Top

बस्ती में 200 ट्रैक्टरों का निकला हुजूम, देख कर मनाने पहुंचे DM

लगभग 200 ट्रैक्टरों के हुजूम के साथ जब किसानों का जत्था पुराने अमहट पुल के पास पहुंचा तो वहां पहले से ही तैनात पुलिसकर्मियों ने किसानों के ट्रैक्टरों को शहर के अंदर प्रवेश करने से रोक दिया।

Ashiki Patel

Ashiki PatelBy Ashiki Patel

Published on 26 Jan 2021 1:01 PM GMT

बस्ती में 200 ट्रैक्टरों का निकला हुजूम, देख कर मनाने पहुंचे DM
X
बस्ती में 200 ट्रैक्टरों का निकला हुजूम, देख कर मानाने पहुंचे DM
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बस्ती: 72वें गणतंत्र दिवस पर किसान संगठनों के आवाहन पर जनपद के कई किसान संगठन किसान नेताओं के नेतृत्व में ट्रैक्टर लेकर तिरंगा यात्रा निकाली। जो बस्ती जिले के अलग-अलग क्षेत्रों से होकर जिलाधिकारी कार्यालय तक जानी थी। लगभग 200 ट्रैक्टरों के हुजूम के साथ जब किसानों का जत्था पुराने अमहट पुल के पास पहुंचा तो वहां पहले से ही तैनात पुलिसकर्मियों ने किसानों के ट्रैक्टरों को शहर के अंदर प्रवेश करने से रोक दिया।

ये भी पढ़ें: बलिया में मंत्रीजी की फिसली जुबान, मुंह से निकली स्वतंत्रता दिवस की बधाई

उप जिलाधिकारी के समझाने पर भी अड़े रहे किसान

मौके पर पहुंचे उप जिलाधिकारी बस्ती सदर आशाराम वर्मा, नायब तहसीलदार बस्ती सदर प्रियंका त्रिपाठी ने किसान नेताओं को शहर के अंदर गणतंत्र दिवस पर आयोजित कई कार्यक्रमों का हवाला देते हुए उन्हें समझा-बुझाकर वापस करने का प्रयास किया, लेकिन किसान नेता ट्रैक्टर के साथ शहर के अंदर घुसने की अपनी जिद पर अड़े रहे।



ये भी पढ़ें: सिद्धार्थनगर: मदरसा में हुआ झंडा रोहण, वेलफेयर सोसाइटी ने मनाया गणतंत्र दिवस

काफी मान मनौवल के बाद जब बात नहीं बनी गतिरोध बढ़ता देख जिलाधिकारी बस्ती आशुतोष निरंजन तथा पुलिस कप्तान हेमराज मीणा मौके पर पहुंचे तथा किसान नेताओं को समझाने का प्रयास किया लगभग 2 घंटे की लंबी वार्ता तथा काफी मशक्कत के बाद किसान नेता अपने पदाधिकारियों के साथ पैदल ही जाकर लाल बहादुर शास्त्री की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर वापस लौट आने की बात पर माने। किसान नेता अपने पदाधिकारियों के साथ जब तक माल्यार्पण कर वापस नहीं लौटे तब तक पुलिस कप्तान व जिलाधिकारी बस्ती अमहट पुल पर खड़े रहे किसान नेताओं के माल्यार्पण के बाद वापस लौट कर आने पर किसानों ने अपने अपने ट्रैक्टरों का रुख अपने अपने गांव की ओर मोड़ा तब जाकर प्रशासन ने चैन की सांस ली।

रिपोर्ट: अमृतलाल

Ashiki Patel

Ashiki Patel

Next Story