काबिले तारीफ़: प्रधान ने निजी स्कार्पियो को बनाया एंबुलेंस, फ्री में कर रहे सेवा

कोरोना महामारी के चलते अगर सरकारी एम्बुलेंस के आने में समय लगे तो इस ग्राम एम्बुलेंस से व्यक्ति को अस्पताल पहुंचाया जाए। ग्राम प्रधान ने इस अपील को अमल में लिया। उनकी इस पहल की सभी प्रशंसा कर रहे है।

रायबरेली: सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली के एक ग्राम प्रधान बधाई का पात्र है। इस ग्राम प्रधान ने सेवा भाव से अपनी नई स्कार्पियो गाड़ी को ग्रामीणों के लिए एंबुलेंस बना दिया है। ताकि लॉकडाउन के दौरान इमरजेंसी लोगों को अस्पताल तक जाने मे कोई समस्या न हो।

अपनी नई स्कार्पियो को बनाया एम्बुलेंस

जानकारी के अनुसार जिले के महराजगंज तहसील के एसडीएम विनय कुमार सिंह ने लॉकडाउन को देखते हुए क्षेत्र के सभी प्रधानों से अपील किया था  कि वे सभी अपने गांवों में एक गाड़ी को एम्बुलेंस के रूप में इस्तेमाल करें।

जिसका नाम ग्राम एम्बुलेंस के रूप में किया जाए ताकि आपातकालीन व्यवस्था में अगर गांव का कोई व्यक्ति बीमार पड़ता है तो उसको तत्काल अस्पताल पहुंचाया जा सके।

ये भी देखें: जीतें 1 लाख रुपए: सिर्फ कोरोना पर शेयर करें अपने Ideas, मौका कमाने का

इस पहल की सभी कर रहे हैं प्रशंसा

कोरोना महामारी के चलते अगर सरकारी एम्बुलेंस के आने में समय लगे तो इस ग्राम एम्बुलेंस से व्यक्ति को अस्पताल पहुंचाया जाए। ग्राम प्रधान ने इस अपील को अमल में लिया। उनकी इस पहल की सभी प्रशंसा कर रहे है, सभी का मानना है कि अगर किसी ग्रामवासी की तबियत ख़राब होती है तो 108 एम्बुलेंस के आने में समय लगता है। इस ग्राम एम्बुलेंस से मरीज को तुरंत अस्पताल पहुँचाया जा सके। ये सेवा ग्राम प्रधान की तरफ़ से निःशुल्क है।