×

यूपी के पूर्व मंत्री पर लटकी ईडी की तलवार, जब्त की 5 करोड़ की संपत्ति

बासपा सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे रंगनाथ मिश्र की 5 करोड़ की संपत्ति को  ईडी ने जब्त कर लिया है। ईडी ने भ्रष्टाचार के मामले में बड़ी कार्रवाई की आय से अधिक संपत्ति के मामले में विजिलेंस की कार्रवाई के बाद अब ईडी ने पूर्व मंत्री रंगनाथ मिश्रा के 5 करोड़ रुपये कीमत के दो भूखंड अटैच किया हैं।

suman

sumanBy suman

Published on 18 Jan 2020 4:39 AM GMT

यूपी के पूर्व मंत्री पर लटकी ईडी की तलवार, जब्त की 5 करोड़ की संपत्ति
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ बासपा सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे रंगनाथ मिश्र की 5 करोड़ की संपत्ति को ईडी ने जब्त कर लिया है। ईडी ने भ्रष्टाचार के मामले में बड़ी कार्रवाई की आय से अधिक संपत्ति के मामले में विजिलेंस की कार्रवाई के बाद अब ईडी ने पूर्व मंत्री रंगनाथ मिश्रा के 5 करोड़ रुपये कीमत के दो भूखंड अटैच किया हैं। पूर्व में विजिलेंस ने आय से अधिक संपत्ति के मामले में दोषी पाए गए पूर्व मंत्री के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया था, जिसके बाद ईडी ने मनीलांड्रिंग का केस दर्ज किया था।

यह पढ़ें....उत्तर प्रदेश: ‘नया भारतीय संविधान’ मामले में बुलंदशहर में हुआ केस दर्ज

बसपा सरकार में माध्यमिक शिक्षा मंत्री रहे रंगनाथ मिश्रा पर आय से अधिक संपत्ति का गंभीर आरोप लगा था। साल 2013 में विजिलेंस ने पूर्व मंत्री के खिलाफ भदोही के औराई थाने में आय से अधिक संपत्ति की एफआईआर दर्ज कराकर जांच की थी। बाद में रंगनाथ मिश्रा के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया था। 2014 में ईडी ने विजिलेंस की ओर से कराई गई एफआइआर को आधार बनाकर मनीलांड्रिंग का केस दर्ज कर पड़ताल शुरू की थी। ईडी ने रंगनाथ मिश्रा के प्रयागराज के जार्ज टाउन क्षेत्र स्थित दो भूखंड अटैच किए हैं। यह संपत्तियां रंगनाथ मिश्रा ने अपने व परिवारीजन के नाम पर साल 2010 में ली थीं।

ईडी के मुताबिक, रंगनाथ मिश्र और उनके परिजन के प्रयागराज के टैगोर टाउन के जॉर्ज टाउन विस्तार स्थित 250.83 वर्ग मीटर और 899.25 वर्ग मीटर के दो प्लॉट अटैच किए हैं। इन दोनों की बाजार कीमत करीब पांच करोड़ रुपये है। रंगनाथ मिश्र ने साल 2010 में सरकार में मंत्री रहते हुए अपने और परिजन के नाम पर ये संपत्तियां बनाई थीं।

यह पढ़ें.... जानिए भारत को मिलने वाली S-400 के बारे में, रूस के बयान के बाद कांपा पाकिस्तान

लोक सेवक के पद पर रहने के दौरान इनके आय और खर्च की जांच की गई तो कुल आय 1 करोड़ 57 लाख 4 हजार 231 रुपये और खर्च 7 करोड़ 61 लाख 16 बजार 480 रुपये सामने आया। आरोप है कि आय के सापेक्ष खर्च 6 करोड़ 04 लाख 10 हजार 249 रुपये अधिक है।

लोकायुक्त के पास शिकायत के बाद विजिलेंस ने रंगनाथ के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति के मामले में जांच की थी। जांच के बाद विजिलेंस ने औराई थाने में एफआईआर दर्ज कराई थी। रिपोर्ट में पूर्व मंत्री पर आरोप लगा था कि उन्होंने अपनी आय एक करोड़ 50 लाख 90 हजार 964 रुपये बताई वहीं, खर्च 6 करोड़ 25 लाख 73 हजार 925 रुपये किये। रंगनाथ मिश्रा ने तकरीबन चार करोड़, 75 लाख रुपये अधिक खर्च किए थे। इसके बाद राज्य सरकार ने 26 अक्टूबर 2012 को पूर्व मंत्री रंगनाथ मिश्रा के खिलाफ विजिलेंस को मुकदमा दर्ज कर जांच करने की अनुमति दे दी थी।

suman

suman

Next Story