×

लॉकडाउन में बड़ा फैसला: साढ़े चार लाख बच्चों को मिलेगा लाभ, सरकार ने किया ऐलान

लॉकडाउन के दौरान स्कूल बंद रहे है लेकिन मिड डे मील का खाद्यान्न आता रहा और कन्वर्जन कास्ट भी आ रही थी।

Rahul Joy
Published on: 9 Jun 2020 10:21 AM GMT
लॉकडाउन में बड़ा फैसला: साढ़े चार लाख बच्चों को मिलेगा लाभ, सरकार ने किया ऐलान
X
government school
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

हरदोई। लॉकडाउन के दौरान सरकार ने सभी तबकों को लाभान्वित किया है। ऐसे में बन्द स्कूलों में बच्चों को मिलने वाले खाद्यान्न को लेकर यूपी सरकार के मुखिया सीएम योगी आदित्यनाथ ने बच्चों के घर तक भेजने का आदेश जारी कर दिया है।इतना ही नहीं खाद्यान्न के साथ भोजन पकाने में जो खर्च आता था उस कन्वर्जन कास्ट को भी बच्चों अथवा उनके अभिभावकों के खातों में भेजा जाएगा।इसको लेकर शिक्षा विभाग ने ख़ाका तैयार करना शुरू कर दिया है।इसी के साथ अभिभावकों बच्चों के आधार कार्ड बैंक डिटेल एकत्र की जा रही है।

बच्चों को मिड-डे मील पहुंचाया जाएगा घर

बता दें की हरदोई में कोरोना महामारी को लेकर चल रहे लॉकडाउन के कारण 24 मार्च से 30 जून तक बंद रहने वाले परिषदीय स्कूलों के बच्चों को मिड-डे मील (एमडीएम) का राशन उनके घर पहुंचाया जाएगा। लगातार 76 दिन तक बंदी के दौरान का यह राशन प्राथमिक व उच्च प्राथमिक के बच्चों को उनकी प्रतिदिन की एमडीएम के मात्रा के हिसाब से दिया जाएगा।प्रत्येक विद्यालय के प्रधान और इंचार्ज शिक्षक कोटेदार के साथ इन बच्चों के घर जाकर लॉकडाउन की अवधि का राशन उनके अभिभावकों को देंगे।

ट्रंप की बढ़ीं मुश्किलें: खुद की पार्टी से टूटा नाता, चुनावी रेस में भी पीछे

ऐसे में सरकार की तरफ से आये इस आदेश के बाद हरदोई में भी 24 मार्च से 30 जून तक कुल 76 दिनों की मदद दी जा रही है।सरकारी फरमान आने के बाद इस दिशा में जिले में तैयारियां शुरू कर दी गई हैं और बच्चों से जरूरी अभिलेख जमा कराए जाने लगे है।

अपर मुख्य सचिव ने ज़ारी किया पत्र

बता दें की परिषदीय विद्यालयों को विद्यालयों को पौष्टिक आहार के रूप में मध्याह्न भोजन खिलाया जाता है। ऐसे में लॉकडाउन के दौरान स्कूल बंद रहे है लेकिन मिड डे मील का खाद्यान्न आता रहा और कन्वर्जन कास्ट भी आ रही थी। लॉकडाउन के दौरान सरकार ने सभी तबकों को जरूरी सुविधाओं को मुहैया कराया ऐसे में अब परिषदीय विद्यालयों के बच्चों को भी इसका लाभ दिलाया जा रहा है।

अपर मुख्य सचिव की तरफ से जारी पत्र के अनुसार 24 मार्च से 30 जून तक अवकाश छोड़कर विद्यालय संचालन के कुल 76 दिन होते हैं। 31 मार्च तक परिवर्तन लागत प्राथमिक में 4.48 और उच्च प्राथमिक में 6.71 रुपये प्रतिदिन थी। जोकि एक अप्रैल से प्राथमिक में 4.97 और उच्च प्राथमिक में 7.45 हो गई है। जबकि खाद्यान 100 और 150 ग्राम ही है। इस हिसाब से 76 दिन के प्राथमिक के बच्चे पर 374.29 रुपये और 7.60 किलोग्राम राशन तथा उच्च प्राथमिक के बच्चे पर 561.02 रुपये और 11.40 किलो राशन आता है।

शासन के आदेशों का होगा पालन

धनराशि तो अभिभावकों के खातों में जाएगी, लेकिन राशन कोटेदार से मिलेगा। जिले में देखा जाए तो प्राथमिक में तीन लाख 49 हजार 91 और उच्च प्राथमिक में एक लाख 51 हजार 370 बच्चे हैं जो लाभान्वित होंगे।शिक्षा विभाग के एमडीएम सेल में भी इसकी पूरी तैयारी की जा रही है। बीएसए हेमन्त राव ने बताया जल्द ही शासन के आदेशों को धरातल पर उतार दिया जाएगा।

रिपोर्टर - मनोज तिवारी , हरदोई

यूपी वालों सावधान: अब होगी आप पर कार्यवाई, सीएम योगी ने दी चेतावनी

Rahul Joy

Rahul Joy

Next Story