राजनाथ सिंह ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और सांसद अहमद पटेल के अचानक निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि वह एक बहुत ही सुलझे हुए नेता थे जिन्होंने अपनी पार्टी और जनता के लिए सराहनीय योगदान दिया। अहमद भाई ने पार्टी लाइन से ऊपर उठकर अपने मित्र बनाए। उनके परिवार और शुभचिंतकों के प्रति संवेदनाए व्यक्त करता हूं।

ये भी पढ़ें: योगी मंत्रिमंडल की बैठक, 600 किलोमीटर गंगा एक्सप्रेस वे यूपीडा के हवाले

हर धर्म और राजनीतिक दल से अच्छे सम्बन्ध

कल्वे सादिक का हर धर्म और राजनीतिक दल से अच्छे सम्बन्ध थे। इस्लाम के बड़े चेहरे के रूप में हो, उसके मेहमानों में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक केसी सुदर्शन और अटल बिहारी वाजपेयी जैसे नेता भी रहे हों तो उस शख्सियत की गहराई समझी जा सकती है। एक नहीं अनेक प्रसंग हैं, जब उन्होंने विदेशों में भारत की तारीफ की।

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती ने वरिष्ठ कांग्रेसी नेता अहमद पटेल और शिया धर्मगुरू डॉ. कल्बे सादिक के निधन पर शोक व्यक्त किया है और परिजनो के प्रति संवेदना व्यक्त की है। मायावती ने बुधवार को ट्वीट किया कि वरिष्ठ कांग्रेसी नेता व देश की राजनीति का जाना-पहचाना नाम  अहमद पटेल के आज सुबह निधन की खबर अति-दुरूखद। उनके परिवार व मित्रों के प्रति मेरी गहरी संवेदना। उनका व्यक्तित्व बहुत सादा व काफी मिलनसार था। भारतीय राजनीति में उनकी गहरी छाप को हमेशा अच्छी नजर से देखा व याद किया जाएगा।

ये भी पढ़ें: डॉ. कल्बे सादिक नकवी भारत-पाक महासंघ के हिमायती थे

बेटे ने दी ये जानकारी

इससे पहले शिया धर्म गुरू और ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के उपाध्यक्ष मौलाना कल्बे सादिक को बुधवार लखनऊ के छोटे इमामबाड़ा स्थित गुफरान मॉब में सुपुर्द ए खाक कर दिया गया। बता दें कि मंगलवार रात 10 बजे लखनऊ के एरा मेडिकल कॉलेज में उनका निधन हो गया था। उनके बेटे कल्बे सिब्तैन नूरी ने बताया कि 17 नवंबर को सांस लेने में दिक्कत व निमोनिया के चलते उन्हें अस्पताल में भर्ती करया गया था। वे निमोनिया के साथ यूटीआई और सेप्टिक शॉक की समस्या से जूझ रहे थे और वेंटिलेटर सपोर्ट पर थे।

बुधवार को लखनऊ के यूनिटी कॉलेज में नमाज ए जनाजा पढ़ी गई। जिसमें प्रदेश के उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा, कानून मंत्री बृजेश पाठक, लखनऊ की महापौर संयुक्ता भाटिया, महंत देव्या गिरी, पूर्व मंत्री अम्मार रिजवी सहित कल्बे सादिक के हजारों समर्थक मौजूद थे।

श्रीधर अग्निहोत्री 

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App