पेट्रोल पंप मालिकों को नोटिस पर गाजीपुर पुलिस की सफाई, दिए जांच के आदेश

पुलिस का ये आदेश सोशल मीडिया पर भी खूब वायरल हुआ था जिससे गाजीपुर पुलिस की खुब किरकिरी हुई। अब जाकर गाजीपुर पुलिस ने सफाई देते हुए कहा की सुहवल व सैदपुर पुलिस से गलती से ये नोटिस जारी हो गया, तो वहीं इस मामले की जांच अब एसपी ग्रामीण करेंगे।

Published by Dharmendra kumar Published: January 25, 2021 | 12:19 am
Ghazipur Police

पेट्रोल पंप मालिकों को नोटिस पर गाजीपुर पुलिस की सफाई, दिए जांच के आदेश (फोटो: सोशल मीडिया)

रजनीश कुमार मिश्र: उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जनपद की पुलिस इस समय काफी चर्चा में है। इस चर्चा का कारण सुहवल पुलिस व सैदपुर पुलिस है, क्योंकि इन दो थानों की पुलिस ने ट्रेक्टर व किसानों को लेकर ऐसा फरमान जारी किया जिससे पुलिस की काफी किरकिरी हुई। तो वहीं गाजीपुर पुलिस इस फरमान पर सफाई देने में लगी है।

पेट्रोल पंप पर चस्पा सुहवल व सैदपुर पुलिस का नोटिस

बता दें कि दिल्ली बार्डर पर किसान 26 जनवरी को ट्रेक्टर रैली करने वाले हैं जिसे लेकर उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जनपद के दो थानो सुहवल व सैदपुर पुलिस ने लिखीत पेट्रोलपंप के लिए एक आदेश पारित किया था। उस आदेश में लिखा था की ट्रैक्टर व बोतल में तेल नहीं दिया जायेगा।

पुलिस का ये आदेश सोशल मीडिया पर भी खूब वायरल हुआ था जिससे गाजीपुर पुलिस की खुब किरकिरी हुई। अब जाकर गाजीपुर पुलिस ने सफाई देते हुए कहा की सुहवल व सैदपुर पुलिस से गलती से ये नोटिस जारी हो गया, तो वहीं इस मामले की जांच अब एसपी ग्रामीण करेंगे।

Ghazipur

ये भी पढ़ें…बाराबंकी: पुलिस बनकर लोगों को ठगने वाले दो जालसाज गिरफ्तार

26 जनवरी को ट्रेक्टर रैली निकालेंगे किसान

दरअसल ये सारा मामला दिल्ली बार्डर पर धरना दे रहे किसानों के आवाह्न का है। किसान नेताओं ने 26 जनवरी ट्रेक्टर रैली निकालने का ऐलान किया है। इसी को लेकर गाजीपुर जनपद की सुहवल व सैदपुर पुलिस द्वारा ये नोटिस जारी किया गया था ।इस नोटिस में लिखा था की ट्रैक्टर व बोतल मे पेट्रोल पंप से तेल नहीं दिया जायेगा।

ये भी पढ़ें…बालिका दिवस पर बोलीं बेटियां, भैया-बहनों भूल न जाना गणतंत्र दिवस पर उत्सव मनाना

अगर पेट्रोल कर्मी ट्रैक्टर मे डीजल भरेंगे तो अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहें। अब गाजीपुर पुलिस गलती मानते हुए इसकी जांच एसपी ग्रामीण को सौंपी है। वहीं पेट्रोलियम डिलर एसोसिएशन अध्यक्ष मारकंडेय सिंह ने कहा की पुलिस का ये आदेश कही से भी व्यवहारिक नहीं है। उन्होंने बताया कि अगर ऐसा कोई आदेश था तो डीजल ही रुकवा देते। वहीं इस मामले ने जैसे ही तुल पकड़ा वैसे ही गाजीपुर पुलिस ने आफिसियल ट्विटर हैंडल से बयान जारी कर सफाई दी है।

रिपोर्ट: रजनीश मिश्र

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App