विदेशी मेहमानों के स्वागत के लिए सज धज तैयार जोगीया गांव

कुशीनगर का जोगीया गांव 12वें ‘लोकरंग’ में शिरकत करने आ रहे 40 विदेशी लोक कलाकारों के स्वागत के लिए सज-धज कर तैयार हो गया है। गुरुवार रात को लोकरंग का आगाज होगा। इसमें पहली बार मॉरीशस, गुयाना और सूरीनाम के लोक कलाकार अपने देश की संस्कृति लोक कला परम्परा में रचे बसे कार्यक्रम प्रस्तुत करेंगे।

लखनऊ: कुशीनगर का जोगीया गांव 12वें ‘लोकरंग’ में शिरकत करने आ रहे 40 विदेशी लोक कलाकारों के स्वागत के लिए सज-धज कर तैयार हो गया है। गुरुवार रात को लोकरंग का आगाज होगा। इसमें पहली बार मॉरीशस, गुयाना और सूरीनाम के लोक कलाकार अपने देश की संस्कृति लोक कला परम्परा में रचे बसे कार्यक्रम प्रस्तुत करेंगे।

विदेशी लोक कलाकारों को लेकर जिले भर में खास उत्सुकता है। दरअसल ये लोक कलाकार विदेश से जरूर आ रहे हैं लेकिन ये मूल रूप से विदेशी नहीं हैं बल्कि सैकड़ों वर्ष पहले भारत से गए गिरमिटिया गरीब-मजदूरों के वंशज है जो अपने पुरखों की जमीन पर सात समुन्दर पार संजोयी गई लोक गीत- संगीत-कला से परिचित कराने आ रहे हैं।

यह भी देखें:-नक्सली हमले में शहीद जवान को अंतिम विदाई देने उमड़ा जनसैलाब

सम्भावना कला मंच के कलाकार बीते तीन दिनों से अपनी कलाकृतियों से गांव को सजा रहे हैं। आठ सालों से यह टीम ‘लोकरंग’ में शामिल हो रही है। मंच के कलाकार लोक-कला की बनावट की समझ रखते हैं। साथ ही साथ उसकी शब्दावलियों को भी जानते हैं जिसे वे अपने भिन्न-भिन्न कला-रूपों में उकेरते हैं। आयोजक मण्डल के सचिव मनोज कुमार सिंह ने बताया कि 12वां लोकरंग कई मायनों में ऐतिहासिक होगा। खासकर अपने अंतरर्राष्ट्रीय स्वरूप के लिये लम्बे समय तक याद किया जायेगा।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App