दिल्ली में एक चौकीदार और लखनऊ में ठोकीदार है: अखिलेश यादव

अखिलेश ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि महागठबंधन ने पहले से छठवें चरण तक आपका सफाया किया है और सातवें चरण में पूरी तरह सफाया कर देगा ।

मिर्जापुर: उत्तर प्रदेश के मिर्ज़ापुर में महागठबंधन की जनसभा में भीड़ नहीं जुटी, सपा बसपा और राजद की संयुक्त जनसभा भी नहीं जुटा सकी भीड़। 50 हज़ार की क्षमता वाले ग्राउंड में मात्र 10 हज़ार के करीब ही जुटी भीड़, भीड़ न जुटने का एक कारण भीषण गर्मी भी हो सकती है । लोग छांव खोजते आये नजर।

आपको बता दें की सपा के उम्मीदवार रामचरित्र निषाद के समर्थन में चुनावी जनसभा को संबोधित करने पहुचे थे पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और जयंत चौधरी, अखिलेश ने सभा को संबोधित करते हुए मोदी और योगी पर किया बडा हमला कहा दिल्ली में एक चौकीदार है और लखनऊ में ठोकिदार है।

अखिलेश ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि महागठबंधन ने पहले से छठवें चरण तक आपका सफाया किया है और सातवें चरण में पूरी तरह सफाया कर देगा ।

ये भी देखें : फिल्म ‘सू्र्यवंशी’ में कैटरीना कैफ को लेकर रोहित शेट्टी ने किया ये बड़ा खुलासा

क्या आप लोगों ने कभी किसी मुख्यमंत्री को सुना होगा कि आवास धुलवाया हो हमारे बाबा मुख्यमंत्री ने गंगाजल से आवास धुलवाया हम को बदनाम करने के लिए कहा कि टोटी निकाल कर ले गए। जनता का आशीर्वाद मिलेगा समय बदलेगा तो वहीं से चिलम निकलेगी चिलम के बारे में हम ज्यादा नहीं कहेंगे आप सब जानते हैं यह हमारी आंख की सरकार नहीं है हमारी और आपके बारे में न जाने क्या क्या समझते हैं यह लोग।

आपने कभी हमारे मुख्यमंत्री का भाषण सुना वह भाषण में कहते हैं ठोक दो ठोकने से कानून व्यवस्था ठीक हो जाएगी ठोकने का असर क्या हुआ हमारी पुलिस नहीं जानती कि किसे ठोकना है और जनता को ही ठोक देती है और जब जनता को मौका मिलता है तो पुलिस को ठोक देती है

किसानों को अपने खेतों की रखवाली जानवरों के चलते करनी पड़ रही है हरदोई में एक साथी नाराज हो गया और पुलिस का सुरक्षा घेरा तोड़ हेलीपैड पर पहुंच गया मुख्यमंत्री से शिकायत करने पर मिल नहीं पाया।

प्रधानमंत्री आतंकवाद खत्म करने की बात करते हैं परंतु मिर्जापुर में तो हमें कहीं आतंकवाद नहीं दिखाई देता एक जवान जो आप के खिलाफ चुनाव लड़ना चाह रहा था उसका सामना नहीं कर पाए किसी के धोखे में मत रहना चाय वाला बन कर आए थे और चाय में न जाने कौन सा नशा था लोगों ने भरोसा कर लिया।

बाबा मुख्यमंत्री ने लोगों को लैपटॉप नहीं दिया क्योंकि बाबा खुद ही लैपटॉप नहीं चलाना जानते तो लोगों को क्यों दें इस सरकार ने समाजवादी पेंशन योजना को बंद कर दिया अगर हमें मौका मिला तो हम 500 की जगह ₹3000 प्रतिमाह पेंशन देंगे।

ये भी देखें : http://फिल्म ‘सू्र्यवंशी’ में कैटरीना कैफ को लेकर रोहित शेट्टी ने किया ये बड़ा खुलासा

आपको जानकारी के लिए बता दूं कि मिर्जापुर उद्योग विहीन जिला है यहां का केवल एकमात्र व्यवसाय खनन और परिवहन है लेकिन शास्त्री शेतु पुल को बंद करने से आवागमन बाधित है इसलिए व्यापारियों में आक्रोश है।

यहां का प्रमुख व्यवसाय पीतल उधोग और कालीन था लेकिन किसी ने इसका ध्यान नही दिया आज शून्य की स्थिति हो गयी है। यहां पर स्वास्थ्य सेवाएं बद से बदतर है सिटी स्कैन,एक्सरे,डॉक्टरों की प्रमुख समस्या है तथा युवा बेरोजगार है क्योकि यहां पर कोई औधोगिक क्षेत्र नही है यहां के ज्यादातर युवा मजदूर बाहर अन्य बड़े शहरों में पलायन कर अपना जीवन यापन करते है।

मिर्ज़ापुर का कुछ भाग पठारी है जहां पर पेय जल भी एक प्रमुख मुद्दा है पेय जल की समस्या से जूझ रहा है।जिसमें  मडिहान,हलिया,लालगंज,चुनार,पहाड़ी ब्लॉक में पेय जल के लिए दूर-दूर से ग्रामीण डिब्बे बाल्टी में पानी भर कर लाते है।