×

अंधविश्वास के चक्कर में घरवालों ने किया बहु पर जानलेवा हमला

Deepak Raj

Deepak RajBy Deepak Raj

Published on 8 Jan 2020 4:49 PM GMT

अंधविश्वास के चक्कर में घरवालों ने किया बहु पर जानलेवा हमला
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ। यूपी के बरेली में अंधविश्वास का बड़ा मामला सामने आया है। जहां महीनों से बीमार ससुर को सही करने के लिए तांत्रिक ननद, ननदोई ने बहू की बलि लेने की कोशिश की और उस पर चाकुओं से कई वार करके उसे लहूलुहान कर दिया। महिला के शरीर में 450 टांके आए। पुलिस ने उसे हॉस्प‍िटल में भर्ती कराया है।

ननद, ननदोई ने बहू की बलि लेने की कोशिश की

यूपी के बरेली में अंधविश्वास का बड़ा मामला सामने आया है। जहां महीनों से बीमार ससुर को सही करने के लिए तांत्रिक ननद, ननदोई ने बहू की बलि लेने की कोशिश की और उस पर चाकुओं से कई वार करके उसे लहूलुहान कर दिया। महिला के शरीर में 450 टांके आए। पुलिस ने उसे हॉस्प‍िटल में भर्ती कराया है।

ये भी पढ़े-ईरान-अमेरिका के बीच बढ़ा तनाव, समंदर में दोनों के बीच झड़प

चाकुओं से कई वार करके बहु को लहूलुहान कर दिया

यूपी के बरेली में अंधविश्वास का बड़ा मामला सामने आया है। जहां महीनों से बीमार ससुर को सही करने के लिए तांत्रिक ननद, ननदोई ने बहू की बलि लेने की कोशिश की और उस पर चाकुओं से कई वार करके उसे लहूलुहान कर दिया। महिला के शरीर में 450 टांके आए। पुलिस ने उसे हॉस्प‍िटल में भर्ती कराया है।

भोजीपुरा के मार्डन विलेज बंघोरा निवासी राजू ने बताया कि उन्होंने बहन रेनू का विवाह आठ साल पहले सिकलापुर धर्मशाला वाली गली निवासी संजीव से किया था। कुछ महीने से संजीव के पिता जगदीश बीमार चल हे थे जिनका इलाज संजीव के बड़े भाई व तांत्रिक मूली व राजू कर रहे थे।

भोजीपुरा के मार्डन विलेज बंघोरा निवासी राजू ने बताया कि उन्होंने बहन रेनू का विवाह आठ साल पहले सिकलापुर धर्मशाला वाली गली निवासी संजीव से किया था। कुछ महीने से संजीव के पिता जगदीश बीमार चल हे थे जिनका इलाज संजीव के बड़े भाई व तांत्रिक मूली व राजू कर रहे थे।

ये भी पढ़े-इराक के राष्ट्रपति ने ईरान के मिसाइल हमले की निंदा की

जान बचा कर वहां से भाग निकली महिला

रविवार को जेठ मूली व राजू ने रेनू की बलि देने की योजना बनाई। रविवार देर रात जेठ मूली, राजू, ननद मोनी और मोनी के पति ने मिलकर रेनू को दबोच लिया। इसके बाद चाकू से करीब 12 से 14 बार ताबड़तोड़ वार किए. इससे रेनू लहूलुहान हो गई और जान बचा कर वहां से भाग निकली और बरेली कालेज के पास जाकर छिप गई। वहीं पर मौजूद डायल 112 पुलिस ने उसे हॉस्प‍िटल में भर्ती कराया था।

पुलिस ने उसे हॉस्प‍िटल में भर्ती कराया था

ये भी पढ़े-ईरान का जनरल: जिसके नाम से कांपते थे दुश्मन देश, अमेरिका ने ऐसे दी दर्दनाक मौत

रविवार को जेठ मूली व राजू ने रेनू की बलि देने की योजना बनाई। रविवार देर रात जेठ मूली, राजू, ननद मोनी और मोनी के पति ने मिलकर रेनू को दबोच लिया। इसके बाद चाकू से करीब 12 से 14 बार ताबड़तोड़ वार किए। इससे रेनू लहूलुहान हो गई और जान बचा कर वहां से भाग निकली और बरेली का़लेज के पास जाकर छिप गई। वहीं पर मौजूद डायल 112 पुलिस ने उसे हॉस्प‍िटल में भर्ती कराया था।

रविवार को जेठ मूली व राजू ने रेनू की बलि देने की योजना बनाई। रविवार देर रात जेठ मूली, राजू, ननद मोनी और मोनी के पति ने मिलकर रेनू को दबोच लिया। इसके बाद चाकू से करीब 12 से 14 बार ताबड़तोड़ वार किए। इससे रेनू लहूलुहान हो गई और जान बचा कर वहां से भाग निकली और बरेली कालेज के पास जाकर छिप गई। वहीं पर मौजूद डायल 112 पुलिस ने उसे हॉस्प‍िटल में भर्ती कराया था।

Deepak Raj

Deepak Raj

Next Story