Top

उधारी के 50 हजार रुपए मांगने पर हुई थी पूर्व फौजी की हत्या

बिधूना कोतवाली क्षेत्र के थाना बेला के अंतर्गत गत दिवस एक सेवानिवृत्त सैनिक की कुल्हाड़ी से हत्या कर दी गई थी।

Former army murderer
X

फोटो— (साभार— सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

औरैया। बिधूना कोतवाली क्षेत्र के थाना बेला के अंतर्गत गत दिवस एक सेवानिवृत्त सैनिक की कुल्हाड़ी से हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए दो लोगों को गिरफ्तार किया है। पूछताछ के दौरान गिरफ्तार किए गए युवकों द्वारा बताया गया कि 50 हजार रुपए उधारी के वापस मांगने के दौरान उनके द्वारा हत्या की गई है। बुधवार को पुलिस ने घटना का खुलासा किया है।

चुनावी रंजिश के चलते पूर्व सेवानिवृत सैनिक की निर्मम हत्या मामले में पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। पुलिस अधीक्षक अर्पणा गौतम, अपर पुलिस अधीक्षक शिष्यपाल के पर्यवेक्षण में सीओ बिधूना मुकेश प्रताप सिंह के नेतृत्व में गठित बेला थाना टीम एवं स्वाट टीम ने 24 घण्टे में रक्त रंजित कुल्हाड़ी, मोबाइल, सोने की चैन, चप्पल बरामद कर पांच नामजद में दो हत्यारोपियों को गिरफ्तार कर घटना का खुलासा किया है।

मंगलवार को थाना बेला क्षेत्र के महू गांव में धारदार हथियार से सेवानिवृत पूर्व सैनिक मनोज कुमार सिंह पुत्र अतिबल सिंह की निर्मम हत्या कर दी गयी जिससे क्षेत्र में सनसनी फैल गयी थी। घटना को लेकर पुलिस अधीक्षक अपर पुलिस अधीक्षक के अलावा सीओ बिधूना मौके पर पहुंचे थे। थानाध्यक्ष बेला पप्पू सिंह के अलावा कई थानों की पुलिस महू गांव पहुंची। गांव छाबनी में तब्दील हो गया। घटना के बाद शव पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिये भेजा। पुलिस अधीक्षक ने घटना का शीघ्र खुलासा किये जाने का पीड़ित परिजनों को भरोसा दिया था। जब कि मृतक सैनिक के भाई आमोद सिंह पुत्र अतबल सिंह निवासी महू ने थाना बेला में दी तहरीर में आरोप लगाते हुए चुनावी रंजिश चल के चलते सुमित सिंह उर्फ पिन्टू पुत्र इन्द्रभान सिंह, अम्बरीश सिंह उर्फ राजू पुत्र इन्द्रभान सिंह, गुरुदयाल उर्फ छुन्नू पुत्र ओमप्रकाश, राजेश सिंह उर्फ रामजी पुत्र सोवरन सिंह, अंजू तिवारी पुत्र सुभाष तिवारी निवासी ग्राम महू के खिलाफ हत्या का अभियोग पंजिकृत कराया था।

Also Read:सब्जी लेने निकले युवक की धारदार हथियार से हत्या, खेत में मिला शव

पुलिस अधीक्षक द्वारा घटना का निरीक्षण कर शीघ्र खुलासा के लिये स्वाट टीम व थाना बेला पुलिस टीम गठित कर आवश्यक दिशा निर्देश दिये। जिसके चलते दो स्वाट टीम/थाना बेला पुलिस टीम को गठित किया गया जिसमें उपनिरिक्षक सत्येन्द्र सिंह यादव (प्रभारी स्वाट टीम), प्रभारी निरीक्षक बेला पप्पू सिंह के अलावा उपनिरीक्षक जितेन्द्र सिह, अमित कुमार, संजय, सुखवीर सिंह, राहुल द्विवेदी, राम शरण, धर्मेन्द्र शर्मा, प्रकाश सिंह, प्रकाश सिंह, ललित कुमार, अजय गुप्ता, आकाश, विवेक, प्रभात मणि त्रिपाठी, धर्मेन्द्र कुमार (सर्विलांस), मनीष कुमार आदि पुलिस टीम को बड़ी सफलता हाथ लगी। पुलिस ने आरोपी मोहन सिंह पुत्र स्व.राजबहादुर सिंह सेंगर उम्र 30 वर्ष निवासी महू एवं नौसाद खां पुत्र धुन्नू खां उम्र 26 वर्ष निवासी दुवहा थाना बेला को जितेन्द्र सिंह के मुर्गी फार्म के पास से घेराबंदी कर गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस के मुताबिक जब पूछताछ की गई तो मोहन द्वारा अपना अपराध स्वीकार करते हुए बताया गया कि उसने मृतक सेवानिवृत्त सैनिक मनोज सिंह से 50,000 रुपये उधार लिये थे। जिनकी वापसी के लिए मनोज सिंह द्वारा लगातार दबाव बनाया जा रहा था। घटना की रात्रि मेरे द्वारा मनोज सिंह को फोन कर पैसे देने के बहाने बुलाया गया था। जहां पर पैसों को लेकर नोक झोंक हुई जिस पर मेरे और नौसाद खां द्वारा कुल्हाड़ी मारकर मनोज सिंह की हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने अभियुक्तों की निशा देही पर रक्त रंजित कुल्हाडी, टूटा हुआ मोवाईल, सोने की चैन, चप्पल बरामद कर घटना का खुलासा किया है।

Also Read:मैनपुरी: दो महीने से फरार था हमलावर, अब जाकर चढ़ा पुलिस के हत्थे


Raghvendra Prasad Mishra

Raghvendra Prasad Mishra

Next Story